Jio की 5G सर्विस 1,000 शहरों से होगी शुरू, Airtel VI के फिर छूटेंगे पसीने

रिलायंस जियो ने 2016 से अपनी सर्विस शुरू की और कंपनी ने 2जी या 3जी नहीं बल्कि सीधा 4जी सर्विस को लॉन्च किया। इतना ही नहीं सबसे खास बात यह कही जा सकती है कि विश्व में यह अपने तरह की पहली सर्विस थी जहां 6 महीने के लिए अनलिमिटेड डाटा, कॉलिंग और रोमिंग जैसी सभी सेवाएं मुफ्त थी। इस यूनिक सर्विस की वजह से ही जियो ने महज कुछ महीनों में ही Airtel को पीछे छोड़ दिया भारत की नंबर एक मोबाइल सेवा प्रदाता कंपनी बन गई। वहीं अब कंपनी नेक्स्ट जेनरेशन की सर्विस यानी की 5जी को लॉन्च् करने का प्लान कर चुकी है। कुछ समय पहले ही रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी ने कहा था कि जियो भारत में सबसे पहले अपनी 5जी सर्विस लॉन्च करेगी वहीं कंपनी ने अंबानी के हवाले से यह बयान जारी किया है जिसमें कहा गया है कि “कंपनी भारत में Jio प्लेटफॉर्म के तहत देश के टॉप 1,000 शहरों से अपनी 5G सर्विस एक साथ शुरू करने का प्लान कर रही है। इसके तहत नेटवर्क का ट्रायल हेल्थकेयर और इंडस्ट्रियल ऑटोमेशन जैसे तकनीकी के लिए किया जा रहा है।”

Jio को हुआ भारी मुनाफा

अंबानी का यह बयान कंपनी के वित्तीय और परिचालन प्रदर्शन रिपोर्ट जारी के करने के दौरान आया है। इस दौरान रिलायंस द्वारा एक प्रेस विज्ञप्ति जारी की गई है जिसमें उन्होंने कहा है कि “हमारी ​डिजिटल सर्विस के साथ बेहतर सब्सक्राइबर जुड़े जिनकी वजह से हमारा यह प्लेटफॉर्म टिकाऊ और ​लाभदायक विकास कर रहा है।” जियो की तिमाही आंकड़ों को जारी करते हुए उन्होंने बतया कि ”इस जियो डिजिटल सर्विसेज से कंपनी ने कुल 25,200 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त किया है तो कि पिछले साल की इस तिमाही से 6.4 फीसदी ज्यादा है। वहीं इस दौरान Jio Platforms का शुद्ध लाभ भी 3,795 करोड़ रुपये का रहा जो कि पिछले साल के इसी तिमाही के मुकाबले 8.8 फीसदी ज्यादा है।” जियो प्लेटफॉर्म पिछले कुछ सालों से कंपनी के लिए लाभ का बिजनेस बन गया है। इसे भी पढ़ें : सिर्फ 499 में BSNL दे रहा है 2GB डाटा 90 दिन, इसके आगे Jio Airtel फेल

एक करोड़ से ज्यादा नए उपभोक्ता जुड़े

जियो प्लेटफॉर्म के बारे बताते हुए उन्होंने आगे कहा कि “पिछले साल के 31 दिसंबर तक रिलायंस जियो का उपभोक्ता आधार बढ़कर 421 मिलियन यानी कि 40 करोड़ 20 लाख से ज्यादा का हो गया है। कंपनी ने पिछले एक साल में लगभग 10.2 मिलियन यानी कि एक करोड़ से ज्यादा नए उपभोक्ता जोड़े हैं। मोबाइल के साथ ही कंपनी का फाइबर बिजनेस भी काफी बेहतर रहा और कुल 34.6 मिलियन नए उपभोक्ता जुड़ने से जियो का उपभोक्ता आधार और भी मजबूत हुआ है।” इसे भी पढ़ें : 5G से आगे 6G की तैयारी में जुटा Jio, इस अल्ट्राफास्ट नेटवर्क के हैं जबरदस्त फायदे

जियो का आरपू भी बढ़ा है

इस रिपोर्ट में अंबानी ने जियो के ARPU यानी ऐवरेज रेवेन्यू पर यूूजर का भी जिक्र किया है और बताया कि “Jio के ARPU में भी बेहतर सुधार आया है। इस तिमाही में हमारे डिजिटल प्लेटफार्म का आरपू 151.6 रुपये तक आ गया जो कि पिछले साल के मुकाबले 8.4 फीसदी ज्यादा है। टैरिफ हाइक होने की वजह से यह सुधार हुआ है और टैरिफ हाइक का असार आगे के रिपोर्ट में अभी और देखने को मिलेगा।”

5G सर्विस पर दिया बड़ा बयान

उन्होंने आगे कहा कि “जियो की 5G सर्विस की प्लानिंग देश के लगभग 1000 टॉप शहरों में हो चुकी है और हम इसका ट्रायल हेल्थकेयर और इंडस्ट्रियल ऑटोमेशन सहित अडवांस यूज केस के लिए कर रहे हैं।” गौरतलब है कि 5जी सर्विस के बारे में उन्होंने पहले ही कह दिया था कि रिलायंस जियो भारत में 5जी सर्विस लॉन्च करने वाली देश की पहली कंपनी होगी। इतना नहीं 5G ट्रायल के दौरान कंपनी ने 1 गीगाहर्ट्ज के स्पीड को टच किया था। यानी कि लगभग 1000 एमबीपीएस की गती पाई थी। ऐसे में इस नई सर्विस को लेकर यूजर्स को बड़ी आशायें हैं।


No posts to display