ऑस्ट्रेलिया में हार गया गूगल, अब न्यूज के बदले मीडिया संस्थानों को देगा पैसा

ऑस्ट्रेलिया में गूगल को लंबी लड़ाई के बाद भी हार का सामना करना पड़ा और अब गूगल समाचार के बदले वहां के मीडिया संस्थानों को पैसा देने के लिए मजबूर होगा। दरअसल ऑस्ट्रेलिया की सरकार और गूगल के बीच लंबे समय से इस बात की लड़ाई चल रही थी की गूगल को उन मीडिया संस्थानों को पैसा देना चाहिए जिनकी खबरों को वो अपने प्लेटफॉर्म पर दिखाता है। इस मामले में ऑस्ट्रेलिया में गूगल हार गया और अब उसे समाचार के बदले देश के 7 मीडिया संस्थानों को पैसे देने होंगे।

भुगतान आधारित समाचार के लिए गूगल ने ऑस्ट्रेलिया में अपनी नई सेवा न्यूज शोकेस भी पेश किया है। इससे पहले न्यूज शोकेस को गूगल ने ब्राजील और जर्मनी में पेश किया है। बता दें कि इससे पहले गूगल ने कहा था कि यदि ऑस्ट्रेलियाई सरकार पैसे के लिए मजबूर करती है तो वह अपनी समाचार सेवा देश में बंद करेगी।

पिछले महीने गूगल के ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के प्रबंध निदेशक, मेल सिल्वा ने पिछले सप्ताह एक संसदीय सुनवाई में कहा था कि प्रस्तावित कानून को यदि अमल में लाया जाता है तो उनके पास ऑस्ट्रेलिया छोड़ने के अलावा कोई अन्य रास्ता नहीं है। सिल्वा के जवाब में ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने कहा कि वे इस तरह की धमकियों पर टिप्पणी नहीं करते।

ऑस्ट्रेलियाई संसद में इस बात को लेकर लंबी बहस चल रही थी कि गूगल और फेसबुक जैसी कंपनियां जब मीडिया हाउस के कंटेंट का इस्तेमाल कर रही हैं तो बदले में उन्हें मीडिया हाउस को पैसे देने चाहिए या नहीं, लेकिन इंटरनेट कंपनियां सरकार के इस बहस के खिलाफ थी। गूगल के अलावा फेसबुक ने भी सरकार के इस कानून का विरोध किया था। 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ऑनलाइन विज्ञापन बाजार में गूगल की हिस्सेदारी 53 फीसदी और फेसबुक की 23 फीसदी है। अब यदि नए कानून का उल्लंघन होता है तो गूगल और फेसबुक पर भारी जुर्माना लगाया जा सकता है।