भारत में सबसे अधिक पसंद की जाने वाली 5 बाइक

भारत में मोटरसाइकिल परिवहन का सबसे सस्ता साधन है, लेकिन चार पहियों वाले वाहनों की तुलना में स्वाभाविक रूप से अधिक खतरनाक है क्योंकि इन पर सवारी करने वाला सीधा संपर्क में रहता है. हालांकि, पिछले कुछ वर्षों में, हमने मोटरसाइकिल सुरक्षा में बड़े पैमाने पर प्रगति देखी है. हमने ड्रम ब्रेक से डिस्क ब्रेक को एक स्टैण्डर्ड ब्रेक के रूप में पेश किया है और यहां तक कि आजकल सभी बाइक ABS (एंटी-लॉक ब्रेकिंग सिस्टम) के साथ आती हैं. 1 अप्रैल, 2019 से, भारत सरकार ने 150cc और इससे अधिक वाले दोपहिया वाहनों के लिए ABS को अनिवार्य कर दिया है. इसलिए यदि आप एक ऐसी मोटरसाइकिल की तलाश कर रहे हैं जो सुरक्षित हो और जिसकी कीमत अधिक ना हो, तो इन पांच सबसे सस्ते दोपहिया वाहनों के बारे में पढ़ें. ये सभी ABS के साथ आते हैं. ये कीमत के हिसाब से बेहतरीन हैं और आपकी पसंद बन सकते हैं.

  1. बजाज पल्सर 150 नियॉन- कीमत 91,002 रुपये

बजाज पल्सर 150 को हमेशा इसके स्पोर्टी लुक और कीमत के कारण युवाओं के द्वारा सबसे अधिक पसंद किया जाता है. इसके नियॉन वर्जन के साथ, बजाज पल्सर 150 को एक सस्ते बजट के अंदर ओर भी अधिक किफायती बनाया गया है. 91,002 रुपये में भारत में सबसे अधिक इकॉनमिकल बाइक में गिनी जाती है. इसमें 130mm रियर ड्रम का उपयोग किया गया है.

  • हौंडा यूनीकॉर्न- कीमत- 94,548

होंडा यूनिकॉर्न, जिसकी कीमत 94,548 रुपये है, भारत में एबीएस के साथ जापानी ब्रांड की सबसे सस्ती मोटरसाइकिल है. इसे भारत में पहली बार 2004 में लॉन्च किया गया, यूनिकॉर्न लगातार उन लोगों के लिए सबसे पसंदीदा विकल्प रहा है, जो एक विश्वसनीय, शक्तिशाली और कम खर्चीली मोटरसाइकिल चाहते हैं. इसके BS6- कंप्लीट इटरेशन में, यूनिकॉर्न में फ्यूल इंजेक्शन के साथ 162.7cc सिंगल-सिलेंडर एयर-कूल्ड इंजन है. बेहतर राइड क्वालिटी के लिए बाइक में एक रियर मोनोशॉक भी है. ब्रेकिंग सेटअप बजाज पल्सर 150 नियॉन के समान है.

  • बजाज एवेंजर 160 स्ट्रीट- कीमत- 95,981

क्रूजर के शौकीनों को यह जानकर खुशी होगी कि बजाज एवेंजर 160 स्ट्रीट देश की सबसे महंगी क्रूजर है, जिसकी कीमत 95,891 रुपये है. बजाज पल्सर 150 नियॉन की तुलना में इसकी कीमत 4,889 रुपये अधिक है, आपको नीची सीट और एर्गोनॉमिक्स के साथ शानदार क्रूजर स्टाइल मिलता है. लेकिन इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि आपको 160 सीसी का सिंगल-सिलेंडर एयर-कूल्ड, फ्यूल-इंजेक्टेड इंजन भी मिलता है. मोटर 15PS और 13.7Nm के उत्पादन के साथ, 5-स्पीड ट्रांसमिशन से जुडी हुई है. इसमें सिंगल-चैनल ABS के साथ थोड़ी बड़ी 280 मिमी की फ्रंट डिस्क भी दी गई है जबकि रियर ड्रम 130 मिमी है.

