हजारों की टू व्हीलर के लिए लिया लाखों का VIP नंबर, जाने क्यों

Honda Activa
Honda Activa

आपने अक्सर सुना होगा शौक बड़ी चीज है, यह कहावत चंडीगढ़ के शख्स पर सटीक बैठती है। उन्होंने अपने हजारों रुपए की स्कूटी के लिए लाखों रुपए का खर्चा कर दिए। न्यूमैरोलॉजी पर विश्वास रखने वाले लोग नंबर गेम पर काफी विश्वास रखते हैं। कई बड़ी-बड़ी हस्तियां भी अपनी गाड़ियों के लिए वीआईपी नंबर चुनने के लिए जानी जाती है।
बड़ी हस्तियों के साथ-साथ जो लोग नंबर गेम को अपनी जिंदगी का अहम हिस्सा समझते हैं, वे भी वीआईपी नंबर पाने की होड़ में पीछे नहीं है। चंडीगढ़ के एक शख्स ने भी हाल ही में अपनी स्कूटर के लिए 15 लाख 44 हजार की बोली लगाई है। चंडीगढ़ के रहने वाले बृजमोहन ने महज 70,000 रुपये की स्कूटी के लिए इतनी बड़ी रकम खर्च की है।

यह भी पढ़ेंः Realme GT Neo 3 स्मार्टफोन की लॉन्च डेट का हुआ ऐलान, मिलेगी 150W फास्ट चार्जिंग और कई बड़े फीचर्स

बृजमोहन ने लगाई 15 लाख 44 हजार की बोली

जानकारी के लिए बता दें कि, चंडीगढ़ आरटीओ द्वारा CH- 01 CJ 0001, वीआईपी नंबर की बोली लगाई जा रही थी। चंडीगढ़ के रहने वाले बृजमोहन ने अपनी स्कूटी के लिए शानदार वीआईपी नंबर लेते हुए 15 लाख 44 हजार की बोली लगा दी। उन्होंने कुछ दिन पहले ही होंडा एक्टिवा स्कूटर खरीदी थी। वह चाहते थे कि उन्हें वीआईपी नंबर मिले। उन्होंने इसे लेकर कहा है कि, आपके शोक की कोई कीमत नहीं होती। जब मैंने पहली बार नंबर के लिए अप्लाई किया तो मुझे वीआईपी नंबर की तलाश थी। उनका मकसद था कि, चंडीगढ़ का 0001 नंबर उनके नाम हो जाए और उन्होंने अपने इस शोक को बड़ी कीमत देकर हासिल किया है।

अपने बच्चे के खातिर किया ऐसा

बृजमोहन ने आगे बताया कि, वीआईपी नंबर लेना उनका तो शौक था ही, साथ ही उनके बच्चे भी ऐसा ही चाहते थे। उनके बच्चे भी अक्सर बोला करते थे कि पापा हमें वीआईपी नंबर चाहिए। इससे पहले भी वह अपने मोबाइल और अन्य चीजों के लिए वीआईपी नंबर ले चुके हैं। उन्होंने बताया कि फिलहाल वह इस वीआईपी नंबर को अपनी एक्टिवा में इस्तेमाल करेंगे। साथ ही वह नई कार लेने का भी मन बना रहे हैं। जब उनके पास नई गाड़ी आ जाएगी, तो वह यह नंबर अपनी कार के लिए उपयोग करेंगे।  

यह भी पढ़ें: Maruti Suzuki इन 5 कारों पर दे रही है सबसे बड़ा डिस्काउंट, अभी है बड़ी बचत का मौका

आपको बताते हैं कि, बृजमोहन ने अपने बच्चों की जिद्द और खुद के शौक के लिए मन पहले ही बना लिया था। उन्हें 0001 नंबर ही मिले, इसके लिया उन्होंने बड़ी बोली लगाने की भी ठान ली थी। वीआईपी नंबर लेने के बाद बृजमोहन ने कहा कि, इस नंबर को पाने के बाद वह बेहद खुश हैं।


अंकित ने पत्रकारिता की शुरुआत स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट के रूप में की थी लेकिन तकनीकी के प्रति विशेष रुझान इन्हें Mysmartprice हिंदी में लेकर आया है। पत्रकारिता के दौरान इन्होंने एक चीज बखूबी सीखा है और वह है आसान भाषा में लोगों को सटीक जानकारी देना। और यही खूबी इन्हें दूसरों से अलग बनाती है। यहां अंकित मोबाइल और तकनीक के साथ ऑटोमोबाइल्स सेग्मेंट को भी कवर करते हैं। पत्रकारिता में इन्हें 5 साल से ज्यादा का अनुभव है जहां इन्होंने राज एक्सप्रेस, थिंक विथ नीश, स्टेट न्यूज और बंसल न्यूज जैसे आर्गेनाइजेशन में अपना योगदान दिया है। इन्होंने माखनलाल चतुर्वेदी नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ जर्नलिज्म एंड कम्यूनिकेशन से मास्टर डिग्री ली है। साथ ही टाइम्स ग्रुप से बैंकिंग मैनेजमेंट में डिप्लोमा भी किया है।

No posts to display