Laptop की बैटरी बैकअप में है समस्या, तो अपनाइए ये ट्रिक्स

लैपटॉप (Laptop) पुराना हो जाए, तो बैटरी बैकअप (battery backup) की समस्या आने लगती है। मगर इसका यह भी मलतब नहीं है कि आप तुरंत लैपटॉप की बैटरी (battery) चेंज ही कर लें, बल्कि डेली टास्क के दौरान बैटरी बैकअप की समस्या आती है, तो कुछ तरीके आजमाने चाहिए। इससे बैटरी बैकअप की समस्या कुछ हद तक कम हो जाएगी। आइए जानते हैं, आपको क्या करना चाहिए..

Display brightness को कम करें
जब आप लैपटॉप पर कार्य करते हैं, तो यह ध्यान दें कि कहीं ब्राइटनेस (brightness) लेवल मैक्सिमम तो नहीं है। अगर ब्राइटनेस लेवल ज्यादा होगा, तो इसका असर बैटरी पर भी पड़ता है। इसलिए कोशिश करें कि बेहतर लाइटिंग वाले जगह पर ही कार्य करें। इससे आपको ब्राइटनेस लेवल को बहुत ज्यादा बढ़ाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। अधिकतर लैपटॉप में दो फंक्शन कीज होती हैं, जिनकी मदद से ब्राइटनेस लेवल को कम या ज्यादा करने की सुविधा मिलती है। अगर लैपटॉप के कीबोर्ड (keyboard) पर ये बटन्स नहीं हैं, तो फिर सेटिंग> सिस्टम> डिस्प्ले में जा कर ब्राइटनेस लेवल को कम कर सकते हैं।

माइक्रोसॉफ्ट Edge browser का करें उपयोग
हर कोई अपनी पसंद के वेब ब्राउजर्स (Web browser)पर ऑनलाइन कार्य करना पसंद करते हैं। ब्राउजर का असर भी लैपटॉप की बैटरी पर होता है। Microsoft का दावा है कि उसका Edge browser गूगल के क्रोम, फायरफॉक्स ब्राउजर और ओपेरा जैसे अन्य ब्राउजर की तुलना में अधिक बैटरी सेव करता है। अगर लैपटॉप पर कार्य करने के दौरान बैटरी एज ब्राउजर का इस्तेमाल करते हैं तो यह बैटरी बैकअप के लिहाज से बेहतर हो सकता है।

Battery चार्जिंग पर नजर रखें
लैपटॉप पर कार्य करने के दौरन बहुत सारे यूजर्स हमेशा चार्जिंग में लगा कर रखते हैं या फिर बैटरी बिल्कुल डाउन होने पर ही उसे कनेक्ट करते हैं, लेकिन इस तरीके को ठीक नहीं माना जाता है। बेहतर बैटरी लाइफ की चार्जिंग को 20 से 80 प्रतिशत के बीच ही बनाए रखें। जब लैपटॉप की बैटरी 20 फीसदी से कम होती है, तो यह उस पर दबाव पड़ता। इससे चार्जिंग क्षमता प्रभावित होती है।

keyboard backlight को बंद रखें
कम रोशनी की स्थिति में कार्य करते हैं, तो कीबोर्ड बैकलाइट (keyboard backlight) उपयोगी हो सकता है। लेकिन जब इसकी जरूरत नहीं है, तो इसे बंद ही रखें। जहां पर रोशनी की अच्छी स्थिति होती है, वहां पर कीबोर्ड बैकलाइट की शायद ही आपको कोई जरूरत हो। इससे भी बैटरी बचा सकते हैं।

Battery saver का उपयोग
लैपटॉप्स भी बैटरी सेवर मोड के साथ आते हैं। इस मोड के इस्तेमाल से अनावश्यक बैटरी की खपत को रोका जा सकता है। आप बैटरी सेवर को सेटिंग> सिस्टम> बैटरी में जाकर देख सकते हैं। जब बैटरी सेवर मोड (Battery save) को चालू कर देते हैं, तो ईमेल और कैलेंडर सिंकिंग, पुश नोटिफिकेशंस के साथ बैकग्राउंड में चलने वाले ऐप्स भी डिसेबल हो जाते हैं। इससे बैटरी बचती है।

अनावश्यक डिवाइस को अनप्लग करें
जब आप वेब कैमरा, एक्सटर्नल हार्ड ड्राइव जैसे डिवाइस का उपयोग नहीं करते हैं, तो उन डिवाइस को अनप्लग कर दें। जब उपयोग नहीं कर रहे हैं, तो ऐसी स्थिति में ब्लूटूथ और वाई-फाई को भी बंद कर दें। अगर कॉर्य ऑफलाइन कर रहे हैं यानी इंटरनेट की जरूरत नहीं है, तो वाई-फाई को बंद कर सकते हैं। जब आपको इसकी जरूरत हो, तब उसे ऑन कर दें। इन तरीकों के इस्तेमाल से कुछ हद तक बैटरी बैकअप को बेहतर कर सकते हैं।