अगर आपका स्कूटर भी दे रहा है कम माइलेज, तो तुरंत करें ये जरूरी काम

देश में स्कूटर का बाजार अब काफी बड़ा हो चुका है। हीरो मोटोकॉर्प, होंडा, यामाहा, TVS और सुजुकी जैसे ब्रांड्स इस समय मार्केट पर अपनी धाक जमाने में लगे हैं।  स्कूटर की बिक्री अब बाइक्स के बराबर आने लगी है। हर वर्ग के लोगों को स्कूटर आकर्षित कर करे हैं। स्कूटर चलाने में आसान होते हैं, सामान रखने की ज्यादा जगह होती है। लेकिन स्कूटर की माइलेज बाइक्स की तुलना में कम ही रहती है, लेकिन दिक्कत तब आती है जब यही माइलेज और भी कम होने लगती है और स्कूटर चलाने का जो मज़ा है वो किरकिरा होने लगता है। लेकिन कम माइलेज के पीछे कई कारण भी होते हैं जिनके बारे में जानना बेहद जरूरी होता है। अगर आपका स्कूटर भी कम माइलेज देने लगा है तो इस रिपोर्ट में हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बता रहे हैं जिनको जानने के बाद आपका स्कूटर बेहतर माइलेज तो देगा ही साथ ही परफॉरमेंस भी बेहतर मिलेगी।

जब सर्विस में होती है देरी

स्कूटर की राइड करना तो सबको पसंद है लेकिन जब बात सर्विस की होती है तो अक्सर लोग इस अनदेखा करने लगते हैं। लोग सोचते हैं बाद में करा लेंगे सर्विस, ऐसे करते करते सर्विस मिस होने लगती है जिसकी वजह से स्कूटर के पार्ट्स में खराबी आने लगती है, जिसकी वजह से परफॉरमेंस पर असर पड़ता है। साथ ही इंजन में फ्यूल की खपत बढ़ने से माइलेज कम मिलने लगती है। इसलिए एक भी सर्विस मिस न करें।

लोकल जगह से सर्विस कराने बचें

अक्सर लोग कुछ पैसे बचाने के चक्कर में लोकल जगह से स्कूटर की सर्विस करा लेते हैं जिसकी वजह से कई बार गाड़ी ठीक होने की जगह और खराब हो जाती है। क्योंकि कई बार लोकल मैकेनिक को सही जानकारी नहीं होती। कई बार सस्ते पार्ट्स और लुब्रिकेंट का इस्तेमाल गाड़ी में हो जाता है जिसकी वजह से वाहन को काफी नुकसान पहुंचता है। इसलिए हमेशा ऑथराइज्ड सर्विस सेंटर ही जाना चाहिए       

टायर्स में हवा का प्रेशर सही रखें

अपने स्कूटर के टायर्स में हवा का प्रेशर हमेशा सही रखें, क्योंकि स्कूटर का सारा वजन टायर्स पर ही टिका रहता है। लेकिन अक्सर लोग यहां भी लापरवाही करने नज़र आते हैं। लोग टायर्स में महीनों-महीनों हवा चेक नहीं करते और लगातार गाड़ी का इस्तेमाल करते रहते हैं, टायर्स में हवा कम होने की वजह से इंजन पर दबाव ज्यादा पड़ता है, जिसकी वजह से फ्यूल की खपत बढ़ने लगती है और माइलेज पर असर पड़ता है। इसलिए हफ्ते में दो बार टायर्स मेंहवा जरूर चेक करें।   

फालतू सामान रखने से बचें

अक्सर देखने में आता है कि लोग अपने स्कूटर में फालतू सामान रखते हैं, जिसकी वजह से स्कूटर का वजन बढ़ जाता है और ऐसे में इंजन को आगे बढ़ने में ज्यादा ताकत लगानी पड़ती है। इस वजह से फ्यूल की खपत भी बढ़ जाती है और माइलेज कम मिलती है। इसलिए स्कूटर में सिर्फ उतना ही सामान रखें जितनी जरूरत हो।

इंजन करें बंद

स्कूटर चलाते समय अगर रेड लाइट पर 30 सेकंड्स से ज्यादा रुकना पड़े तो इंजन को बंद कर दें, ऐसा करने से आप काफी फ्यूल की बचत कर सकते हैं। लेकीन काफी तादाद में ऐसे भी लोग है जोकि ऐसा काम नहीं करते और इंजन स्टार्ट ही रखते हैं जिसकी वजह से फ्यूल की खपत बढ़ जाती है।

स्कूटर को धूप में पार्क करें

अक्सर लोग अपने स्कूटर को धूप में पार्क कर देते हैं जिसकी वजह धूप सीधे फ्यूल टैंक पर पड़ती है और टैंक में मौजूदा पेट्रोल अपना रूप बदलकर गैस फॉर्म में तब्दील हो जाता है और हवा में उड़ जाता है। हांलाकि यह बहुत कम मात्रा में होता है। लेकिन बहुत ज्यादा देर धूप में बाइक पार्क करने फ्यूल कम हो जाता है। इसलिए हमेशा अपनी गाड़ी को किसी ठंडी जगह पर ही पार्क करें।