Maruti Ignis को बदल सकते हैं इलेक्ट्रिक कार में, जानें कितना आएगा खर्च

Maruti-Ignis-EV

पुणे स्थित इलेक्ट्रिक वाहन (EV) आधारित कंपनी नॉर्थवे मोटरस्पोर्ट (Northway Motorsport) ने मारुति इग्निस (Maruti Ignis) के लिए एक नई ईवी कंवर्सेशन किट (EV conversion kit) लॉन्च की है। यह ईवी कंवर्सेशन किट इग्निस एमटी 2021 और बाद के मॉडल के लिए उपलब्ध होगी।

इसके अलावा, यह पहले की गैसोलीन-आधारित कारों के लिए भी उपलब्ध होगी, जैसे कि मारुति सुजुकी स्विफ्ट डिजायर और Tata Ace। किट और कार की कुल लागत 120Km रेंज वाले स्टैंडर्ड वैरियंट के लिए 12.5 लाख रुपये और 240 km रेंज के साथ लंबी दूरी के वैरियंट के लिए 14.5 लाख रुपये है।
यह भी पढ़ेंः बिना लाइसेंस सड़कों पर दौड़ा पाएंगे ये Electric Scooters, कीमत नहीं है ज्यादा

इलेक्ट्रिक कारें (Electric cars) आमतौर पर बिना ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन के नहीं बनती हैं, लेकिन इस नए बैटरी पैक के साथ नॉर्थवे मोटरस्पोर्ट ने कुछ विशिष्ट रूप से अलग किया है। प्री-कन्वर्ट मारुति इग्निस इलेक्ट्रिक मैनुअल ट्रांसमिशन के साथ उपलब्ध है, जो कई बेनिफिट्स प्रदान करता है जैसे कि इंजन की बेहतर लंबी अवधि के लिए क्लच बॉक्स का उपयोग और सिंगल चार्ज में अधिक माइलेज के साथ आती है।

मैनुअल ट्रांसमिशन के साथ इग्निस ईवी भारी ट्रैफिक जैसी स्थितियों के लिए जरूरत पड़ने पर अतिरिक्त टॉर्क की आपूर्ति भी कर सकता है, जब किसी को स्टॉप गैप स्थिति से तेजी से गति करने की आवश्यकता होती है।

आपके द्वारा चुने गए वैरियंट के आधार पर बैटरी पैक सामान्य 2.5A पावर सॉकेट का उपयोग करके बैटरी को पूरी तरह चार्ज करने के लिए चार से आठ घंटे का समय लेता है। कार के सेफ्टी पैकेज में ABS, EBD और डुअल एयरबैग भी शामिल होंगे।
यह भी पढ़ेंः BMW iX Electric SUV को 1.15 करोड़ रु. में किया गया लॉन्च, जानें 611 KM रेंज वाली इस कार के बारे में सबकुछ

बेशक, इस तरह के रूपांतरण में मूल निर्माता की वारंटी शून्य हो जाएगी, लेकिन नॉर्थवे मोटरस्पोर्ट दो साल के लिए या 60,000 km से नीचे चलने पर इलेक्ट्रिक पावरट्रेन को कवर करेगी।

क्लाइमेट कंट्रोल सिस्टम, इलेक्ट्रिक पावर स्टीयरिंग, इंफोटेनमेंट सिस्टम, पावर विंडो आदि इसके कंवर्सेशन के बाद भी पूरी तरह से चालू रहते हैं। 10-15 वर्षों के बाद भी भारत सरकार ने पुरानी पेट्रोल और डीजल कारों को दिल्ली-एनसीआर जैसे विभिन्न प्रमुख क्षेत्रों में काम करने की अनुमति दी है।

हालांकि ऐसे पुराने ऑटोमोबाइल का उपयोग जारी रखने से पहले उन्हें इलेक्ट्रिक वाहनों में परिवर्तित किया जाना चाहिए और इसलिए हमें लगता है कि भविष्य में भी ऐसी कई पहले से उपलब्ध कारों के लिए यह सही दिशा में एक कदम है।
यह भी पढ़ेंः Reliance Jio लाया 119 रुपये का प्रीपेड रिचार्ज प्लान, 14 दिनों के लिए 1.5 GB हाई-स्पीड डेली डेटा के साथ