5G स्पेक्ट्रम के बारे में यहां जानें सबकुछ, जल्द मिलेगी सबसे तेज इंटरनेट स्पीड

भारत में 5G सेवाएं जल्द शुरू हो जाएगी। यहां तक कि स्पेक्ट्रम की नीलामी में अब केवल एक दिन का समय ही बचा है।

5G
5G

भारत में सबसे तेज स्पीड के साथ इंटरनेट की पेशकश अब दूर नहीं है। 5g auction को लेकर पिछले 1 साल में काफी कुछ देखने को मिला है। भारत में मौजूद टेलीकॉम कंपनियों ने इसके लिए काफी अच्छी तैयारी भी कर ली है। सरकार भी 5G Spectrum को लेकर काफी तेज हो गई है। कंपनियां अब केवल नीलामी के इंतजार में हैं, जैसे ही सरकार 5g auction India नीलामी प्रक्रिया पूरी कर लेगी, भारत में 5G सेवाएं जल्द शुरू हो जाएगी। भारत में 5G सेवाएं जल्द शुरू हो जाएगी। यहां तक कि स्पेक्ट्रम की नीलामी में अब केवल एक दिन का समय ही बचा है। आइये, आपको 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी की तारीख, फ्रीक्वेंसी बैंड और कीमत के बारे में पूरी जानकारी बताते हैं।

5G स्पेक्ट्रम की नीलामी के बारे में जानें

आने वाले भविष्य में 5G तकनीक से लैस तेज इंटरनेट गति के इस्तेमाल के लिए सभी कंपनियों को 5G स्पेक्ट्रम नीलामी से गुजरना होगा। यह एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसमें कंपनियों को 5जी तकनीक चलाने के लिए बैंड खरीदने होंगे। वहीं सरकार द्वारा आयोजित ऑक्शन में सभी रजिस्टर्ड कंपनियों को बोली लगाने का हक होगा।

कब होगी 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी

भारत में 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी कल यानी 26 जुलाई को होना तय है। यह नीलामी जब तक जारी रहेगी जब तक सभी स्पेक्ट्रम बैंड पर बोली नहीं लग जाती।

यह भी पढ़ें: Vodafone Idea के इन रिचार्ज प्लान के साथ फ्री में देखें Disney+ Hotstar, जानें डिटेल

क्या होगी 5G स्पेक्ट्रम की कीमत, वैलिडिटी और कैसे होंगे फ्रीक्वेंसी बैंड

डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकम्युनिकेशन (DOT) ने 72 गीगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम को मंजूर दी है। जिसकी कीमत 4.3 लाख करोड़ बताई जा रही है। वैलिडिटी की बात करें, तो यह आने वाले 20 सालों तक बनी रहेगी। इसके साथ ही नीलामी में 600 Mhz, 700 Mhz, 800 Mhz, 900 Mhz, 1800 Mhz, 2100 Mhz, 2300 Mhz, 2500 Mhz, मिड में 3.3-3.67 Ghz और हाई में 26 Ghz बैंड्स पर बोली लगेगी। सरकार का कहना है, जो कंपनियां 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी को हासिल करेंगी, उन्हें पूरा भुगतान एक साथ करने की जरूरत नहीं होगी। वे समय लेकर 20 किस्तों में भी यह पैसा चुका सकती हैं।

कंपनियां जो होंगी नीलामी में शामिल

DOT ने Jio, Airtel, Vi और Adani Group जैसी कंपनियों को इस ऑक्शन में शामिल होने की मंजूरी दी है। यह कंपनियां शुरुआत के 5G स्पेक्ट्रम के नीलामी का हिस्सा बनेगी। इसके साथ ही इन सभी कंपनियों ने सरकार को शुरुआती कीमत भी अदा कर दी है। बताया गया है कि रिलायंस जिओ ने अब तक 14,000 करोड़ रुपये दिए हैं। भारती एयरटेल ने 5,500 करोड़ रुपये डिपॉजिट किए हैं। अगर vodafone-idea की बात करें तो कंपनी ने 2,200 करोड़ रुपए जमा कराए हैं, वहीं अदानी डाटा नेटवर्क ग्रुप ने करीब 100 करोड़ कीमत जमा करवाई है।

यह भी पढ़ें: 8GB रैम और 64MP कैमरा वाले POCO M4 Pro पर 8,000 रुपये का डिस्काउंट, जानें नई कीमत

कब होगी भारत में 5G की शुरुआत

आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव के मुताबिक 5G तकनीक अगस्त से सितंबर के बीच 20 से 25 शहरों में शुरू हो सकती है। इसके साथ ही आने वाले कुछ समय में तकनीक को ज्यादा से ज्यादा शहरों में बढ़ाया जाएगा। बता दें कि इससे पहले भारत के 13 प्रमुख शहरों में इसकी शुरुआत होने की बात कही गई थी, लेकिन फिलहाल 20-25 शहरों के बारे में कहा गया है।

कैसी होगी 5G तकनीक से लैस स्पीड

भारत में मौजूद रिलायंस जिओ, एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने 5G तकनीक को लेकर ट्रायल भी किया है। बताया गया है कि ट्रायल के दौरान 5.92 जीबीपीएस की स्पीड सामने आई थी। यह स्पीड vodafone-idea द्वारा हासिल की गई थी, जबकि एयरटेल ने 3 GBPS की स्पीड और जिओ ने 1 GBPS की तेज स्पीड दिखाई थी। बताते चलें कि यह स्पीड आने वाले कुछ समय में कम भी हो सकती है, क्योंकि जैसे-जैसे 5जी के यूजर्स देश में बढ़ेंगे, स्पीड में भी कमी देखने को मिल सकती है। अब देखना यह है कि कल यानी 26 जुलाई को होने वाली नीलामी के बाद क्या कुछ नया सामने आता है।

यह भी पढ़ें: 20,000 रुपये सस्ता मिल रहा LG का 43 इंच 4K स्मार्ट टीवी, जल्द उठाए इस डील का फायदा


अंकित ने पत्रकारिता की शुरुआत स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट के रूप में की थी लेकिन तकनीकी के प्रति विशेष रुझान इन्हें Mysmartprice हिंदी में लेकर आया है। पत्रकारिता के दौरान इन्होंने एक चीज बखूबी सीखा है और वह है आसान भाषा में लोगों को सटीक जानकारी देना। और यही खूबी इन्हें दूसरों से अलग बनाती है। यहां अंकित मोबाइल और तकनीक के साथ ऑटोमोबाइल्स सेग्मेंट को भी कवर करते हैं। पत्रकारिता में इन्हें 5 साल से ज्यादा का अनुभव है जहां इन्होंने राज एक्सप्रेस, थिंक विथ नीश, स्टेट न्यूज और बंसल न्यूज जैसे आर्गेनाइजेशन में अपना योगदान दिया है। इन्होंने माखनलाल चतुर्वेदी नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ जर्नलिज्म एंड कम्यूनिकेशन से मास्टर डिग्री ली है। साथ ही टाइम्स ग्रुप से बैंकिंग मैनेजमेंट में डिप्लोमा भी किया है।