फिर टेलीकॉम कंपनियां डालने वाली हैं जेब पर डाका, 10-12 प्रतिशत तक महंगे हो जाएंगे Prepaid Plan, जानें डिटेल

Jio, Airtel, Vi Prepaid Recharge Plan

महंगाई के इस दौर में एक और झटके के लिए तैयार रहें। दरअसल, भारती एयरटेल (Airtel), रिलायंस जियो (Reliance Jio) और वोडाफोन आइडिया (Vodafone Idea) जैसी प्राइवेट टेलीकॉम ऑपरेटर दिवाली 2022 तक अपनी प्रीपेड योजनाओं (prepaid plans) की कीमतों में फिर से वृद्धि कर सकती हैं। नई रिपोर्ट के मुताबिक, इस नई बढ़ोतरी से प्रीपेड टैरिफ में 10-12 फीसदी की बढ़ोतरी हो सकती है। आपको बता दें कि तीनों टेलीकॉम ऑपरेटरों ने इससे पहले नवंबर 2021 में अपने प्रीपेड प्लान (prepaid plans) की कीमतों में बढ़ोतरी की थी।

अमेरिकी इक्विटी रिसर्च फर्म William O’ Neil & Co कंपनी की भारतीय इकाई में इक्विटी रिसर्च के प्रमुख मयूरेश जोशी के हवाले से ईटी टेलीकॉम की रिपोर्ट के मुताबिक, टेलीकॉम कंपनियां एक बार फिर 10-12 प्रतिशत की बढ़ोतरी कर सकती है। एयरटेल, जियो और वोडाफोन आइडिया के लिए ARPU (एवरेज रेवेन्यू पर यूजर) को बढ़कर क्रमशः 200 रुपये, 185 रुपये और 135 रुपये हो जाएंगे।
यह भी पढ़ेंः TATA Nexon EV MAX जितनी है 2022 Triumph Tiger 1200 एडवेंचर बाइक की कीमत, आखिर क्या है इसमें खास

रिपोर्ट के अनुसार, वोडाफोन-आइडिया के कम भुगतान वाले 2G ग्राहक कंपनी के राजस्व को नुकसान पहुंचा रहे हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, न केवल नए ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए रणनीति बनाई जानी चाहिए, बल्कि लीगेसी नेटवर्क यूजर्स को 4G सेवाओं में अपग्रेड करने के लिए प्रेरित करना चाहिए।

नवंबर 2021 में भी एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने घोषणा की कि टेलीकॉम प्रीपेड टैरिफ में 20-25 प्रतिशत तक की वृद्धि करेंगे। इसके बाद रिलायंस जियो के लोकप्रिय लो-टियर प्लान जैसे 79 रुपये की योजना 99 रुपये की हो गई, जबकि higher-tier plans की कीमतों में तीन अंकों तक की वृद्धि देखी गई। 84 दिनों की वैधता के साथ एयरटेल का 2GB प्रतिदिन का प्लान 698 रुपये से बढ़कर 839 रुपये हो गया। डेटा बूस्टर जिनकी कीमत क्रमशः 3GB, 12GB और 50GB के लिए 48 रुपये, 98 रुपये और 251 रुपये थी, कीमत में वृद्धि के बाद 58 रुपये, 118 रुपये और 301 रुपये हो गई थी।

प्रीपेड योजनाओं में टैरिफ वृद्धि भारती एयरटेल को 200 रुपये के एआरपीयू के अपने शॉर्ट टर्म लक्ष्य तक पहुंचने में मदद करेगी, लेकिन मध्यम से लंबी अवधि में एयरटेल चाहता है कि उसका एआरपीयू 300 रुपये के स्तर को पार कर जाए। इसका मतलब है कि आने वाले वर्षों में कई और टैरिफ बढ़ोतरी देखने को मिल सकते हैं। उम्मीद की जा रही है कि वोडाफोन आइडिया टैरिफ बढ़ोतरी की अपनी रणनीति में एयरटेल का अनुसरण करेगी। एयरटेल जितना अधिक टैरिफ बढ़ाता है, वोडाफोन-आइडिया भी वहीं करेगा। इस साल एक और टैरिफ वृद्धि के बाद भी वीआई का एआरपीयू 150 रुपये के आंकड़े को पार नहीं कर सकता है, जो कंपनी के निवेशकों के लिए एक खतरनाक बात है।
यह भी पढ़ेंः Komaki के नए Electric Scooter 180 km रेंज, 80 km की टॉप स्पीड के साथ हुए लॉन्च , जानें कीमत और खूबियां