इस रंग की कार देती है सबसे ज्यादा सेफ्टी! सालों बाद बेचने पर भी मिलती है बढ़िया Re-Sale Value

कुछ कार डार्क कलर्स दिखने में अच्छे और प्रीमियम तो नजर आते हैं, लेकिन सेफ्टी के लिहाज से वे उतने खरे उतर नहीं पाते, यानी रात में जहां रौशनी कम होती है, वहां पर इस तरह के कलर्स वाली कारें सुरक्षित नहीं मानी जाती, क्योंकि पीछे से या सामने से आ रहे दूसरे वाहनों को जल्दी से नजर नहीं आतीं।

48508

Car Color and Resale Value: कुछ समय पहले तक देश में गिने-चुने कलर्स में ही कारें मिला करती थीं, लेकिन जैसे जैसे समय बदला तो कारों में नए-नए शेड्स और रंग देखने को मिलने लगे। लोगों की जरूरत और पसंद को देखते हुए कार कंपनियां भी कम बजट से लेकर प्रीमियम कारों में कई तरह के कलर्स देने लगी। लेकिन कुछ डार्क कलर्स दिखने में अच्छे और प्रीमियम तो नजर आते हैं, लेकिन सेफ्टी के लिहाज से वे उतने खरे उतर नहीं पाते, यानी रात में जहां रौशनी कम होती है, वहां पर इस तरह के कलर्स वाली कारें सुरक्षित नहीं मानी जाती, क्योंकि पीछे से या सामने से आ रहे दूसरे वाहनों को जल्दी से नजर नहीं आतीं। लेकिन अगर आपकी कार सफेद (White) कलर में है, तो आपकी सेफ्टी काफी हद तक बढ़ जाती है। आज की रिपोर्ट में हम इसी कलर की गाड़ियों के बारे में बात कर रहे हैं…

Car Color

इस कलर की है सबसे ज्याद मांग

अभी से नहीं बल्कि शुरुआत से भी देश में सफेद (White) कलर की काफी डिमांड रही है। सफेद कलर की कारों को काफी पसंद किया जाता है, खासकर सरकारी कर्मचारी, नेता, VIP  के पास तो आपको इसी कलर ही कार ही देखने को मिलती है और आज भी यह सिलसिला जारी है। Color Report 2021 for Automotive OEM Coatings (BASF) की रिपोर्ट में भी इस बात का दावा किया गया है कि देश में हर 10 लोगों में से 4 लोग सिर्फ सफेद कलर की कार चुनते हैं। रिपोर्ट के मुताबिक,  देश में करीब 40% कारें सिर्फ सफेद कलर में ही हैं। सफेद कलर न सिर्फ कूल लुक देता है, बल्कि यह रात में ड्राइविंग के दौरान सबसे सेफ भी माना जाता है। सफेद कलर के बाद जो दूसरा सबसे अधिक पसंद किए जाने वाला रंग है ग्रे कलर, इसके बाद सिल्वर कलर और ब्लू कलर है, जिसे देश में काफी पसंद किया जाता है।

इस कारण है सफेद रेंज की सबसे ज्यादा मांग

देश में सफेद कलर की मांग पहले भी थी और आज भी है। एक्सपर्ट का मानना है कि इस रंग की डिमांड भारत में का भी कम नहीं होने वाली, यह अन्य कलर्स की तुलना में भी सस्ता पड़ता है। इतना ही नहीं, सफेद कलर वाली कारों का रखरखाव भी काफी आसान होता है और यह जल्दी से धूल-मिट्टी नहीं पकड़ता। खास बात यह भी है कि अगर आपकी सफेद रंग की कार पर अगर स्क्रैच भी आ जाए, तो जल्दी से पता नहीं चलता और इसे फिर से ठीक भी कराया जा सकता है। मौसम के हिसाब से भी सफेद रंग अच्छा रहता है, गर्मी में यह कलर जल्दी से गर्म नहीं होता और कार आपकी अंदर से ठंडी ही रहती है, जबकि किसी अन्य डार्क कलर की कार जल्दी गर्म हो जाती है। दिन हो या रात सफेद कलर की कार सड़कों पर दूर से भी नजर आती है। मानसून के समय या रात में ड्राइव के दौरान इस रंग की कार को देखना सबसे आसान होता है। इस तरह यह सफेद रंग की कार सेफ्टी के लिहाज से बाकी अन्य कलर की कारों की तुलना में ज्यादा बेहतर रहती हैं। 
यह भी पढ़ें: रफ्तार के साथ स्टाइल का मिलेगा मजा, 2 लाख से कम आती हैं ये हाई परफॉर्मेंस बाइक्स

मिलती है बढ़िया Re-Sale Value

नई कारों में तो सफेद रंग को काफी पसंद की जाता है, लेकिन आपको जानकार हैरानी होगी कि सेकेंड हैंड कार बाजार में भी इस रंग की कारों की सबसे अधिक मांग रहती है। ऐसे में अगर आप भी अपनी पुरानी सफेद रंग की कोई कार बेचने जा रहे हैं तो आपको बढ़िया वैल्यू मिलेगी।

Web Stories