किसी भी पुरानी बाइक को खरीदते समय इन 5 बातों को नजरअंदाज न करें, वरना लग सकता है चूना

एक तरफ जहां नई-नई बाइक्स के आने से लोगों के पास कई ऑप्शन होने लगे हैं वहीं सेकंड हैंड यानी पुरानी बाइक्स का बाजार भी काफी ग्रोथ कर रहा है। आजकल नई बाइक खरीदना तो बेहद आसान है लेकिन जब हम एक पुरानी बाइक खरीदने की सोचते हैं तो मन में अक्सर कई सवाल घूमने लगते हैं। क्योंकि पुरानी बाइक खरीदने के बाद अक्सर लोग ठगी का शिकार हो जाते हैं और कई बार तो पुलिस से आमना-सामना भी होता है। इस रिपोर्ट में हम आपको 5 ऐसी बड़ी बातें बता रहे हैं जिनको जानने के बाद आप आसानी से और बिना किसी परेशानी के अपने बजट में अच्छी बाइक खरीद सकते हैं।

1. पेपर्स और सर्विस रिकॉर्ड चेक करें
आप जो भी सेकंड हैंड बाइक खरीदने जा रहे हैं, तो डील फाइनल करने से पहले बाइक का सर्विस रिकॉर्ड  जरूर देखें, इससे आपको इस बात का पता चल जाएगा कि बाइक की सर्विस कब और कितनी बार हुई है। सर्विस रिकॉर्ड  से यह भी पता चल जाएगा कि इंजन ऑयल सही समय पर बदलवाया है या नहीं। इसके अलावा बाइक की RC और अन्य पेपर्स को ठीक से चेक करें। याद  रहे सभी डाक्यूमेंट्स ओरिजल होने जरूरी हैं, फोटो स्टेट या कॉपी पर भरोसा न करें। इतना ही नहीं बाइक को ठीक से देख लें कहीं कोई डेंट तो नहीं, इतना ही नहीं बाइक का कभी कोई एक्सीडेंट हुआ है या नहीं यह भी जांचें।

2. टेस्ट राइड जरूर लें
बाइक को खरीदने से पहले उससे ठीक चला कर देखें, इससे आपको आइडिया लग जाएगा कि बाइक की कंडीशन कैसी है। बिना ड्राइव किये सौदा फाइनल न करें। बाइक चलाकर उसका पिकअप, गियर शिफ्टिंग, एक्सिलेरेटर का पता लगाया जा सकता है कि इनमें कोई खराबी तो नहीं है। इसके अलावा बाइक के टायर्स को भी देखें, अगर टायर्स घिस गये हो तो इस बारे में बात करें  ताकि कीमत कम हो सके, क्योंकि नये टायर्स भी करीब 4 हजार रुपये के आस-पास ही मिलते हैं या इसे ज्यादा।

3. इंश्योरेंस देख लें
सेकंड हैंड बाइक खरीदते समय उसका इंश्योरेंस जरूर देख लें, कई बार इंश्योरेंस खत्म हो जाता है और लोग कराते नहीं है। इंश्योरेंस के पेपर्स आपके नाम से ट्रांसफर हो जाए, यह भी सुनिश्चित करा लें। ध्यान रहे कि बाइक बेचने की तारीख तक उस बाइक का रोड टैक्स चुका दिया गया है या नहीं।

4. मैकेनिक को दिखा लें

संभव हो तो डील करने से पहले अपने किसी जानकार या मैकेनिक को भी बाइक दिखा दें, क्योंकि मैकेनिक, बाइक को देखकर और उसे स्टार्ट करके आपको बता देगा कि यह खरीदने लायक है या नहीं। अगर जरा भी गड़बड़ लगे तो डील न करें, इसके अलावा बाइक चोरी की है या नहीं यह भी जानकारी हांसिल कर लें।

5. NOC लेना भूलें
सेकंड हैंड बाइक खरीदते समय, बाइक मालिक से उसकी NOC जरूर ले लें ,साथ ही ध्यान रखे कि बाइक पर कोई लोन तो नहीं चल रहा है,अगर बाइक को लोन लेकर बाइक खरीदी गई है तो आपको उस व्यक्ति से ‘नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट’ लेना जरूरी है। यह सर्टिफिकेट इस बात का प्रमाण होगा कि उसने लोन की सारी रकम चुका दी है।

दोस्तों अगर आप इन जरूरी बातों को ध्यान में रखकर पुरानी का सौदा करेंगे तो हमें उम्मीद है आपको बेहतर और भरोसेमंद डील मिलेगी। सेकंड हैंड बाइक के लिए ऑन लाइन वेबसाइट या किसी भरोसेमंद डीलर से संपर्क करें। अगर आपको यह जानकारी पसंद आई तो इसे शेयर जरूर करें।