खरीदने जा रहे हैं नई कार तो हो जायें होशियार, कार डीलर्स ऐसे लगा सकते हैं चूना

कोरोना वायरस के चलते, देश में लगे लॉकडाउन की वजह से कार कंपनियों को काफी नुकसान उठाना पड़ा है। ऐसे में कार कंपनियां अब अपने ग्राहकों को लुभाने में लगी हुई हैं। गाड़ियों पर काफी अच्छे डिस्काउंट और ऑफर्स मिल रहे  हैं। एक्सपर्ट की मानें तो यह एकदम अच्छा समय है नई कार खरीदने का क्योंकि अभी जो डिस्काउंट मिल रहे हैं वो शायद बाद में न मिलें, क्योंकि ऑटो सेक्टर इन दिनों मंदी की मार झेल रहा है और कंपनियां अपनी बिक्री को बढ़ाने के लिए इन ऑफर्स का सहारा ले रही हैं। नई कार खरीदते समय आपको एक अच्छी डील मिल सकती है लेकिन क्या आप जानते हैं कार डीलर्स आपको एक नई कार बेचते समय चूना भी लगा सकते हैं? अगर पहले बार कार खरीदने जा रहे हैं तो इस रिपोर्ट पर ध्यान दें।

जल्दबाजी न करें

जो भी मॉडल आपको पसंद आया है उसके बारे में पूरी जानकारी ले लें, कार खरीदते समय कभी भी किसी मॉडल को लेकर ज्यादा जल्दबाजी ना दिखाएं। ऐसे देखकर सेल्समैन आपसे ज्यादा पैसे वसूल करने की कोशिश करेगा। आपको बता दें कि सेल्समैन को फाइनेंस और इंश्योरेंस में भी कमीशन मिलता है। इसमें भी ज्यादा से ज्यादा मोलभाव करें। सेल्समैन से डील खुलकर करें।

डिस्काउंट का असली सच

इस बात पर ध्यान देना बेहद जरूरी है कि कार कंपनियां केवल उन्हीं मॉडल्स पर डिस्काउंट और ऑफर्स देती हैं जिनकी बिक्री कम होती है। ताकि स्टॉक क्लियर हो सके।और जिन कारों पर वेटिंग में चल रही हैं या जो एक दम नया मॉडल हो उस पर कभी डिस्काउंट नहीं मिलता। इतना ही नहीं जो मॉडल सबसे ज्यादा बिकते हैं उन पर डिस्काउंट नहीं मिलता और अगर होगा भी तो बहुत ज्यादा नहीं होता। ऐसे में अच्छी डील के लिए आप  शोरूम में उपलब्ध मॉडल को ही सिलेक्ट करते हैं तो आप ज्यादा से ज्यादा पैसे बचा पाएंगे। 

अगर अपनी पुरानी कार एक्सचेंज कर रहे हैं तो ध्यान दें

कार डीलर पुरानी कार पर एक्सचेंज ऑफर्स देते हैं, ऐसे में आप आपनी पुरानी कार को डीलर पर देकर नई कार इसलिए खरीदते हैं ताकि आपको आपकी कार की सही वैल्यू मिले, लेकिन ऐसा होता नहीं है।क्योंकि शो-रूम वाले आपकी पुरानी कार की सही वैल्यू नहीं लगाते, आपको यह कहा जाता है कि “ इस मॉडल की कोई वैल्यू नहीं है, ये मॉडल अच्छा नहीं है, इससे ज्यादा आपको दाम नहीं मिलेंगे” और न जाने ऐसे ही कितनि कमियां बता कर वो आपसे आपकी कार कम दाम में एक्सचेंज करवा लेता है और आप आसानी से उसकी बातों में फंसते चले जाते हैं। और आप अपनी पुरानी कार को सस्ते में बेच देते हैं। इसलिए कभी भी कार को डीलर से एक्सचेंज ना करें, हमेशा ओपन मार्केट में ही बेचें। यहां आपको ज्यादा कीमत मिलेगी। 

बिक्री का टारगेट

हर कार सेल्समैन और डीलर के पास कार बिक्री का टारगेट होता है जो महीना पूरा होने तक पूरा करना होता है। इसलिए कार खरीदेन महीने के आखिरी दिनों में जाएं। खुलकर मोल-भाव करें। बिलकुल न हिचकिचाएं और जितना हो सके पैसे कम करा लें। 

कार एक्सेसरिज का खेल

कार लेते समय सेल्समैन आपको एक्सेसरिज के बारे में बताना शुरू करेगा। सेल्समैन आपको इंटीरियर कारपेट, सीट कवर्स, स्टीरियो सिस्टम, पार्किंग सेंसर और ना जाने कितने ही चीजें लगवाने को बोलेगा, और इनकी कीमत भी काफी ज्यादा बताएगा, लेकिन यदि सब आप ओपन मार्किट में कम दाम में लगवा सकते हैं और वो भी असली एक्सेसरिज। लेकिन बिना बिल के कोई भी एक्सेसरिज न खरीदें इससे आपको असली सामान मिलेगा।

इतना ही  अगर कोई सेल्समैन आपको बोलता है कि इस कार के साथ आपको 15000 रुपये की एक्सेसरिज फ्री दी जा रही है तो एक्सेसरिज की जगह  उतनी ही कीमत का डिस्काउंट मांग लीजिये और वही एक्सेसरिज बाहर से लगवा लें, आपको सस्ती पड़ेगी और कई ऑप्शन भी आपको मिल जायेंगे।