Covid impact: कार कंपनियों के लिए खराब रहा मई का महीना, गाड़ियों की बिक्री पर लगा ब्रेक

भारतीय कार बाजार में इस साल लगातार अच्छा परफॉर्म कर रही थीं कार कंपनियां, लेकिन एक बार फिर कोरोना वायरस ने कार कंपनियों की बिक्री में ब्रेक लगा दिया। पिछले साल लगे लंबे लॉकडाउन और कोविड-19 के चलते बने हालातों से ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री उबर ही रही थी, लेकिन इस साल कोविड-19 की दूसरी लहर ने फिर से परेशान कर दिया। इस साल कारों की बिक्री लगातार बेहतर करती दिख रही थी लेकिन मई के महीने में तगड़ा ब्रेक लगा है।

भारत में सबसे ज्यादा कार बेचने वाली कार निर्माता कंपनी  मारुति सुजुकी ने मई 2021 में सिर्फ 33,771 गाड़ियां ही ही बेचीं  इसके अलावा 11,262 गाड़ियों को एक्सपोर्ट भी किया और 1522 यूनिट्स दूसरी कंपनी को डिलीवर की गईं। वहीं कार कंपनी हुंडई मोटर इंडिया ने पिछले महीने 25,001 यूनिट्स बेचीं। जबकि मई 2020 में कंपनी ने 6883 गाड़ियां ही बेचीं थीं, उस समय भी देश में लॉकडाउन लगा हुआ था । वैसे देखने वाली बात यह है कि आम दिनों में मारुति करीब 1.25 से 1.50 लाख गाड़ियां हर महीने बेच देती है जबकि हुंडई मोटर इंडिया भी करीब 50 से 60 हजार गाड़ियां हर महीने बेचती है।

बात टाटा मोटर्स की करें तो कंपनी ने मई 2021 में 15,181 पैसेंजर वाहन बेचे। कंपनी ने पिछले महीने यानी अप्रैल में 25,095 यूनिट्स निकाली थीं और पिछले साल मई में 3,152 गाड़ियां ही बिक पाई थीं। इसके अलावा होंडा कार्स इंडिया भी देश के अलग-अलग हिस्सों में लगे लॉकडाउन के चलते महज 2032 यूनिट्स ही पिछले महीने बेच पाई। टोयोटा भी पिछले महीने महज 707 गाड़ियां ही बेच पाई। जबकि पिछले साल मई में 1639 यूनिट्स बिकी थीं और पिछले महीने कंपनी ने 9622 यूनिट्स बेची थीं।

कुल मिलाकर देखा जाए तो मई का महीना कार कंपनियों के लिए अच्छा साबित नहीं हुआ, बिक्री में हुई गिरावट काफी चिंताजनक है, और अगर ऐसा लगातार चलता रहा तो देश में ऑटो कंपनियों की कमर ही टूट जायेगी। उम्मीद की जा रही है जून का महीना कारों की बिक्री को बूस्ट कर सकता है।  

क्या चमकेगा बाजार ?

उम्मीद की जा रही है जून का महीना कारों की बिक्री को बूस्ट कर सकता है। क्योंकि लॉकडाउन धीरे-धीरे खुल रहा है और लोग खरीदारी जरूर करेगें, कोरोना के डर के मारे लोग कहीं भी जाने से कतरा रहे हैं और अपनी सेफ्टी के लिए घर में ही कैद हैं, इसके अलावा कुछ अच्छे ऑफर्स और डिस्काउंट भी गाड़ियों की बिक्री को बढ़ा सकते हैं साथ ही नई-नई स्कीम्स भी फायदेमंद साबित हो सकती हैं।

यह कहना भी गलत नहीं होगा कि लोगों के पास पैसा नहीं है लेकिन लोग अभी किसी भी नए प्रोडक्ट में पैसा लगाने से कतरा रहे हैं। बाजार एक्सपर्ट मानते हैं धीरे-धीरे मार्केट अपनी रफ़्तार में होगा। कार बाजार एक्सपर्ट की मानें तो इस मानसून गाड़ियों की बिक्री पर अच्छा असर जरूर पड़ेगा। और जून के महीने में भी  फोर व्हीलर और 2 व्हीलर्स कंपनियों की बिक्री में इजाफा देखने को मिल सकता है। ऑटो कंपनियां भी इसी इन्तजार में हैं कि उनकी बिक्री सही ट्रैक पर आये वरना ऑटो जगह को काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है। तो आप भी एक नई कार खरीदने की सोच रहे हैं तो पूरी सेफ्टी के साथ शो-रूम जायें