Paytm से दें मकान मालिक को रेंट और पाएं 1000 रुपये का कैशबैक

अगर आप किराएदार हैं, तो ये खबर आपके लिए मस्ट रीड है.

फ्रेंड्स, आपमें से ज्यादातर लोग पेटीएम का इस्तेमाल तो करते ही होंगे. अब मोबाइल पेमेंट ऐप पेटीएम (Paytm) अपने यूजर्स के लिए एक बहुत ही अनोखा और शानदार फीचर ले कर आया है. अब आप पेटीएम के जरिए अपने क्रेडिट कार्ड से मकान का किराया यानी मंथली रूम रेंट भी चुका सकेंगे. पेटीएम ने अपने रेंट पेमेंट फीचर को एक्सपैंड किया है. इस फीचर के जरिए अब आप क्रेडिट कार्ड के जरिए सीधे मकान मालिक के बैंक अकाउंट में किराया ट्रान्सफर कर सकेंगे. गौरतलब है कि अभी तक पेटीएम पर यूपीआई (UPI), डेबिट कार्ड (Debit Card) और नेटबैंकिंग (Net banking) के जरिए रेंट पे करने की सुविधा थी. लेकिन, अब आप इस सुविधा का लाभ क्रेडिट कार्ड से भी उठा सकते हैं.

मिलेगा कैशबैक
Paytm अपने यूजर्स को 1000 रुपये का कैशबैक ऑफर भी दे रहा है. इसके प्लेटफॉर्म के जरिये रेंट चुकाने वाले यूजर्स को ट्रांजैक्शन पर 1000 रुपये तक कैशबैक दिया जा रहा है. क्रेडिट कार्ड से रेंट देने का फायदा ये होगा कि यूजर अपनी क्रेडिट लिमिट का यूज करके कैश बचा पाएंगे. क्रेडिट कार्ड के बकाए का पेमेंट आमतौर पर 45-50 दिन बाद देना होता है. साथ ही क्रेडिट कार्ड के जरिए किए गए ट्रांजैक्शन को आप EMI में कंवर्ट कर सकते हैं. इसके अलावा, यूजर्स को इस पेमेंट पर क्रेडिट कार्ड प्वाइंट्स भी मिल पाएगा.

कैसे करें पेमेंट
Paytm के ‘रिचार्ज एंड पे बिल्स’ सेक्शन में जाकर ‘रेंट पेमेंट’ का ऑप्शन सेलेक्ट करें. रिचार्ज एंड पे ऑप्शन आपको पेटीएम के होम स्क्रीन पर ही मिल जाएगा. इसके बाद मकान मालिक का अकाउंट नंबर और और अपने क्रेडिट कार्ड का डिटेल्स डालकर आप सीधे रेंट पे कर सकते हैं. Paytm का इनोवेटिव डैशबोर्ड आपके सभी रेंट पेमेंट को ट्रैक करने में मदद करेगा और पेमेंट ड्यू डेट रिमाइंड भी कराएगा.

तो फ्रेंड्स, ये शानदार खबर है न आपके लिए कमाल की खबर और साथ ही फायदे का सौदा भी. मकान का रेंट भी आसानी से चुकाएं और बदले में कैश भी पाएं.


सत्यव्रत का मानना है कि टेक्नॉलजी का जितना इस्तेमाल करेंगे, उतना जानेंगे. इसी के चलते उन्होंने टेक जर्नलिस्ट बनने का फैसला लिया. सत्यव्रत ने अपने करियर की शुरुआत दैनिक जागरण से की थी, साल 2015 में वह ज़ी न्यूज़ से जुड़े. वह न केवल टेक को अच्छी तरह से समझते हैं बल्कि यह भी जानते हैं कि कौन सी स्टोरी पाठकों को ज्यादा पसंद आती हैं. अब सत्यव्रत Mysmartprice से जुड़े हैं. और यहां भी उनका मकसद हर रोज बदल रही टेक्नॉलजी की दुनिया की हर बारीकी को आसान शब्दों में पाठकों तक पहुंचाना है.