आपकी पुरानी डीजल कार ऐसे बन सकती है इलेक्ट्रिक कार, यहां जानें सही तरीका

How to convert diesel car into electric

देश में इलेक्ट्रिक वाहनों को लेकर सरकार अब काफी गंभीर होती जा रही है। आये दिन नए-नए इलेक्ट्रिक वाहन लॉन्च किये जा रहे हैं, हांलाकि कीमत अभी भी काफी ज्यादा है जिसके चलते ये वाहन लोगों की पहुंच में नहीं है। दूसरी तरह दिल्ली सरकार ने अभी हाल ही में पुरानी डीजल कारों को बड़ी राहत दी है। सरकार ने देश में 10 साल पुरानी डीजल कारों को फिर से चलाने का रास्ता साफ़ कर दिया है। लेकिन इसमें शर्त यह है कि आपको अपनी पुरानी डीजल कार को इलेक्ट्रिक में कन्वर्ट करानी होगी उस्सी के बाद आपको यूज़ चलाने की अनुमति मिलेगी, खास बात यह है कि  इलेक्ट्रिक में कन्वर्ट कराने पर दिल्ली सरकार सब्सिडी भी देगी। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि  राजधानी दिल्ली में 10 साल पुराने डीजल वाहनों को चलाने पर रोक लग चुकी है।

दिल्ली के ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर कैलाश गहलोत ने अपनी ट्विटर पोस्ट के जरिए अपनी बात में कहा कि  “दिल्ली अब इंटरनल कंब्शन इंजन (ICE) की इलेक्ट्रिक रेट्रोफिटिंग के लिए रेडी है। ऐसे में अगर आपकी डीजल  गाड़ी फिट पाई जाती है उसे इलेक्ट्रिक इंजन में बदल सकते हैं। जल्द ही विभाग इलेक्ट्रिक किट बनाने वाली कंपनियों की लिस्ट शेयर करेगा जिसके जरिए 10 साल बाद भी डीजल गाड़ियों का इस्तेमाल किया जा सकेगा।” वैसे यह राहत की बात है उन लोगों के लिए जो इलेक्ट्रिक कार खरीदने की सोच रहे हैं तो इस रिपोर्ट में हम आपको बता रहे हैं कि अगर आप अपनी अपनी डीजल कार को इलेक्ट्रिक में कन्वर्ट करायेंगे  तो इसमें कितना खर्च आ सकता है। यह भी पढ़ें: नकली हेलमेट बेचने वालों पर होगी बड़ी कार्रवाई 

डीजल कार ऐसे बन जाएगी इलेक्ट्रिक कार

किसी भी डीजल कार को इलेक्ट्रिक कार में बदलने का काम कोई आसान नहीं  है , यह ठीक बैसे ही होगा जैसे किसी मरीज की सर्जरी की जाती है। क्योंकि डीजल कार और एक इलेक्ट्रिक कार को अलग-अलग डिजाइन किया जाता है और बहुत अलग-अलग पार्ट्स का इनमें इस्तेमाल किया जाता है।  डीजल कारों को इस तरह डिजाइन नहीं किया गया कि उन्हें बैटरी से चलाया जाए। ऐसे में इलेक्ट्रिक किट बनाने वाली कंपनियों को काफी रिसर्च और डिवेलपमेंट की जरूरत होगी। सबसे पहले कार से डीजल इंजन को निकाला जाएगा, और इस जगह का इस्तेमाल एक इलेक्ट्रिक मोटर, हाई-वोल्टेज वायरिंग सर्किट और कंट्रोल यूनिट फिट करने के लिए किया जाएगा। और इस कार में काफी समय और खर्चा आ सकता है। अब आप सोच रहे हैं कि आखिर कितना खर्च आएगा ? तो इसके जवाब नीचे हैं। यह भी पढ़ें: भारत में लॉन्च हुए 100km की रेंज वाला सस्ता इलेक्ट्रिक स्कूटर, फीचर भी हैं कमाल के

कितना खर्च आएगा ?

रिपोर्ट्स के मुताबिक, किसी डीजल कार को इलेक्ट्रिक में बदलने के लिए करीब 4 से 6 लाख रुपये का का खर्च आ सकता है, और यह इस बात पर निर्भर करता है कि मॉडल कौन सा है। यह एक बेहद जटिल प्रोसेस है जिसमें कई दिन लग सकते हैं। पेट्रोल कार को CNG में बदलने में बहुत कम खर्च आता है क्योंकि उनमें ज्यादा काम नहीं करना पड़ता है। खैर डीजल कार को इलेक्ट्रिक कार में बदलने के बाद आपको अपने घर पर एक  चार्जिंग सेटअप भी इंस्टॉल कराना होगा। रिपोर्ट्स के मुताबिक इस समय दिल्ली में 38 लाख पुरानी डीजल गाड़िया हैं।