कार में आग लगने के ये हैं असली कारण, बचाव के ये हैं उपाय

गर्मी आ गई है, और ऐसे में कार में सफ़र करने का अलग ही मज़ा है क्योंकि धूप से बचा जा सकता है। अब चूंकि गर्मी का मौसम है तो ऐसे में गाड़ी की देखभाल भी करना बेहद जरूरी है, फिर चाहे आप गाड़ी का इस्तेमाल कम करें या फिर ज्यादा। लेकिन अक्सर देखने में आता है कि गर्मी में गाड़ी जल्दी ब्रेक डाउन का शिकार हो जाती है और कई बार तो आग लगने जैसी घटनाएं भी देखने को मिलती हैं। दरअसल लोग कार में सफ़र तो करना तो पसंद करते हैं लेकिन जब बात सर्विस की आती है तो इसे अनदेखा कर जाते हैं। कार में आग लग जाने से लोग अपनी जान गंवा देते हैं। कार में आग लगने के कई कारण हो सकते हैं यदि कुछ जरूरी बातों पर ध्यान दिया जाए तो कार में आग लगने जैसी घटनाओं से बचा जा सकता है।

कार में आग लगने के कारण

आजकल नई-नई कारें भारत में लॉन्च हो रही हैं।  और उसी के साथ कारों के लिए कई तरह की  एक्सेसरीज़ भी खूब देखने को मिल रही हैं। ओरिजिनल के साथ सस्ती और नकली कार एक्सेसरीज़ खूब बिक रही हैं, लोग पैसा बचाने चक्कर में नकली  सस्ती एक्सेसरीज़ को अपनी कार में अप्रशिक्षित मेकैनिक से फिट करवा लेते हैं। कई बार गलत वायरिंग से कार में शॉर्ट सर्किट की वजह से आग लग जाती है।

जानलेवा हैं नकली CNG किट

अक्सर देखने में आता है कि लोग थोड़ा पैसा बचाने के चक्कर में नकली और सस्ती CNG किट अपनी कार में लगवा लेते हैं, और यह बेहद खतरनाक साबित होता है। जोकि  कार में आग लगने का बड़ा कारण बनती है। जब कार में लग जाती है आग तब क्या होता है ? यदि किसी कार में आग लग जाती है तब कार में लगे इलेक्ट्रिकल यूनिट जाम हो जाते हैं। पावर विंडो, सीट बेल्ट और सेंट्रल लॉकिंग सिस्टम भी फेल हो जाते हैं, जिसकी वजह से  कार में बैठे लोगों को बाहर निकलना काफी मुश्किल हो जाता है।

जब लग जाए कार में आग

अगर आपको इस बात का अंदाजा लग जाए कि आपकी कार आग की चपेट में आ रही है तो तुरंत कार को साइड में लगा कर बाहर निकल जायें, क्योंकि जैसे-जैसे कार आग की चपेट में आती जाएगी उसके भीतर कार्बन मोनोऑक्साइड गैस फैलने लग जायेगी जोकि बेहद खतरनाक साबित हो सकती है। कार के बोनट को बिलकुल न खोलें यदि आपने ऐसा किया तो आग को ऑक्सिजन मिल जाएगी और आग ज्यादा फ़ैल जायेगी। यदि आपकी कार में अग्निशमन यंत्र है तो उससे आप कार की आग पर कण्ट्रोल कर सकते हैं।

कार में अगर आग लगी है तो इससे कम से कम 100 फीट की दूरी होनी बनाए रखें. कार में आग लगने पर इससे कई तरह की गैसें निकलती हैं। यही नहीं आग लगने पर कार में ब्लास्ट भी हो सकता है जो कि जानलेवा हो सकता है।

ऐसे में क्या करें

दोस्तों हमेशा अपनी कार की सर्विस ऑथोराइज्ड सर्विस सेंटर से ही कराएं, क्योंकि अक्सर देखने में आता है की लोग फ्री सर्विस के बाद लोकल जगह से कार की सर्विस कराते हैं ऐसे में कई बार अप्रशिक्षित मैकेनिक के हाथों से कार में गड़बड़ी हो जाती है जोकि खतरनाक साबित होती है।

अपनी कार में फायर एक्सटिंग्विशर जरूर रखें, ताकि जरूरत पड़ने आग बुझाने में आप इसकी मदद ले सकें। इसके अलावा अपनी कार में एक सीट बेल्ट क़टर साथ रखें ताकि जरूरत पड़ने पर एक्सीडेंट के दौरान फंसी हुई सीट बेल्ट को काटा जा सके। इतना ही नहीं कार में एक छोटा हथौड़ा भी रहें जि‍ससे कार का शीशा तोड़ने में मदद मिले। कार में कभी भी फालतू एक्सेसरीज़ न लगवाएं। ये आपकी कार की बैटरी पर ज्यादा लोड डालते हैं। जिसकी वजह से शार्ट-सर्किट के चांस ज्यादा रहते हैं।