Compact SUV आखिर देश में क्यों हो रही हैं कामयाब ? जानें 7 बड़े कारण

भारत में एसयूवी गाड़ियों ने हमेशा से ही लोगों को आकर्षित किया है। महंगी होने की वजह से यह सेगमेंट आम ग्राहकों की पहुंच से दूर ही रहा। लेकिन जब भारतीय कार बाजार में कॉम्पैक्ट एसयूवी सेग्मेंट का जन्म हुआ तो यह सेगमेंट तेजी से लोकप्रिय होने लगा। फोर्ड ईको स्पोर्ट और रेनो डस्टर ने इस सेगमेंट को काफी मजबूत किया है, और अब मारुति सुजुकी विटारा ब्रेजा, हुंडई वेन्यू , टाटा नेक्सन और किआ सोनेट के आने के बाद यह  तेजी से ग्रोथ कर रहा है।  हाल ही में निसान ने भी अपनी कॉम्पैक्ट एसयूवी ‘मैग्नाइट’ से पर्दा उठाया है। हुंडई मोटर इंडिया के असिस्टेंट वीपी, ग्रुप हैड – कॉर्पोरेट अफेयर्स, पुनीत आनंद के मुताबिक यह सेगमेंट बजट में फिट होने की वजह से यह सेगमेंट 25 से 30 वर्ष के ग्राहकों के बीच काफी पसंद किया जाता है। यह एक नया सेगमेंट है जो अगले पांच वर्षों में तेजी से बढ़ेगा। यूरोप और अमेरिका में तो यह सेगमेंट पहले से ही लोकप्रिय है। सेल्स रिपोर्ट के मुताबिक भी भारत में सबसे ज्यादा बिकने वाली टॉप 10 गाड़ियों में कॉम्पेक्ट एसयूवी गाड़ियों का दबदबा रहता है। प्रीमियम हैचबैक कार से लेकर कॉम्पैक्ट सेडान कार सेगमेंट के ग्राहक भी अब कॉम्पैक्ट एसयूवी सेग्मेंट की तरफ रुख कर रहे हैं।

कॉम्पेक्ट एसयूवी सेग्मेंट की कामयाबी के 7 बड़े कारण

1. बजट में फिट: कॉम्पेक्ट एसयूवी सेग्मेंट की शुरुआत करीब 7 लाख रुपये से लेकर 13 लाख रुपये तक जाती है। बाजार में इस समय कई विकप्ल भी मौजूद हैं। यही कार है कि फर्स्ट टाइम बायर्स भी अब इस सेगमेंट की तरफ मूव कर रहे हैं।

2. स्टाइलिश डिजाइन और प्रीमियम इंटीरियर: भारत में कॉम्पैक्ट एसयूवी गाड़ियों के लोकप्रिय इसलिए भी हो रही हैं क्योंकि इनमें स्टाइलिश और स्पोर्टी डिजाइन के साथ प्रीमियम इंटीरियर भी देखने को मिलता है। कॉम्पैक्ट एसयूवी का बॉक्सिंग आकार उन्हें भीड़ से अलग करता है। अगर आप ऐसे व्यक्ति हैं जो सड़क पर लोगों का ध्यान आकर्षित करना पसंद करते हैं तो कॉम्पैक्ट एसयूवी  आपके लिए है।

3. ऊंची ड्राइविंग पॉजिशन: हैचबैक और सेडान कारों के मुकाबले कॉम्पेक्ट एसयूवी ऊंची रहती है, इससे ड्राइवर को ट्रैफिक का अच्छा व्यू मिलता है और लेन बदलने में भी आसानी होती है। यही कार है कि महिला वर्ग को भी कॉम्पैक्ट एसयूवी काफी पसंद आ रही है।

4.कॉम्पेक्ट एसयूवी का मज़ा वीकेंड पर: भारत में अब लोग वीकेंड पर ज्यादा ट्रैवल करना पसंद करते हैं, और इसके कॉम्पेक्ट एसयूवी बेहतर विकप्ल साबित हो रही है। क्योंकि इनमें दमदार सस्पेंशन और बड़े टायर्स की वजह से सिटी, हाइवे और खराब रास्तों पर कॉम्पेक्ट एसयूवी आसानी से निकल जाती है और भीतर बैठे पैसेंजर्स को कोई दिक्कत महसूस नहीं होती। इसके अलावा कॉम्पेक्ट एसयूवी में काफी बेहतर स्पेस मिल जाता है, 5 लोग आराम से लंबी यात्रा कर सकते हैं। इसके अलावा सामान के लिए भी काफी जगह मिल जाती है।

5. AMT गियरबॉक्स और इलेक्ट्रिक पावर स्टेयरिंग: कॉम्पेक्ट एसयूवी अब AMT गियरबॉक्स के साथ आने लगी हैं जिसकी वजह से इन्हें ड्राइव करना बेहद आसान बनता है। इलेक्ट्रिक पावर स्टेयरिंग होने की वजह से हैवी ट्रैफिक में भी थकान महसूस नहीं होती। सेफ्टी के लिए भी इनमें कई फीचर्स देखने को मिलते हैं।

6.ज्यादा ग्राउंड क्लेरेंस: भारत में सड़कों की हालत तो सबसे सामने हैं, कॉम्पेक्ट एसयूवी में ज्यादा ग्राउंड क्लेरेंस दिया जाता है ताकि खराब और उबड़-खाबड़ रास्तों पर ये आसानी से निकल सकें। कॉम्पेक्ट एसयूवी में ज्यादा ग्राउंड क्लेरेंस 190 mm से 209mm तक रहता है। जबकि हैचबैक और सेडान में इतना ग्राउंड क्लियरेंस नहीं मिलता

7. पेट्रोल और डीजल इंजन ऑप्शन में : कॉम्पैक्ट एसयूवी में पेट्रोल और डीजल इंजन के ऑप्शन  देखने को मिल रहे हैं। ग्राहक अपनी जरूरत के हिसाब से इनका चुनाव कर सकता है। ज्यादा इंजन ऑप्शन होने की वजह से यह सेगमेंट काफी पसंद किया जा रहा है।

कॉम्पेक्ट एसयूवी सेगमेंट के लोकप्रिय मॉडल

हुंडई वेन्यू

(6.75 लाख रुपये से 11.59 लाख रुपये के बीच)

मारुति सुजुकी ब्रेजा विटारा

(7.34 लाख रुपये से 11.40 लाख रुपये के बीच)

फोर्ड इकोस्पोर्ट

8.19 लाख रुपये से 11.73 लाख रुपये के बीच

रेनो डस्टर

8.59 लाख रुपये से 13.59 लाख रुपये के बीच

टाटा नेक्सन

6।99 लाख रुपये से 10।74 लाख रुपये के बीच

Kia सोनेट

6.71 लाख रुपये से 11.99 लाख रुपये के बीच

इस समय भारत में कॉम्पैक्ट एसयूवी सेगमेंट में काफी हलचल है, तेजी से बढ़ते इस सेगमेंट में आज लगभग हर बड़ी कार कंपनी दाव लगा रही है। अब लोग भी एक ऐसे गाड़ी खरीदने की सोचते हैं जो वैल्यू फॉर मनी हो। और यही कारण है कि कॉम्पेक्ट एसयूवी ने लोगों की मानसिकता को बदला है और उन्हें अपनी तरफ आकर्षित भी किया है।