अगर रात के सफर को सुरक्षित बनाना चाहते हैं तो ये एक्सपर्ट टिप्स करेंगे आपकी मदद

रात में ड्राइव करने का अपना ही लगा मज़ा है। अक्सर लोग वीकेंड पर एक शहर से दूरे शहर घूमने के लिए निकल जाते हैं। लेकिन रात में कार से घूमने जाते समय कई बार दिक्कतों का सामना करना पड़ जाता है जिसकी वजह से सफ़र खराब हो जाता है। इसलिए इस रिपोर्ट में हम आपको कुछ ऐसी जरूरी बातें बता रहे हैं जो आपके रात के सफ़र को बेहतर बनाने में मदद करेंगे।    

कार को ठीक से चेक करें

रात में सफर पर निकलने से पहले अपनी कार को ठीक से चैक कर लें। कार की हेडलाइट्स और फोग लाइट्स को भी चेक करें। इसके अलावा कार में कूलेंट की मात्रा भी ठीक से देख लें। जहां तक हो सके कार में एक्स्ट्रा कूलेंट भी रख लें। अगर इंजन ऑयल की मात्रा कम है तो टॉप-अप करा लें। इतना ही नहीं कार में इंजन ऑयल की भी जांच कर ले। इसके अलावा कार में अपने साथ एक पावर बैंक जरूर लेकर जायें, अक्सर यह मुसीबत में बहुत काम आता है।

रिफ्लेक्टिव टेप्स लगाएं

सेफ्टी के लिए कार में रिफ्लेक्टिव टेप जरूर लगवा लें। आजकल रिफ्लेक्टिव टेप का चलन काफी जोरो पर है, रात के समय जब सामने या पीछे से आती हुई गाड़ी की हेडलाइट की रोशिनी रिफ्लेक्टिव टेप पर पड़ेगी तो यह चमकने लगेगी जिससे दूसरे वाहन को आपकी गाड़ी का अंदाजा लग जाएगा और सेफ्टी ज्यादा बढ़ जाएगी। ध्यान रहे हाई क्वालिटी की ही टेप का इस्तेमाल करें लोकल टेप का इस्तेमाल न करें। इसलिए रात में ड्राइव करने से पहले कार में रिफ्लेक्टिव टेप लगवा लें।

विंडस्क्रीन को साफ करें

कार की विंडस्क्रीन को ठीक से साफ करें इससे आपको रात में बेहतर दिखाई देगा। याद रहे विंडस्क्रीन को अन्दर और बाहर दोनों तरफ से साफ़ करें क्योकिं आमतौर पर लोग ग्लास को केवल बाहर से ही साफ़ करते चलते बनते हैं।

टायर्स में हवा सही रखें

टायर्स में हवा जरूर चेक कर लें अगर हवा कम हो तो डलवा लें, टायर्स में हवा का प्रेशर सही होने से गाड़ी अच्छी चलती है साथ ही माइलेज बेहतर मिलती है। इतना ही सही हवा होने की वजह से पंचर होने के चांस कम रहते हैं।

कैबिन की लाइट रात में बंद रखें

रात में कार चलाते समय कैबिन लाइट ऑन न करें, इससे बाहर की लाइट समझने में दिक्कत होगी, साथ ही बाहर चलते किसी को भी कार के अंदर बैठे लोगों को अंदर की स्थिति का पता न लग सके। यह सुरक्षा के लिहाज से भी बेहतर होता है।

ओवरटेक ध्यान से, रफ़्तार पर कंट्रोल

रात में गाड़ी चलाते समय स्पीड लिमिट में रखें, साथ ओवरटेक करते समय बहुत सावधानी बरतें। कई बार देखने में आता है कि रात में कुछ जगह ऐसी होती हैं  जहां काफी अंधेरा होता है और साथ में रास्तें भी खराब होते हैं जिसकी वजह से एक्सीडेंट हो जाते हैं। अगर ओवरटेक करना जरूरी हो (रात में) सेफ्टी के लिए हॉर्न की जगह ट्रिप लाइट का प्रयोग करें। इससे ओवरटेक आसानी से हो जायेगा। रात में हाईवे पर पर गाड़ी चलाते समय किसी सुनसान जगह पर गाड़ी न रोकें अगर बहुत जरूरी हो गाड़ी रोकना तो किसी पेट्रोल पम्प या ढ़ाबे/रेस्टोरेन्ट पर रोकें।