फिर फटी इलेक्ट्रिक टू व्हीलर की बैटरी, तेलंगाना में हुआ हादसा 

26757

देश और दुनिया में इलेक्ट्रिक वाहनों का बढ़ता चलन देखने को मिल रहा है, लेकिन इलेक्ट्रिक वाहनों में आग लगने और इसकी बैटरी फटने के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। एक नया मामला तेलंगाना में सामने आया है, जहां एक बार फिर इलेक्ट्रिक टू व्हीलर की बैटरी फट गई है। हादसे के चलते आसपास के इलाके में दहशत का माहौल बन गया है। यह घटना तेलंगाना के पास रामचंद्रपुर के नजदीक हुई है। जानकारी के मुताबिक इलेक्ट्रिक टू व्हीलर की बैटरी फटने का यह मामला रामदुगु मंडल की करीमनगर डिस्ट्रिक्ट का है। अच्छी बात यह है कि, इस हादसे में किसी भी व्यक्ति को कोई हानि नहीं हुई। आइये, आपको विस्तार से बताते हैं मामले का पूरा सच क्या है।

यह भी पढ़ेंः 10 हजार रुपये से कम में Realme 5G स्मार्टफोन कब होगा लॉन्च, माधव सेठ ने दिया जवाब

कैसा और कहाँ हुआ हादसा

इलेक्ट्रिक गाड़ियों की बैटरी फटने का मामले पिछले कुछ महीनों से बढ़ते जा रहे हैं। इससे पहले भी कई बार इलेक्ट्रिक बैटरी के फटने की खबरें सुर्खियां बन चुकी हैं। बता दें कि, यह मामला रामदुगु मंडल के करीमनगर डिस्ट्रिक्ट में हुआ है। रविवार की रात इस डिस्ट्रिक्ट के रामचंद्रपुर गांव में इलेक्ट्रिक वाहन के मालिक ने अपने टू व्हीलर इलेक्ट्रिक वाहन को घर के बाहर चार्ज पर लगा दिया था। कुछ देर चार्ज होने के बाद गाड़ी की बैटरी बुरी तरह फट गई।  धमाके के बाद मालिक और आसपास के लोग दहशत में आ गए।  बताया जा रहा है कि, गाड़ी के कई हिस्से हादसे में जल चुके हैं। वहीं हादसे के दौरान गाड़ी के आसपास कोई मौजूद नहीं था, जिसके चलते किसी भी व्यक्ति को नुकसान नहीं हुआ है। वहीं पुलिस का कहना है कि इस मामले की शिकायत हमारे पास अब तक नहीं की गई है।

यह भी पढ़ेंः भारत में धमाका करने आ रहा Realme का ये धांसू 5G Smartphone, लॉन्च से पहले साइट पर हुआ लिस्ट

आपको बता दें कि, इलेक्ट्रिक गाड़ियों में आग लगने का यह पहला मामला नहीं है, इससे पहले भी कई बार बैटरी में आग लगने और बैटरी फटने के मामले सामने आ चुके हैं। पिछले महीने एक 80 साल के बुजुर्ग की इलेक्ट्रिक स्कूटर की बैटरी में आग लगने से जान चली गई थी।
कई घटनाओं के होने के बाद भारत सरकार ने भी एक्शन लेते हुए इलेक्ट्रिक वाहनों के निर्माताओं को अपनी गाड़ियों की जांच करने के निर्देश दिए हैं। अब देखना यह है कि, इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता अपनी गाड़ियों की गुणवत्ता पर ध्यान देकर इन मामलों पर कब और कैसे काबू कर पाएंगे।

Web Stories