अपनी नई कार खरीदने से पहले उसकी प्री-डिलीवरी इंस्पेक्शन जरूर करें वरना हो सकता है भारी नुकसान

Photo Credit: pushphonda

भारतीय कार बाजार के लिए जून का महीना काफी अच्छा साबित हुआ, कारों की बिक्री के नतीजे पॉजिटिव रहे, जबकि टू-व्हीलर्स की बिक्री भी बेहतर साबित हुई। लॉकडाउन की वजह से पिछले कुछ महीने ऑटो सेक्टर के लिए संतोषजनक नहीं रहे लेकिन अब हालात पहले से बेहतर नज़र आ रहे हैं। हांलाकि इस साल 3 बार कार कंपनियों को मजबूरन गाड़ियों के दाम बढ़ाने पड़े हैं, लेकिन बावजूद इसके जून महीने में बिक्री अच्छी रही। जुलाई का महीना शुरू हो चुका है और इस बार कंपनियों को उम्मीद थोड़ी ज्यादा है कि बिक्री इस बार काफी बेहतर रहेगी, इसलिए इस महीने में भी अच्छे ऑफर्स और डिस्काउंट देखने को मिलने लगे हैं। जब कोई पहली बार नई कार खरीदता है तो उसके लिए वो कार काफी खास होती है। लेकिन नई कार की डिलीवरी लेते वक्त ऐसे ग्राहक काफी उत्साहित होते हैं और कुछ ऐसी गलतियां कर जाते हैं जो उन्हें आगे चलकर काफी ज्यादा परेशान कर देती हैं। अगर आप भी पहली बार कार खरीदने जा रहे हैं तो यहां हम आपको प्री-डिलीवरी इंस्पेक्शन के बारे में जानकारी दे रहे हैं जो आपके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकती हैं और आपको आपकी कार की बेहतर डिलीवरी मिलेगी।

सबसे पहले कार की पूरी बॉडी चेक करें

जो कार अपने पसंद की है और जिसकी डिलीवरी आपको होनी है तो आपको डिलीवरी लेने से पहले उस कार को ठीक से चैक करना होगा, क्योंकि अक्सर कई मामलों में यह देखा गया है कि कार में कुछ स्क्रैच या डेंट के निशान पड़े होते हैं और जल्दबाजी में हम उन पर ध्यान नहीं देते, क्योंकि कई बार गाड़ी को निकालने और डीलरशिप में सही रखरखाव न होने की वजह से गाड़ी की बॉडी में निशान हो जाते हैं, इसलिए अपनी को लेने से पहले उसकी पूरी बॉडी को ठीक से चेक करें।

कैबिन और स्विच की जांच करें

बाहरी जांच ठीक से होने के बाद अब बारी आती है कार के केबिन की, कार की डिलीवरी लेने से पहले कार इसके सभी स्विच को ठीक से चेक कर लें साथ ही यह भी चेक करें कि सभी स्विच ठीक से काम कर रहे हैं या नहीं। इसके अलावा यह भी चेक करें कि केबिन में किसी भी तरह का कोई निशान न हो, इसी प्रकार सीटों को भी ठीक से देख लें। कार के मैट्स को देखें कि कहीं से कटे-फटे ना हो।  इसके अलावा कार के डोर हैंडल्स भी चेक करें कि किसी तरह का कोई स्क्रैच डोर हैंडल्स पर तो नहीं है।

AC और इंजन को चेक करें

 डिलीवरी लेने से पहले कार को स्टार्ट करके जरूर देखें, अगर इंजन की आवाज़ नॉर्मल है तो ठीक है और अगर आपको कोई असामान्य आवाज़ सुनाई दे तो तुरंत इसके बारे में डीलर से बात करें। इसके अलावा एग्जॉस्ट से निकलने वाले काले धुएं को भी चेक करना न भूलें। और सबसे जरूरी बात कार के AC की जांच जरूर करें कि कूलिंग ठीक से मिल रही है या नहीं। ध्यान रहे अक्सर डीलर्स आपको बातों में उलझाकर बहुत सी बातें छुपा जाते हैं और बाद में आपको दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इसलिए कार की जांच बेहद जरूरी है।

डॉक्यूमेंट्स को ठीक से जांच  

जब आप अपनी नई कार को ठीक से कर चुके हैं तो उसके बाद गाड़ी के सभी पेपर्स को भी ठीक से देख ले और पड़ लें। आपको पेमेंट बिल, पर्मानेंट रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट, इंश्योरेंस पेपर, मैन्युअल्स, वॉरंटी कार्ड, रोडसाइड असिस्टेंस नंबर और सर्विस बुक जैसे डाक्यूमेंट्स पूरे दिए हैं या नहीं। कोई जल्द बाजी न दिखाए और तसल्ली से अपनी कार की जांच करें जब सब कुछ सही हो तो आपनी अपनी कार को घर ले जा सकते हैं और ड्राइव का एन्जॉय के सकते हैं।