भारत की पहली हाइड्रोजन-आधारित फ्यूल सेल ई-कार Toyota Mirai से उठा पर्दा, फुल टैंक में 646 km चलती है

Toyota Mirai FCEV

टोयोटा किर्लोस्कर मोटर (Toyota Kirloskar Motor) ने इंटरनेशनल सेंटर फॉर ऑटोमोटिव टेक्नोलॉजी (ICAT) के साथ अपने पायलट प्रोजेक्ट के हिस्से के रूप में भारत की पहली ऑल-हाइड्रोजन इलेक्ट्रिक व्हीकल (all-hydrogen electric vehicle Mirai) टोयोटा मिराई लॉन्च की है।

आपको बता दें कि टोयोटा मिराई एफसीईवी (Toyota Mirai FCEV) दुनिया की पहली हाइड्रोजन ईंधन सेल इलेक्ट्रिक वाहनों में से एक है, जो शुद्ध हाइड्रोजन से जनरेट बिजली पर चलती है। इसे ट्रू जीरो इमिशन व्हीकल (true zero-emission vehicle) भी माना जाता है, क्योंकि कार टेलपाइप से केवल पानी का उत्सर्जन करती है।

इसे भी पढ़ेंः घर-ऑफिस को आग से बचाएंगे ये Fire Extinguishers, कीमत 135 रुपये से शुरू

ऑटोमेकर ने कहा कि टोयोटा मिराई एफसीईवी (Toyota Mirai FCEV) की दूसरी पीढ़ी को कर्नाटक में टोयोटा किर्लोस्कर मोटर्स के प्लांट में बनाया जाएगा। इसे दिसंबर 2020 में वैश्विक स्तर पर पेश किया गया था। कंपनी ने दावा किया है कि इसमें केवल 5 मिनट में ईंधन भरा जा सकता है। यह कार एक बार फुल टैंक पर 646 km तक की दूरी तय करने में सक्षम है। यह पायलट प्रोजेक्ट देश के हरित और स्वच्छ ईंधन समाधानों को आगे बढ़ाने की भारत सरकार की रणनीति का हिस्सा है।

बैटरी वाली इलेक्ट्रिक वाहनों के अलावा, सरकार पेट्रोल और डीजल के विपरीत वैकल्पिक ईंधन समाधान के रूप में हाइड्रोजन ईंधन सेल (hydrogen fuel cell) को आगे बढ़ा रही है। वैकल्पिक ईंधन समाधान (alternative fuel solution) के रूप में ग्रीन हाइड्रोजन को बढ़ावा देते हुए सरकार का दावा है कि यह कई क्षेत्रों को डीकार्बोनाइज करने के लिए बड़े अवसर प्रदान करेगा। सड़क परिवहन सहित और विश्व स्तर पर अभूतपूर्व गति प्राप्त कर रहा है।

इसे भी पढ़ेंः नए अवतार में लॉन्च हुई Toyota Glanza, 11,000 देकर करें बुकिंग, कीमत 6.39 लाख रुपये से शुरू

टोयोटा मिराई एफसीईवी सेडान (Toyota Mirai FCEV sedan) की बात करें, तो यह हाई प्रेशर हाइड्रोजन फ्लूल टैंक और इलेक्ट्रिक मोटर से लैस है। पावरट्रेन हाइड्रोजन को पानी और ऑक्सीजन में तोड़ता है और उससे एनर्जी पैदा करता है। यह इंटरनल combustion engines की तरह गैस उत्सर्जित करने के बजाय हाइड्रोजन फ्यूल सेल पावरट्रेन टेलपाइप से पानी का उत्सर्जन करता है।

टोयोटा मिराई एफसीईवी को पेश करने के लिए टोयोटा और आईसीएटी के बीच सहयोग के बारे में बोलते हुए सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (MoRTH) ने कहा कि यह एक है भारत में अपनी तरह की पहली परियोजना है, जिसका उद्देश्य हाइड्रोजन, एफसीईवी टेक्नोलॉजी (FCEV technology) के बारे में जागरूकता फैलाना है।