सरकार की चेतावनी इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता नए EV लॉन्च पर लगाए लगाम, जानें क्या है कारण

Despite the decrease in the sale of e-scooter, Ather company made a big record, know how
Electric Scooter sale

देश में इलेक्ट्रिक वाहनों का निर्माण जोर-शोर से हो रहा है, लेकिन पिछले कुछ 6 महीने में इलेक्ट्रिक वाहनों में आग लगने के मामले धड़ल्ले से बढ़ने लगे हैं। इन मामलों को देखते हुए सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहन बना रही सभी कंपनियों को चेतावनी दी है कि वे नए इलेक्ट्रिक वाहनों के लॉन्च पर अंकुश लगाएं। भारतीय सरकार का मानना है कि, जब तक इलेक्ट्रिक वाहनों में आग लगने के मामलों के पीछे की वजह सामने नहीं आती, कंपनियों को नई इलेक्ट्रिक गाड़ियों को लॉन्च नहीं करना चाहिए। इकोनामिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक ट्रांसपोर्ट और हाईवे मिनिस्ट्री ने यह निर्णय इलेक्ट्रॉनिक गाड़ियां बना रही कंपनियों के साथ हुई एक मीटिंग में लिया है। जिस तरह से पिछले कुछ महीनों में इलेक्ट्रिक वाहनों में आग लगी और कई लोगों की जान गई है। सरकार का इस दिशा में यह कदम अहम माना जा रहा है।

यह भी पढ़ेंः Xiaomi 12 Lite स्मार्टफोन की तस्वीरें वायरल, जानें लीक में सामने आए फीचर्स

सभी कंपनियों को मिली चेतावनी

परिवहन मंत्रालय ने सभी इलेक्ट्रिक वाहन कंपनियों के साथ बैठक के दौरान अपनी यह बात रखी है। सरकार का मानना है कि, जब तक इलेक्ट्रिक वाहनों में आग लगने की जांच पड़ताल जारी है। इलेक्ट्रिक वाहन निर्माताओं को इस बात का ध्यान रखकर नए लॉन्च पर रोक लगानी होगी। बता दें कि इससे पहले परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर इस तरह की चेतावनी दी थी, जिसके बाद कई इलेक्ट्रिक वाहन निर्माताओं ने अपने स्कूटरओं को जांच के लिए वापस बुला लिया था।  

कई कंपनियों ने इलेक्ट्रिक वाहन वापस बुलाए

नितिन गडकरी के निर्देश और सरकार के कड़े रुख के बाद सभी कंपनियों ने अपने इलेक्ट्रिक वाहनों को जांच के लिए बुला लिया है। आंकड़ों को देखें तो देश की प्रमुख इलेक्ट्रॉनिक वाहन कंपनी Ola ने अब तक 1500 के करीब इलेक्ट्रिक स्कूटर वापस बुला लिए हैं। वहीं Okinawa Autotech और PureEV ने भी अपने स्कूटरों को वापस बुला लिया है।
सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए सरकार ने उन कंपनियों को भी निर्देश दिए हैं, जिन कंपनियों के इलेक्ट्रिक वाहनों में आग लगने के मामले सामने नहीं आए हैं। सरकार का निर्देश है कि, सभी कंपनियां इस बात पर गौर करें कि,  वाहन सुरक्षित हो, इसके बाद ही इसकी बिक्री पर जोर दिया जाए।

यह भी पढ़ेंः रोड पर धूम मचाने को तैयार है Svitch CSR 762 इलेक्ट्रिक बाइक, मिलेगी 120km रेंज

ग्राहकों को जरूरी सीख देने का भी निर्देश

सरकार ने कड़ा रुख अपनाते हुए इलेक्ट्रिक वाहन निर्माताओं को यह भी निर्देश दिया है कि, वे ग्राहकों को इलेक्ट्रिक वाहन के इस्तेमाल पर जागरूक करें। कई बार इलेक्ट्रिक वाहनों में ग्राहकों की अनदेखी के चलते अभी आग लगने के मामले सामने आते है। सरकार का मानना है कि, ग्राहकों को इस बात का पता होना चाहिए कब इलेक्ट्रिक वाहन को चार्ज करना है और कब किस समस्या के अनुसार सही कदम उठाना है। इसके अलावा बैटरी चार्जिंग को लेकर भी ग्राहकों की समझ बढ़ाने के लिए निर्देश दिए गए हैं।

सरकार का यह कदम उन लोगों को राहत जरूर देगा, जो इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने से कतराने लगे थे। अगर आगे सही ढंग से वाहनों की सुरक्षा का ख्याल रखा जाता है, तो इलेक्ट्रिक वाहनों के प्रति जनता की समझ फिर से बढ़ सकती है।


अंकित ने पत्रकारिता की शुरुआत स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट के रूप में की थी लेकिन तकनीकी के प्रति विशेष रुझान इन्हें Mysmartprice हिंदी में लेकर आया है। पत्रकारिता के दौरान इन्होंने एक चीज बखूबी सीखा है और वह है आसान भाषा में लोगों को सटीक जानकारी देना। और यही खूबी इन्हें दूसरों से अलग बनाती है। यहां अंकित मोबाइल और तकनीक के साथ ऑटोमोबाइल्स सेग्मेंट को भी कवर करते हैं। पत्रकारिता में इन्हें 5 साल से ज्यादा का अनुभव है जहां इन्होंने राज एक्सप्रेस, थिंक विथ नीश, स्टेट न्यूज और बंसल न्यूज जैसे आर्गेनाइजेशन में अपना योगदान दिया है। इन्होंने माखनलाल चतुर्वेदी नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ जर्नलिज्म एंड कम्यूनिकेशन से मास्टर डिग्री ली है। साथ ही टाइम्स ग्रुप से बैंकिंग मैनेजमेंट में डिप्लोमा भी किया है।