Airtel को भरना होगा बड़ा जुर्माना, ग्राहक के साथ हुआ था धोखा

Airtel refuses to refund rs 20 to bengaluru customer, court fines 1020 ruppee
Airtel prepaid plans

भारत की जानी-मानी टेलीकॉम कंपनी Airtel पर कोर्ट ने जुर्माना ठोक दिया है। कंपनी ने कभी सोचा भी नहीं होगा कि एक मामूली से ग्राहक के चक्कर में उन्हें 50 गुना से भी ज्यादा का जुर्माना भरना पड़ेगा। दरअसल यह मामला बेंगलुरु का है, जहां किसी ग्राहक ने रिचार्ज के बदले 20 रुपये का रिफंड मांगा था, लेकिन उन्हें केवल निराशा ही हाथ लगी। ग्राहक ने इसकी शिकायत कंजूमर फोरम में कर दी, मसले का हल नहीं निकला तो मामला कोर्ट तक पहुंच गया और कोर्ट ने एयरटेल पर जुर्माना लगा दिया है। आइए, आपको बताते हैं इस खबर का पूरा सच क्या है।

यह भी पढ़ेंः XUV 700 की डिजाइनर अब करेंगी Ola Electric कार को डिजाइन

एयरटेल ने 20 रुपये के रिचार्ज को बताया इनवैलिड

समाचार पत्र टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक बेंगलुरु में रहने वाले एएम शरीफ हुसैन ने अपने एयरटेल प्रीपेड नंबर पर 49 रुपये का रिचार्ज किया था। जिसके बाद 4 अगस्त 2021 को उनका टॉक टाइम खत्म हो गया था। टॉकटाइम खत्म होने के बाद उन्होंने अपने टॉक टाइम को बढ़ाने के लिए 20 रुपये का टॉप अप करवा लिया। जिसके बाद उन्हें ट्रांजैक्शन का मैसेज भी मिला और 14.95 का टॉक टाइम भी मिला। बावजूद इसके ग्राहक को इनकमिंग और आउटगोइंग कॉल करने में समस्या आ रही थी। कुछ देर बाद ग्राहक को एक नया मैसेज मिला, जिसमें सूचना दी गई थी कि 20 रुपये में किया गया रिचार्ज इनवैलिड है।

ग्राहक ने लगाई कस्टमर केयर पर गुहार

रिचार्ज इनवेलिड बताने के बाद ग्राहक ने कस्टमर केयर पर गुहार लगाई। कस्टमर केयर ने उन्हें बताया कि 49 रुपये वाला प्लान वह पहले यूज कर रहे थे, इसे सस्पेंड किया गया है और फोन को एक्टिवेट करने के लिए उन्हें 79 रुपये का रिचार्ज करना होगा। जब बात कस्टमर केयर पर भी नहीं बनी, तो उन्होंने एयरटेल रिप्रेजेंटेटिव से बात की, लेकिन ग्राहक को हर जगह निराशा ही हाथ लगी। अब ग्राहक करे भी तो क्या, उसने कंजूमर कोर्ट में इसकी शिकायत कर दी। इस केस को लड़ने के लिए उन्होंने खुद मेहनत की और कोर्ट को अपने साथ हुई घटना के बारे में बताया।

यह भी पढ़ेंः भारत में लॉन्च हुए Vivo T1 Pro 5G और T1 44W स्मार्टफोन्स, मिलेगी पॉवरफुल टर्बो परफॉरमेंस

कोर्ट ने एयरटेल को माना दोषी

इस मामले में कोर्ट ने Airtel को दोषी माना है, जानकारी के अनुसार कोर्ट में कहा गया है कि एयरटेल ने 20 रुपये की राशि हासिल की थी और कस्टमर को 79 रुपये के रिचार्ज की डिमांड भी की थी। कोर्ट ने आगे कहा कि एयरटेल की जिम्मेदारी थी कि वे कस्टमर को 20 रुपये रिफंड करती, लेकिन एयरटेल इसमें विफल रहा। मामले की जांच करते हुए कोर्ट ने एयरटेल की गलती को माना और ग्राहक को 20 रुपये रिफंड सहित 500 रुपये का डैमेज चार्ज और 500 का अतिरिक्त चार्ज जोड़ते हुए करीब 50 गुना ज्यादा 1,020 रुपये देने का आदेश दिया है।


अंकित ने पत्रकारिता की शुरुआत स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट के रूप में की थी लेकिन तकनीकी के प्रति विशेष रुझान इन्हें Mysmartprice हिंदी में लेकर आया है। पत्रकारिता के दौरान इन्होंने एक चीज बखूबी सीखा है और वह है आसान भाषा में लोगों को सटीक जानकारी देना। और यही खूबी इन्हें दूसरों से अलग बनाती है। यहां अंकित मोबाइल और तकनीक के साथ ऑटोमोबाइल्स सेग्मेंट को भी कवर करते हैं। पत्रकारिता में इन्हें 5 साल से ज्यादा का अनुभव है जहां इन्होंने राज एक्सप्रेस, थिंक विथ नीश, स्टेट न्यूज और बंसल न्यूज जैसे आर्गेनाइजेशन में अपना योगदान दिया है। इन्होंने माखनलाल चतुर्वेदी नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ जर्नलिज्म एंड कम्यूनिकेशन से मास्टर डिग्री ली है। साथ ही टाइम्स ग्रुप से बैंकिंग मैनेजमेंट में डिप्लोमा भी किया है।