  • टीवीएस अपाचे RTR 160 2V– कीमत 98,050

टीवीएस अपाचे RTR 160 2006 से बाजार में है. पिछले कुछ वर्षों में इसमें काफी बदलाव हुए हैं लेकिन रेसिंग-ओरिएंटेड जीन के साथ कम्यूटर के रूप में यह अपने आप में ख़ास है. बीएस 6-कंप्लेंट वैरिएंट में ग्लाइड थ्रू टेक्नोलॉजी है, जो मुख्य रूप से एक कम आरपीएम सहायता है. यह सुविधा अकेले क्लच को बदल कर ट्रैफ़िक के अंदर से आसानी से क्रॉल करने में मदद करती है. यह मोटरसाइकिल 159.7cc सिंगल-सिलेंडर फ्यूल-इंजेक्टेड एयर-कूल्ड इंजन से लैस है जो 8400rpm पर 15.53PS और 7000rpm पर 13.9Nm उत्पन्न करता है. इसमें 270 मिमी पेटल डिस्क अप फ्रंट और रियर में 130 मिमी ड्रम भी है. इस वैरिएंट की कीमत 98,500 रुपये है. अगर आपको थोड़ा ओर पैसा बचाना है, तो आप रियर डिस्क ब्रेक-लैस वैरिएंट का विकल्प भी चुन सकते हैं, इसमें 200 मिमी की पेटल डिस्क मिलती है. पेटल डिस्क पारंपरिक डिस्क की तुलना में अपने बड़े सतह क्षेत्र के लिए अधिक से अधिक कुलिंग दक्षता प्रदान करती हैं.

  • यामाहा FZFi V3.0- कीमत- 99,700

99,700 रुपये की कीमत पर, यामाहा FZ-Fi V3.0 इस सूची में सबसे महंगी बाइक हो सकती है, लेकिन वर्तमान में यह भारत में यामाहा की सबसे सस्ती मोटरसाइकिल है. यह अपने आक्रामक स्ट्रीटफाइटर स्टाइल की बदौलत यहां सबसे स्पोर्टी दिखने वाली बाइक है. यामाहा FZ-Fi वर्जन 3.0 में दोनों छोरों पर डिस्क ब्रेक के साथ फुल-एलईडी हेडलैंप, नेगेटिव डिजिटल इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर और सिंगल-चैनल ABS जैसे फीचर्स दिए गए हैं. एकमात्र ग्रिंच यह है कि इसका 149cc सिंगल-सिलेंडर एयर-कूल्ड फ्यूल-इंजेक्टेड इंजन एक पैलेट 12.4PS और 13.6Nm है. यह इसे होंडा यूनिकॉर्न से कम शक्तिशाली बनाता है. इतना प्रभावशाली इंजन ना होने के बावजूद, खरीदार इस तथ्य से परिचित हैं कि यामाहा FZ रेंज ने भारत में 160cc किक शुरू कर दिया है. चंकी, मस्कुलर डिज़ाइन लैंग्वेज के साथ इसकी लोकप्रियता ने बिक्री चार्ट को बढ़ाने में मदद की है. यह इस सूची में एकमात्र बाइक भी है जिसे चंकी 140-सेक्शन रियर रेडियल टायर मिला है. रेडियल टायर पारंपरिक ट्यूबलेस टायर की तुलना में मजबूत होते हैं, और इस तरह यह अधिक आत्मविश्वास प्रदान करता है.


सत्यव्रत का मानना है कि टेक्नॉलजी का जितना इस्तेमाल करेंगे, उतना जानेंगे. इसी के चलते उन्होंने टेक जर्नलिस्ट बनने का फैसला लिया. सत्यव्रत ने अपने करियर की शुरुआत दैनिक जागरण से की थी, साल 2015 में वह ज़ी न्यूज़ से जुड़े. वह न केवल टेक को अच्छी तरह से समझते हैं बल्कि यह भी जानते हैं कि कौन सी स्टोरी पाठकों को ज्यादा पसंद आती हैं. अब सत्यव्रत Mysmartprice से जुड़े हैं. और यहां भी उनका मकसद हर रोज बदल रही टेक्नॉलजी की दुनिया की हर बारीकी को आसान शब्दों में पाठकों तक पहुंचाना है.