Jio बना नंबर वन, Airtel सहित सभी प्राइवेट टेलीकॉम कंपनियों को पछाड़ा

Jio become India's 2nd largest fixed-line service provider.
Jio become India's 2nd largest fixed-line service provider.

भारत की सभी प्रमुख टेलीकॉम कंपनियों को पछाड़कर Reliance Jio नंबर वन बन गया है। टेलीकॉम दिग्गज रिलायंस जियो ने कुछ सालों में ही यह बड़ा मुकाम हासिल कर लिया है। जहां एयरटेल, आइडिया जैसी बड़ी कंपनियों ने अपना नाम बनाने के लिए इतने साल लगाए, वहीं जियो ने अपने बेहतरीन ऑफर और सर्विसेस के चलते ग्राहकों का दिल जीते हुए, अपनी जगह टॉप पर बना ली है। टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया, ट्राई की रिपोर्ट के मुताबिक रिलायंस जियो एयरटेल को पछाड़कर दूसरा सबसे बड़ा टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर बन चुका है। ट्राई की यह रिपोर्ट 2022 फरवरी तक के आंकड़े सामने लेकर आई है। जिसमें जियो भारत की सभी निजी टेलीकॉम कंपनियों से आगे चल रही है। आगे इस स्टोरी में जानें कैसा बना जियो नंबर वन।

यह भी पढ़ेंः Ola Electric स्कूटरों को मिलेगा नया सॉफ्टवेयर अपडेट, ठुमके लगाते नजर आए कंपनी के CEO

जियो केवल BSNL से पीछे

टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक रिलायंस जियो का वायर लाइन सब्सक्राइबर बेस अब 58.85 लाख से ज्यादा का है। इसके मुकाबले एयरटेल ने फरवरी तक 57.66 लाख सब्सक्राइबर जोड़े हैं। इस आंकड़े के अनुसार सभी निजी टेलीकॉम कंपनियों में जियो नंबर वन बन चुका है। हालांकि जियो सरकारी टेलीकॉम कंपनी बीएसएनएल से इस रेस में पीछे है। इसलिए टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर की गिनती में जियो को दूसरे नंबर पर देखा जा रहा है। बता दें कि, बीएसएनएल के पास अब तक 75.76 लाख से ज्यादा ग्राहक हैं। 

जियो ने जोड़े करीब 2.44 लाख ग्राहक

रिपोर्ट के मुताबिक रिलायंस जियो ने साल 2022 फरवरी तक 2.44 लाख ग्राहकों को जोड़ा है। एयरटेल इस मामले में 91,243 ग्राहकों को जोड़ पाया है। इन दोनों प्रमुख कंपनियों के बाद Vodafone-idea ने केवल 24,948 ग्राहकों को अपनी ओर आकर्षित किया है। इसके अलावा Quadrant ने 18,622 और टाटा टेली सर्विसेज से ने केवल 3,772 ग्राहक बढ़ाए  हैं।

BSNL के ग्राहक हुए कम

वैसे तो बीएसएनएल और MTNL इस सेगमेंट में 49.5 फीसदी की हिस्सेदारी के साथ सबसे आगे है। लेकिन रिपोर्ट के मुताबिक दोनों ने करीब 72000 ग्राहकों को खो दिया है। बता दें कि, कोरोना महामारी के बाद टेलीकॉम के क्षेत्र में बढ़ोतरी देखने को मिली है। जिसका फायदा प्राइवेट टेलीकॉम कंपनियों को हुआ, इस वजह से साल 2021 में BSNL  का मार्केट शेयर 34.64 प्रतिशत से घटकर 30.9 प्रतिशत रह गया है। इसके साथ ही एमटीएनएल की हिस्सेदारी भी 14.65 से घटकर 11.5 प्रतिशत पर आ गई है। इस मामले में अगर निजी टेलीकॉम कंपनियों को देखा जाए तो वे लगातार बढ़ोतरी कर रहे हैं।

बताते चलें कि रिलायंस जियो ने टेलीकॉम सर्विस के क्षेत्र में साल 2021 से 2022 के बीच 14.7 प्रतिशत से 24 प्रतिशत तक आने का सफर तय किया है। खास बात यह रही कि, रिलायंस जियो अपने ग्राहकों को लुभाने के लिए इंस्टॉलेशन फीस और सेटअप बॉक्स भी मुफ्त में दे रहा है। हाल ही में रिलायंस जियो फाइबर के नए पोस्टपेड प्लान की मदद से ग्राहक 100 रुपये में 6 OTT ऐप और 200 रुपये में 14 OTT ऐप का लुफ्त उठा सकते हैं।

यह भी पढ़ेंः Vivo X80 Pro स्मार्टफोन होगा सबसे दमदार, जानें लीक में सामने आई कई खूबियां 

एयरटेल को भी इस मामले में फायदा हुआ है, एयरटेल ने अपनी हिस्सेदारी 23.12 प्रतिशत से 23.52 प्रतिशत कर ली है। कुल मिलाकर देखा जाए तो देश में टेलीकॉम बिजनेस ने कोरोना महामारी के बाद जबरदस्त पकड़ हासिल की है। आंकड़ों के मुताबिक साल 2022 में ग्राहकों की संख्या 2.45 करोड़ हो चुकी है, जो जनवरी 2021 में दो करोड़ पर कायम थी।


अंकित ने पत्रकारिता की शुरुआत स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट के रूप में की थी लेकिन तकनीकी के प्रति विशेष रुझान इन्हें Mysmartprice हिंदी में लेकर आया है। पत्रकारिता के दौरान इन्होंने एक चीज बखूबी सीखा है और वह है आसान भाषा में लोगों को सटीक जानकारी देना। और यही खूबी इन्हें दूसरों से अलग बनाती है। यहां अंकित मोबाइल और तकनीक के साथ ऑटोमोबाइल्स सेग्मेंट को भी कवर करते हैं। पत्रकारिता में इन्हें 5 साल से ज्यादा का अनुभव है जहां इन्होंने राज एक्सप्रेस, थिंक विथ नीश, स्टेट न्यूज और बंसल न्यूज जैसे आर्गेनाइजेशन में अपना योगदान दिया है। इन्होंने माखनलाल चतुर्वेदी नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ जर्नलिज्म एंड कम्यूनिकेशन से मास्टर डिग्री ली है। साथ ही टाइम्स ग्रुप से बैंकिंग मैनेजमेंट में डिप्लोमा भी किया है।