GST On Helmet: सड़क हादसों में टू-व्हीलर सवार की बचानी है जान तो हेलमेट पर GST हटाये सरकार: IRF

रिपोर्ट्स के मुताबिक साल 2019 में देश में करीब 480,652 सड़क दुर्घटनाओं में से 151,113 लोगों ने अपनी जान गंवा दी थी।

GST On Helmet: रिपोर्ट्स के मुताबिक साल 2019 में देश में करीब 480,652 सड़क दुर्घटनाओं में से 151,113 लोगों ने अपनी जान गंवा दी थी। इनमें हेलमेट न पहना भी एक कारण था, दरअसल Original helmets की कीमतें ज्यादा होती हैं और एक आम आदमी इसे खरीदने में संकोच करता है। हेलमेट पर GST लगने से इसकी कीमत बढ़ जाती है। अब चूंकि हेलमेट जीवन रक्षक के तौर पर काम करता है इसलिए इंटरनेशनल रोड फेडरेशन (IRF) ने केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से टू-व्हीलर राइडर्स के लिए हेलमेट पर GST को 18 प्रतिशत से कम कर शून्य (Zero) तक लाने की अपील की है।

IRF के अध्यक्ष एमेरिटस के. के. कपिला ने श्रीमती सीतारमण को लिखे पत्र में कहा कि सड़क यातायात दुर्घटनाएं एक बड़ा खतरा है और भारत इस रोके जा सकने वाले कारण के कारण होने वाली कुल मौतों में लगभग 11 प्रतिशत का योगदान देता है। के. के. कपिला ने यह भी कहा कि “सड़क सुरक्षा विशेषज्ञों के अनुसार, 2025 तक सड़क दुर्घटना में होने वाली मौतों को 50 प्रतिशत कम करने के लिए, 2030 के अंत से पहले, हेलमेट पर GST नहीं होना चाहिए। यह भी पढ़ें: क्या आप लेंगे धांसू OLA Electric Bike ? देखें किस दिन होगी लॉन्च

चौंकाने वाले हैं आंकड़े

अगर बात आंकड़ो की करें तो हर साल लगभग 500,000 सड़क दुर्घटनाएं होती हैं, जिसके कारण  150,000 से अधिक लोग मारे जाते हैं और 500,000 से अधिक घायल होते हैं। इसमें टू-व्हीलर सवार सबसे ज्यादा रहते हैं और एक्सीडेंट के दौरान उनके सिर पर गंभीर चोटें आती हैं। सिर की चोटों को रोकने के लिए हेलमेट ही सबसे सही उपाय है। इसलिए हेलमेट पर से GST को पूरी तरह हटाये जाने की अपील की गई है, ताकि इनकी कीमतों में कमी आये और लोग एक असली हेलमेट खरीदें।


ऑटोमोबाइल और टेक्नोलॉजी में लिखने से लेकर पढ़ने का शौक है। नई-नई गाड़ियों को टेस्ट करना और उनके बारे में लोगों तक सही जानकारी पहुंचाना पसंद है। P7 News समेत कई बड़े पब्लिकेशन के साथ काम कर चुके हैं। टोकोयो मोटर शो से लेकर कई ऑटो एक्सपो कवर कर चुके हैं। गाड़ियों की टेस्टिंग के लिए पूरा भारत घूम चुके हैं।