सावधान: अगर आपके पास भी कार तो इन चीजों को अनदेखा नहीं करें, वरना हो सकता है बड़ा हादसा

जिस तरह से हम अपनी केयर करते हैं ठीक उसी तरह से हमें अपनी कार की भी केयर करना जरूरी है। गर्मी लगातार बढ़ रही है, और ऐसे में कार की केयर ज्यादा बढ़ जाती है, क्योंकि इन दिनों इंजन के हीट होने की संभावना बढ़ जाती है। लेकिन अक्सर लोग अपनी कार की सर्विस समय पर नहीं करते जिसकी वजह से आगे चलकर काफी बड़ा नुकसान उठाना पड़ता है। अगर आप अपनी कार का रख-रखाव सही तरीके से करेंगे तो कार लम्बे समय तक आपका साथ निभाएगी और ब्रेक डाउन जैसी समस्या भी नहीं होगी। लेकिन कार में कुछ ऐसी चीजें होती हैं जिन्हें नजरअंदाज करना बेहद नुकसान दायक साबित हो सकता है। इस रिपोर्ट में हम आपको कुछ ऐसी बातों के बारे में जानकारी दे रहे हैं जिनको जानने के बाद आप अपनी कार को बेहतर रख पायेंगे।

इस रंग का धुंआ होता है खतरनाक

कार कंपनियां अब काफी रिफाइंड इंजन बना रही हैं। जो न ही शोर करते हैं और प्रदूषण भी काफी हद तक कम करते हैं। ऐसे में गाड़ियों से धुंआ काफी कम निकलता है। लेकिन शायद आप नहीं जानते कि डीजल और पेट्रोल कार में अलग-अलग रंग का धुंआ निकलता है। आमतौर पर कार से अगर धुंआ निकलता भी दिखाई दे तो परेशानी वाली कोई बात नहीं है लेकिन अगर पेट्रोल कार से नीले रंग का और डीजल कार से काले रंग का धुंआ निकल रहा है तो यह बेहद खतरनाक है।  

अगर आपके पास है पेट्रोल कार

अगर आपके पास पेट्रोल इंजन वाली कार है और इसके एग्जॉस्ट से अगर नीले रंग का धुंआ निकलता दिखाई दे तो यह इस बात का संकेत है कि पिस्टन रिंग घिस रही है जिसकी वजह से कम्बशन चैंबर में इंजन ऑयल जा रहा है। इसका मतलब आपकी गाड़ी जल्द ही ब्रेक डाउन कहीं भी हो सकती है यानी बंद पड़ सकती है। 

अगर आपके पास है डीजल कार

वहीं अगर आपके पास डीजल कार है और इसके एग्जॉस्ट से काले रंग का धुंआ आने लगे तो यह इस बात की तरफ इशारा करता है कि ईसीजी फेल हो गया है या फ्यूल इंजेक्टर बंद हो गया है। यह इस बात का भी संकेत है कि इंजन बिना सर्विस के काफी ज्यादा चल चुका है। यदि ऐसे लक्षण आपको नजर आये तो तुरंत अपनी कार को सर्विस सेंटर लेकर जाएं।

टाइमिंग बेल्ट का रखें ध्यान

इंजन में टाइमिंग बेल्ट सबसे खास पार्ट माना जाता है। टाइमिंग बेल्ट इस बात को सुनिश्चित करता है कि क्रैंकशाफ्ट और कैमशाफ्ट रोटेशन के बीच एक समानता बनी हुई है। लेकिन अगर तय समय पर इसको चेंज करना जरूरी है। क्योंकि अगर टाइमिंग बेल्ट ढीली हो जाती है या उसके दांत सपाट हो जाते हैं तो समझ जाएं कि टाइमिंग बेल्ट खराब हो चुकी है और इसके खराब होने से कार बंद हो जाती है। इसलिए हमेशा टाइमिंग बेल्ट पर ध्यान जरूर दें।

इंजन की जान, कम न होने दे रफ्तार

इंजन ऑयल हर गाड़ी के इंजन की जान होता है। ध्यान रहे अगर  इंजन ऑयल को सही समय पर न बदला जाए तो इंजन बिलकुल खराब हो सकता है और काम करना बंद कर देगा, जोकि बेहद खतरनाक हो सकता है। इंजन ऑयल का लेवल कम होने से इंजन गर्म हो जाता है और कार बंद पड़ जाती है। इतना ही नहीं अगर ऑयल कम हो या काला पड़ जाए तो टॉप-अप कराना बेहद जरूरी है।

कूलेंट पर ध्यान दें

किसी भी इंजन के लिए कूलेंट काफी अहम् होता है क्योंकि यह इंजन को ठंडा रखने में मदद करता है। गर्मी के मौसम में इंजन के जल्दी गर्म होने के चांस ज्यादा होते हैं। पहले के मुकाबले आजकल ज्यादातर गाड़ियों में हाई परफॉरमेंस इंजन आ रहे हैं। यदि वजह है कि इंजन भी हाई  प्रेशर पर काम करते हैं जिसकी  वजह से इंजन का तापमान बढ़ जाता है। ऐसे में इस तापमान को कंट्रोल में रखने के लिए  इंजन लिक्विड कूलिंग सिस्टम का इस्तेमाल करता है। लिक्विड कूलिंग का काम होता है कि वह इंजन से हीट को हीट एक्सचेंजर यानी रेडिएटर के जरिए बाहर निकाले।  इसलिए इंजन में कूलेंट लेवल सही रखना बेहद जरूरी है, क्योंकि अगर कूलेंट  की मात्रा कम होगी तो इंजन जल सकता है।  इसलिए कूलेंट लेवल वॉर्निंग को देखते रहें।