Google ने लगाया Call Recording Apps पर प्रतिबंध, जानें अब कैसे कर पाएंगे कॉल रिकॉर्डिंग

Google ban call recording apps

पिछले महीने Google ने प्ले स्टोर (Play Store) से सभी कॉल रिकॉर्डिंग ऐप्स (Call Recording Apps) पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की। आपको बता दें कि Play Store की नीति में बदलाव आज यानी 11 मई से लागू हो गया है। लेकिन अच्छी बात यह है कि इन-बिल्ट कॉल रिकॉर्डिंग (inbuilt call recording) फीचर के साथ आने वाले फोन के लिए कोई बदलाव नहीं होगा।

क्यूपर्टिनो स्थित टेक दिग्गज Google कई वर्षों से कॉल रिकॉर्डिंग ऐप्स और सेवाओं के खिलाफ है। ऐसा इसलिए है क्योंकि कंपनी का मानना ​​है कि कॉल रिकॉर्ड करना यूजर्स की प्राइवेसी का हनन है। यही वजह है कि Google के अपने डायलर ऐप पर कॉल रिकॉर्डिंग सुविधा ‘यह कॉल अब रिकॉर्ड की जा रही है’ अलर्ट के साथ आती है, रिकॉर्डिंग शुरू होने से पहले दोनों तरफ स्पष्ट रूप से सुनाई देती है।

Google ने स्पष्ट किया है कि यह बदलाव केवल थर्ड पार्टी ऐप्स को प्रभावित करेगा। इसका मतलब है कि Google डायलर पर कॉल रिकॉर्डिंग आपके डिवाइस पर कार्य करती रहेगी। साथ ही, कॉल रिकॉर्डिंग सुविधा वाला कोई भी प्री-लोडेड डायलर ऐप पूरी तरह से ठीक काम करेगा। केवल Google Play स्टोर पर उपलब्ध कॉल रिकॉर्डिंग सुविधा वाले ऐप्स ही इससे प्रभावित होंगे।
यह भी पढ़ेंः 20,000 रुपये से कम में खरीद सकते हैं ये यूज्ड Scooters, जानें पूरी डिटेल

Truecaller ने हटा दिया कॉल रिकॉर्डिंग फीचर
Google द्वारा कॉल रिकॉर्डिंग ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा के एक दिन बाद Truecaller ने अपने प्लेटफॉर्म से कॉल रिकॉर्डिंग सुविधा को हटाने का खुलासा किया है। Truecaller के प्रवक्ता ने कहा कि अपडेट की गई Google डेवलपर प्रोग्राम नीतियों के अनुसार, हम अब कॉल रिकॉर्डिंग की पेशकश करने में असमर्थ हैं।

यह उन डिवाइसों को प्रभावित नहीं करेगा, जिनमें इन-बिल्ट कॉल रिकॉर्डिंग फीचर है। प्रवक्ता ने कहा कि हमने यूजर्स की डिमांड के आधार पर सभी एंड्रॉयड स्मार्टफोन के लिए कॉल रिकॉर्डिंग पेश की थी। ट्रूकॉलर पर कॉल रिकॉर्डिंग सभी के लिए मुफ्त थी।

आपको बता दें कि Google ने एंड्रॉयड 6 पर रीयल-टाइम कॉल रिकॉर्डिंग को ब्लॉक कर दिया और फिर एंड्रॉयड 10 के साथ माइक्रोफोन पर इन-कॉल ऑडियो रिकॉर्डिंग को ब्लॉक कर दिया। हालांकि कुछ ऐप्स एंड्रॉयड 10 और उससे बाद के वर्जन पर अभी भी कॉल रिकॉर्डिंग की पेशकश करने के लिए एक्सेसिबिलिटी सर्विस तक पहुंचने के लिए एंड्रॉयड में लुपहोल खोज करने में कामयाब रहे। इसने टेक दिग्गज को प्ले स्टोर पर उपलब्ध सभी कॉल रिकॉर्डिंग ऐप पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने को मजबूर कर दिया।
यह भी पढ़ेंः दाम में कम पर कूलिंग में जबरदस्त हैं ये Desert Air Cooler, बस 400 रु में लाएं घर