BSNL 4G Launch: TCS के साथ मिल कर शुरू होगा 4G, देश के कोने-कोने में मिलेगा फास्ट नेटवर्क

खास बात यह है कि (Bharat Sanchar Nigam Limited) भारत संचार निगम लिमिटेड यानी बीएसएनल को 4G शुरू करने के लिए बोर्ड से मंजूरी भी मिल चुकी है।

Highlights

  • एक लाख से ज्यादा साइट्स पर शुरू होगा BSNL 4G
  • TCS टाटा कंसलटेंसी सर्विसेज के साथ मिलकर होगा 4G शुरू
  • 4G उपकरणों की कीमत 13,000 करोड़ के करीब

59415

अब वह दिन दूर नहीं है जब भारत में BSNL 4G नेटवर्क शुरू होने वाला है। आपको बता दें कि बीएसएनएल 4G लॉन्च को लेकर एक बड़ी खबर सामने आ रही है। बताया गया है कि कंपनी देश में करीब एक लाख से ज्यादा साइट्स पर 4G नेटवर्क शुरू करने वाली है। खास बात यह है कि (Bharat Sanchar Nigam Limited) भारत संचार निगम लिमिटेड यानी बीएसएनल को 4G शुरू करने के लिए बोर्ड से मंजूरी भी मिल चुकी है। यही नहीं कंपनी देश की प्रमुख टेक कंपनी (Tata Consultancy Services) टाटा कंसलटेंसी सर्विसेज के साथ मिलकर 4G सेवा शुरू करने वाली है। इसके लिए टीसीएस, बीएसएनएल को 24,500 करोड़ रुपये के जरूरी इक्विपमेंट प्रदान करेगी। आइए, आगे आपको बीएसएनल के 4G नेटवर्क की शुरुआत को लेकर पूरी डिटेल बताते हैं।

देश के कोने-कोने में मिलेगा BSNL 4G

जानकारी के लिए बता दें कि भारत संचार निगम लिमिटेड और टाटा कंसलटेंसी सर्विसेज की साझेदारी के बाद भारत में करीब 1 लाख जगहों पर 4G सेवा शुरू होने वाली है। इस डील के लिए कंपनी ने बोर्ड से इजाजत मांगी थी। बोर्ड की मंजूरी मिलने के बाद टीसीएस बीएसएनल को 24,556.37 करोड़ रुपये के इक्विपमेंट्स प्रदान करेगी।

यह भी पढ़ेंः BSNL के इन किफायती Prepaid Plans में अनलिमिटेड कॉल के साथ मिलेंगे ढेरों बेनिफिट्स, जानें डिटेल

BSNL 499 recharge Plan
BSNL

टीसीएस कंपनी बीएसएनएल को अगले 10 सालों के लिए 4G सेवा में लगने वाले सभी इक्विपमेंट्स और तकनीकी सेवाएं भी प्रदान करेंगी। इन तकनीकी सेवाओं में टीसीएस द्वारा बनाए गए सिस्टम इंटीग्रेटर भी होंगे। बताया गया है कि इन सभी 4G उपकरणों की कीमत 13,000 करोड़ के करीब है। टीसीएस के अलावा तेजस नेटवर्क भी बीएसएनएल 4G सेवा के लिए काम करेगा। जहां Tejas Networks की भूमिका बीएसएनएल के लिए 4जी इक्विपमेंट्स बनाने की होगी।

BSNL
BSNL

कितना समय लगेगा

फिलहाल BSNL 4G नेटवर्क से जुड़े मसले पर बोर्ड की मंजूरी जरूर मिल गई है, लेकिन फिर भी 4G शुरू होने में वक्त लग सकता है। ET की एक रिपोर्ट में सामने आया है कि बोर्ड के फैसले के बाद बीएसएनएल कंपनी को Department of Telecommunications (DoT) के पास जाना होगा। इसके बाद डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकम्यूनिकेशन फाइल को आगे बढ़ाएगा। फिर आगे यह फाइल ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स (Group of Ministers ) (GOM) को भेजी जाएगी। यानी कि बीएसएनएल 4G की शुरुआत के लिए दोनों की मंजूरी मिलना जरूरी है। अब देखना यह है कि यह काम कितनी जल्दी पूरा हो पाता है और कब तक 4G की शुरुआत होती है। 

यह भी पढ़ेंः Jio के 199 रुपये के प्लान से क्या बेहतर है Airtel का यह प्लान, जानें यहां

Web Stories