आपकी कार भी कर सकती है आपको बीमार, और लोग बैठने से करेंगे इन्कार, जानें 5 बड़ी बातें

कार नई हो या पुरानी, अगर आपकी कार साफ़-सुथरी होगी उसमे सफ़र करने का मज़ा अलग ही होगा, साथ ही  लोगों के सामने भी आपका इम्प्रेशन बेहतर बनेगा। क्योंकि गन्दी कार में एक मिनट भी बैठ पाना मुश्किल भरा हो जाता है। काफी लोग ऐसे हैं जो हमेशा अपनी कार को साफ़ और क्लीन रखते हैं, जबकि कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो कार की सफाई पर बिलकुल भी ध्यान नहीं देते। ये लोग कार में ही खाना-पीना करते हैं, स्मोकिंग करते हैं, गंदे जूते-चप्पल लेकर बैठ जाते हैं, जिसकी वजह से कार गन्दी होने लगती है और सफाई न होने की वजह से इसमें कीटाणु पैदा हो जाते हैं और आप बीमार होने लगते हैं। कई लोगों की कारों में तो हमेशा ही बदबू आती रहती है। जिसकी वजह से आपके साथ जो लोग आपकी कार में बैठे हैं उनके सामने आपकी इज्जत का कचरा हो जाता है। इसलिए कहा जाता है कि कार हमेशा साफ़ रहनी चाहिए। यहां हम आपको कुछ खास टिप्स बता रहे हैं जिनकी वजह से आप अपनी कार को साफ़ रख पायेंगे और आपकी कार भी खुशबू की तरह महकेगी।

कार की रेगुलर सफाई है जरूरी

दोस्तों जिस तरह हम रोजाना नहाते हैं, घर की नियमित रूप से सफाई करते हैं, ठीक वैसे ही अगर आपके पास कार है तो उसकी भी सफाई नियमित रूप से होनी जरूरी है। रोजाना कार की सफाई से कार फ्रेश फील देगी। याद रखें कार में अक्सर चिप्स, कोल्ड ड्रिक्स, हार्ड ड्रिक्स के बाद ड्रिंक केन्स या रेपर्स कार में ही छोड़ देते हैं जिससे कार में गंध पैदा होती है और कार में रखा परफ्यूम भी उस बदबू को निकाल नहीं पाता।  इसलिए अगर आप रोजाना कार से सफर करते हैं तो कार की सफाई बेहद जरूरी है। इस बात पर भी ध्यान दें कि कार में बिल्कुल भी गंदगी न रहे।

परफ्यूम का इस्तेमाल

सस्ते और लोकल परफ्यूम का इस्तेमाल बिलकुल न करें, इसलिए कार में हमेशा अच्छी क्वालिटी वाला ही परफ्यूम का इस्तेमाल करें। अच्छा परफ्यूम रखने के बाद भी खुशबू पूरी कार में फैलती नहीं है। इसकी एक बड़ी वजह है कि उसका सही जगह पर इस्तेमाल न होना। कार में परफ्यूम को डैशबोर्ड पर रखें, या फिर गियरबॉक्स के पास रखें। ऐसे में अगर स्प्रे वाले परफ्यूम को गाड़ी हर कोने पर करेंगे तो फायदा होगा। खुशबू हर तरफ मिलेगी।

वैक्यूम क्लीनर का इस्तेमाल करें

संभव हो तो हफ्ते में 3  बार अपनी कार के सभी कारपेट सीट्स को वैक्यूम करें। ऐसा करने से जमी हुई मिट्टी निकल जाएगी। जहां तक हो सके कार के कोने-कोने की सफाई करें। कार में बैठने से पहले अपने जूते-चप्पल साफ़ करके बैठें। इससे इन्फेक्शन के साथ स्मेल पैदा नहीं होगी।

कार में स्मोकिंग बिलकुल न करें

अक्सर लोग अपनी कार में काफी स्मोकिंग करते हुए नज़र आते हैं। ऐसा करने से कार के अंदर हमेशा बदबू रहती है। ओडोर्स का इस्तेमाल एसी सिस्टम की तरफ करना चाहिए क्योंकि ज्यादातर स्मेल यहीं से आती है। बीच-बीच में और लगातर ऐसा करने से बाहर से आने वाली बदबू को मिटाया जा सकता है।

विंडो करें डाउन

कार के शीशों को ग्लास क्लीनर से साफ करने के बाद सभी विंडो डाउन कर दें ताकि बाहर की हवा कार में आ जाए और ग्लास क्लीनर की स्मेल बाहर निकल जाए। ग्लास क्लीनर का इस्तेमाल बहुत ज्यादा मात्रा में न करें। याद रहे कार जितनी साफ़ रहेगी उतनी ही कार की बेहतर होगी।