सड़क मंत्रालय ने लॉन्च किया नेविगेशन ऐप MOVE, जो ड्राइवरों को भेजता है रोड सेफ्टी अलर्ट

Navigation app Move

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (MoRTH) ने देश में ड्राइवर और सड़क सुरक्षा टेक्नोलॉजी के लिए IIT मद्रास और डिजिटल टेक कंपनी MapmyIndia के साथ सहयोग किया है। तीनों पक्षों ने संयुक्त रूप से नागरिकों के लिए एक फ्री-टू-यूज-नेविगेशन ऐप (Navigation app) लॉन्च किया, जो सड़क पर आने वाले दुर्घटनाओं के खतरों के बारे में सड़क सुरक्षा अलर्ट प्रदान (road safety alerts) करता है।
यह भी पढ़ेंः अर्थ एनर्जी की इलेक्ट्रिक स्कूटर Glyde SX और Glyde SX+ जल्द आएगी बाजार में, फुल चार्ज में मिलेगी 150km तक की रेंज

नेविगेशन ऐप सर्विस ड्राइवरों को आगामी दुर्घटना संभावित क्षेत्रों, स्पीड ब्रेकर, शार्प कर्व्स और गड्ढों सहित अन्य खतरों के बारे में आवाज और विजुअल अलर्ट प्रदान करती है। यह पहल देश में सड़क दुर्घटनाओं के कारण होने वाली दुर्घटनाओं और मौतों को कम करने के लिए सड़क परिवहन मंत्रालय के दृष्टिकोण का एक हिस्सा है।

MaymyIndia द्वारा विकसित नेविगेशन सेवा ऐप का नाम ‘MOVE’है। वर्ष 2020 में सरकार की आत्मानिर्भर ऐप इनोवेशन चैलेंज जीता है। इस सेवा का उपयोग नागरिकों और अधिकारियों द्वारा दुर्घटनाओं, असुरक्षित क्षेत्रों, सड़क और यातायात के मुद्दों को मैप पर रिपोर्ट और प्रसारित करने के लिए भी किया जा सकता है। डेटा का विश्लेषण IIT मद्रास और MapmyIndia द्वारा किया जाएगा और फिर भविष्य में सड़क की स्थिति में सुधार के लिए सरकार द्वारा इसका उपयोग किया जाएगा।
यह भी पढ़ेंः Harley-Davidson लॉन्च करेगी ‘एरो’ प्लेटफॉर्म पर आधारित सस्ती e-bikes, जानें क्या होंगी खूबियां

पिछले महीने सड़क मंत्रालय ने आधिकारिक तौर पर विश्व बैंक के साथ IIT मद्रास के शोधकर्ताओं द्वारा बनाए गए डेटा-संचालित सड़क सुरक्षा मॉडल को अपनाया। सड़कों को सुरक्षित बनाने और आपातकालीन प्रतिक्रिया में सुधार करने में मदद के लिए 32 से अधिक राज्य और केंद्र शासित प्रदेश संस्थान द्वारा विकसित एकीकृत सड़क दुर्घटना डेटाबेस (iRAD) मॉडल का उपयोग करेंगे।

सड़क उपयोगकर्ताओं की सुरक्षा बढ़ाने के लिए केंद्र और राज्य सरकारें कई उपाय कर रही हैं, जबकि केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बार-बार सड़क सुरक्षा की आवश्यकता पर प्रकाश डाला है।