Cyber fraud: ऑनलाइन ठगी के शिकार हो जाते हैं, तो यहां दर्ज करा सकते हैं अपनी शिकायत, जानें क्या है तरीका

देश में जिस रफ्तार के इंटरनेट यूजर्स और डिजिटल पेमेंट का विस्तार हो रहा है, उसे रफ्तार साइबर क्राइम (cyber crime) की घटनाएं बढ़ रही हैं। यूजर किसी न किसी तरह ऑनलाइन ठगी के शिकार हो रहे हैं। सिम स्वाइप (sim swap), यूपीआई फ्रॉड (upi fraud) जैसी घटनाएं भी बढ़ रही हैं। अब केंद्रीय गृह मंत्रालय ने साइबर ठगी (cyber fraud) से होने वाले वित्तीय नुकसान को रोकने के लिए नेशनल हेल्पलाइन 155260 और रिपोर्टिंग प्लेटफॉर्म की शुरुआत की है।

हेल्पलाइन और रिपोर्टिंग प्लेटफॉर्म से बैंक भी जुड़े हुए हैं। इनमें भारतीय स्टेट बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, बैंक ऑफ इंडिया, यूनियन बैंक, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, येस बैंक और कोटक महिन्द्रा बैंक आदि शामिल हैं। इसके अलावा, पेटीएम, फोनपे, मोबिकविक, फ्लिपकार्ट और अमेजन जैसे पेंमेंट और वॉलर प्लेटफॉर्म भी शामिल हैं।

यहां पर पेमेंट से जुड़ी फ्रॉड की शिकायत भी दर्ज करा सकते हैं। अगर आप साइबर क्राइम (cyber crime)के शिकार हो जाते हैं, इसकी शिकायत हेल्पलाइन नंबर या ऑनलाइन तरीकों से भी कर सकते हैं। जानें साइबर क्राइम की रिपोर्ट दर्ज कराने का क्या है तरीका…

फोन कॉल के जरिए दर्ज कराएं शिकायत

आप किसी भी तरह के साइबर अपराध की शिकायत नेशनल साइबर रिपोर्टिंग पोर्टल के हेल्पलाइन नंबर पर डायल करके कर सकते हैं। यह नंबर 155260 है। इस नंबर पर आप सुबह 09:00 बजे से शाम 06:00 बजे तक ही कॉल कर सकते हैं। अगर इमरजेंसी है, तो फिर स्थानीय पुलिस की मदद ले सकते हैं।

ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से ऐसे करें शिकायत

cybercrime gov in

आप नेशनल क्राइम रिपोर्टिंग पोर्टल के जरिए भी महिलाओं और बच्चों से संबंधित साइबर क्राइम के साथ-साथ फाइनेंशियल फ्रॉड, रैनसमवेयर आदि की शिकायत दर्ज करा सकते हैं। शिकायत दर्ज कराने के लिए आपको इन स्टेप्स को फॉलो करना होगा।

  • नेशनल साइबर क्राइम रिपोर्टिंग पोर्टल (https://cybercrime.gov.in/Default.aspx) के होम पेज पर जाएं। यहां पर ‘फाइल ए कंप्लेंट’ वाले विकल्प पर क्लिक करें। फिर अगले पेज पर एक्सेप्ट पर क्लिक करें।
  • इसके बाद अपराध की श्रेणी का चयन करें। दो विकल्प हैं: वूमन / चाइल्ड रिलेटेड साइबर क्राइम और अदर साइबरक्राइम का ऑप्शन भी मिलता है। यदि आप महिलाओं और बच्चों से संबंधित अपराध के अलावा अन्य घटानाओं से जुड़े साइबर रिपोर्ट दर्ज करना चाहते हैं, तो रिपोर्ट अदर साइबर क्राइम पर क्लिक करें।
  • इसके बाद आप लॉगइन पेज पर पहुंच जाएंगे। यदि पहले से इस पोर्टल पर अकाउंट नहीं है, तो क्लिक ‘हियर फॉर न्यू यूजर’ पर क्लिक कर अकाउंट बना सकते हैं।
  • यहां पर आपको खुद को रजिस्टर करना होगा। इसके लिए अपने राज्य का चयन करें। फिर लॉगइन आईडी और मोबाइल नंबर दर्ज करने के बाद ‘गेट ओटीपी’ पर क्लिक करें। जब आप ओटीपी को रिसीव कर लेते हैं, तो फिर उसे दर्ज करें। साथ ही, एक सवाल को सॉल्व कर उसका आंसर दर्ज करने के बाद सबमिट पर क्लिक करें।
  • फिर अगले पेज पर आपको नाम, ईमेल आईडी और एड्रेस सहित अपने व्यक्तिगत विवरण को अपडेट करना होगा। एक बार जब आप सभी विवरण दर्ज कर लेते हैं, तो ‘नेक्स्ट’ पर क्लिक करें।
  • यहां पर किस कैटेगरी में शिकायत दर्ज करना चाहते हैं, तो उसे सलेक्ट कर लें। आपको सब-कैटेगरी, डेट ऐंड टाइम, घटना आदि को भी सलेक्ट करना होगा। इसके साथ घटना से जुड़े साक्ष्य भी अपलोड करने होंगे। इसके बाद ‘सेव ऐज ड्राफ्ट ऐंड नेक्स्ट’ पर क्लिक करें।
  • उसके बाद यदि संदिग्ध से जुड़ी कोई डिटेल है या फिर उसकी आईडी, ईमेल, पता, फोटो आदि कुछ भी आपके पास है, तो दर्ज करने के बाद ‘सेव ऐड ड्रॉफ्ट ऐंड नेक्स्ट’ पर क्लिक करें।
  • इसके बाद ‘कंप्लेंट डिटेल पेज’ पर अपना यानी पीड़ित का आईडी प्रूफ प्रदान करना होगा। ‘सेव ऐंड रिव्यू’ पर क्लिक करें। अंत में अपनी शिकायत को एक बार रिव्यू करने के बाद ‘आई एग्री’ पर क्लिक करें और फिर ‘कंफर्म ऐंड सबमिट’ पर क्लिक दें। यहां से आप कंप्लेंट की पीडीएफ फाइल को भी डाउनलोड कर सकते हैं।