रिलायंस जियो रिलॉन्च कर सकता है ‘जियोफोन’, बढ़ सकती है कीमत, जानें क्या है नया प्लान

रिलायंस जियो अपने 4G फीचर फोन जियोफोन को अगली तिमाही में दोबारा लॉन्च कर सकती है। कोरोना महामारी के चलते एंटरटेनमेंट और पढ़ाई के लिए अधिकतर लोग फिलहाल घरों में हैं। रिलायंस जियो इसी मौके का फायदा उठाने के लिए जियो फोन रिलॉन्च करने की योजना बना रही है। इसी के साथ कंपनी जियो की तरफ लोगों को खींचना चाहती है जिससे उसके सब्सक्राइबर्स बढ़ जाएं।

ईटी टेलीकॉम के मुताबिक इंडस्ट्री के दो सीनियर एग्जिक्युटिव ने ईटी को बताया कि मुकेश अंबानी के नेतृत्व वाली जियो अगले साल गूगल के साथ मिलकर एंट्री-लेवल स्मार्टफोन लॉन्च करने की योजना पर भी काम कर रही है। उन्होंने बताया कि रिलायंस और गूगल ने इस प्रॉजेक्ट के लिए एक जॉइन्ट टीम भी बना दिया है।

एग्जिक्युटिव ने कहा कि 2018 में रिलायंस के जियोफोन ने रिलायंस जियो को देश में सबसे बड़ी मोबाइल फोन निर्माता बनने में मदद की थी। लेकिन इस साल मोबाइल के पार्ट्स आने की परेशानी के चलते यह फोन बाजार में आना बंद हो गया। रिलायंस जियो ने अब एक बार फिर कंपोनेंट सप्लायर के साथ काम करना शुरू कर दिया है। जियो फोन को कॉन्ट्रैक्ट मैन्युफैक्चरर फ्लेक्स (Flex) द्वारा बनाया जा रहा है।

रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि रिलायंस एक बार फिर जियो फोन लॉन्च होने के 6 महीनों के भीतर मार्केट में टॉप करने का टारगेट तय करेगी। दरअसल रिलायंस जियो 1 हजार रुपये से कम वाले सेगमेंट में भारी बढ़त बनाना चाहती है। इसके लिए कंपनी नए जियो मंथली सब्सक्रिप्शन प्लान के साथ फोन को देश में 8 लाख से ज्यादा रिटेल स्टोर्स में इसे उपलब्ध कराएगी।

सूत्रों के मुताबिक पिछली बार जियो फोन को 699 रुपये में उपलब्ध कराया गया था, लेकिन अब कंपनी इसकी कीमत बढ़ाने पर विचार कर रही है लेकिन संभावना है कि इसकी कीमत 1 हजार रुपये से कम ही रखी जाएगी। जियो हर छोटे कस्बे और गांवों के ग्राहकों तक पहुंचना चाहती है।

जियो ने अगर अपने फीचर फोन का फीडबैक ठीक ढंग से लिया होगा तो शायद वह फोन की पुरानी कमियों को रीलॉन्च करने से पहले उनमें सुधार भी करे। क्योंकि जियो फोन यूजर्स की एक आम शिकायत उसकी बहुत धीमी प्रोसेसिंग थी और दूसरा उसका की-पैड कई रिस्पांस नहीं करता था या फिर बहुत देर में रिस्पांस करता था।