BGMI Ban: PUBG के बाद अब BGMI भी हुए बैन! जानें इसकी पूरी डिटेल

जिन यूजर्स के पास पहले से स्मार्टफोन में बीजीएमआई इंस्टॉल हैं, वे अभी भी गेम खेलने में सक्षम हैं।

BGMI

PUBG बैन के करीब 2 साल बाद BGMI (Battlegrounds Mobile India) का बैन होना इंडियन गेमिंग लवर्स के लिए एक बड़ा झटका है। खबर यह है कि बैटल रॉयल शूटर बीजीएमआई को Google Play Store और App Store दोनों से डी-लिस्ट/ब्लॉक किया गया है। गेम वर्तमान में आईओएस या एंड्रॉयड पर डाउनलोड के लिए उपलब्ध नहीं है, लेकिन जिनके पास गेम पहले से इंस्टॉल हैं, वे अभी भी सर्वर तक पहुंच सकते हैं और गेम खेल सकते हैं। Google के एक आधिकारिक ने पुष्टि की है कि सरकारी आदेश के बाद गेम को Play Store से हटा लिया गया है।

BGMI ban in India

BGMI देश में हुआ बैन

खबर यह भी आ रही है कि विदेश सर्वर पर यूजर्स के डेटा को ट्रांसफर करने की वजह से सरकार ने यह कार्रवाई है। जब PUBG मोबाइल को देश में बैन किया गया था, तो उस समय भी डेटा ट्रांसफर मुख्य वजहों में से एक था। 2021 में IGN इंडिया की एक रिपोर्ट से पता चला है कि गेम के बीटा रिलीज के डेटा को मूल कंपनी Tencent के बीजिंग के स्वामित्व वाले सर्वर में माइग्रेट कर दिया गया था। हालांकि यह इस गेम के लिए एक रेड फ्लैग की तरह ही था। मगर यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि ये सर्वर गेम के बीटा बिल्ड के लिए थे। बता दें कि जब भारत में फाइनल गेम को जारी किया गया था, तो डेटा माइग्रेशन से संबंधित मुद्दे को देखते हुए देश के भीतर ही सर्वर लगाए गए थे। वर्तमान में भारत में BGMI का सर्वर है।

बीजीएमआई (BGMI) से संबंधित एक मुद्दा हाल ही में राज्यसभा में उठाया गया था। कानूनविद इस बात पर चर्चा कर रहे थे कि क्या एक्शन टाइटल का बच्चों पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है। उच्च सदन एक मीडिया रिपोर्ट पर चर्चा कर रहे थे जिसमें पिछले महीने की लखनऊ वाली घटना भी है, जिसमें एक बच्चे ने PUBG की वजह से अपनी मां की हत्या कर दी थी।

केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने 22 जुलाई को कहा कि कानून प्रवर्तन एजेंसियां इस ​​मामले की जांच कर रही है। हालांकि जिन यूजर्स के पास पहले से स्मार्टफोन में बीजीएमआई इंस्टॉल हैं, वे अभी भी गेम खेलने में सक्षम हैं। हालांकि कंपनी ने हाल ही में एक अपडेट जारी किया है, जो इसके संभावित प्रतिबंध को लेकर खिलाड़ियों को चिंतित कर रहा है। बता दें कि पिछले साल जब BGMI ने भारत में वापसी की थी, तो गेम के निर्माता क्राफ्टन ने कहा कि उसने चीन स्थित Tencent के साथ संबंध तोड़ लिए हैं और भारतीय यूजर्स के डेटा की सुरक्षा की जाएगी। कंपनी ने बीजीएमआई की मेजबानी के लिए माइक्रोसॉफ्ट के Azure के साथ करार किया था। Azure Microsoft की सार्वजनिक क्लाउड कंप्यूटिंग सेवा है, जो गेम क्रिएटर्स को वैश्विक स्तर पर अपने गेम बनाने, चलाने और विकसित करने के लिए सशक्त बनाती है।