वाह : बिना चार्ज के 3 साल चलेगी ये इलेक्ट्रिक बाइक, बीएससी के स्टूडेंट्स का गजब आविष्कार

देश और दुनिया में इलेक्ट्रिक गाड़ियों का चलन बढ़ता जा रहा है। आपने इलेक्ट्रिक बाइक को चार्ज करते हुए 100 से 200 किलोमीटर की रेंज के बारे में तो सुना होगा, लेकिन क्या आपने ऐसी इलेक्ट्रिक बाइक के बारे में सुना है जिसे कभी चार्ज करने की जरूरत ही ना पड़ती हो। आप हैरान ना हों, आप सही सुन रहे हैं, बीएससी सेकंड ईयर में पढ़ रहे 2 छात्रों ने कुछ ऐसा ही आविष्कार किया है। दोनों छात्रों ने मिलकर ऐसी इलेक्ट्रिक बाइक पेश की है, जिसे बिना चार्ज के 3 साल तक चलाया जा सकता है।

प्रकृति को बचाने के लिए आजकल इलेक्ट्रिक बाइक और इलेक्ट्रिक कार दोनों ही बाजार में बढ़ते जा रहे हैं, इसी बीच इन दोनों छात्रों का यह आविष्कार अनोखा और सोचने पर मजबूर करता है। इस पोस्ट को पूरा पढ़ें और जाने कि, कैसे किया बच्चों ने यह आविष्कार और कैसे काम करती है यह इलेक्ट्रिक बाइक।

कैसे आया इन स्टूडेंट्स का आविष्कार सामने

इस अनोखी इलेक्ट्रिक बाइक को सामने लाने के पीछे एक आईएएस अफसर का हाथ है, आईएएस दीपक रावत अक्सर अपने यूट्यूब चैनल के माध्यम से कई वीडियो शेयर करते रहते हैं, वह सोशल मीडिया पर काफी पॉपुलर भी हैं। इन बच्चों ने आईएएस दीपक रावत को अपने इस आविष्कार को दिखाने के लिए पहल की थी। बच्चों की रिक्वेस्ट पर आईएएस दीपक रावत तुरंत तैयार भी हो गए, बच्चे चाहते थे कि आईएएस दीपक रावत उन्हें इस इलेक्ट्रिक बाइक पर अपना सुझाव और समर्थन दें। छात्रों की इलेक्ट्रिक बाइक देखने के बाद दीपक रावत काफी खुश नजर आए। सोशल मीडिया पर मौजूद वीडियो में वह छात्रों को और आगे बढ़ने के लिए कहते नजर आ रहे हैं।

यह भी पढ़ेंः 4G के साथ 5G की तैयारी कर रहा है BSNL, इसी साल आएगा कंपनी का 5G NSA नेटवर्क

कैसे काम करती है स्टूडेंट्स की इलेक्ट्रिक बाइक

सोशल मीडिया माध्यम यूट्यूब पर जारी किए गए वीडियो में स्टूडेंट्स द्वारा बनाई गई बाइक का प्रोटोटाइप देखा जा सकता है। साधारण सी दिखने वाली बाइक में मौजूद तकनीक के कारण दोनों स्टूडेंट्स दावा करते हैं कि यह बिना चार्ज किए 3 साल तक चल सकती है। एक स्टूडेंट ने इस इलेक्ट्रिक बाइक को वीडियो में काफी देर तक दौड़ा कर भी दिखाया है।

इलेक्ट्रिक बाइक को इन दोनों स्टूडेंट्स ने बड़ी जुगाड़ से बनाया है, इलेक्ट्रिक बाइक का हैंडल किसी पुरानी खराब हो चुकी बाइक से लिया गया है। बाइक के टायर भी पुराने दिख रहे हैं। खास बात ये कि इस बाइक में 5 बैटरी का इस्तेमाल किया गया है और एक छोटी से मोटर लगाकर बाइक को चलाया जाता है। स्टूडेंट्स ने बताया की 5 बैटरी में से 3 को पहले से चार्ज हैं, जबकि 2 बैटरी गाड़ी के चलने वाली ऊर्जा से चार्ज होती हैं। इस तरह उनका दावा है कि जब एक बैटरी डिस्चार्ज होगी तो गाड़ी के चलने वाली ऊर्जा से दूसरी बैटरी खुद-ब-खुद चार्ज हो जाएगी। इस तरह यह साइकिल चलता रहेगा और आपको कभी यह बाइक चार्ज करने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

यह भी पढ़ेंः iQOO ला रहा है अपना सबसे सस्ता 5जी फोन, स्पेसिफिकेशन और फीचर्स हैं कमाल के

अब देखना यह है कि इन होनहार स्टूडेंट्स के द्वारा जो प्रोटोटाइप आईएएस दीपक रावत को दिखाया गया है उसके बाद बाजार में इस तरह के मॉडल को लेकर विशेषज्ञों की क्या राय निकल कर सामने आती है।

अगर इन बच्चों के आविष्कार को आपने भी पसंद किया है तो आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं। यह इलेक्ट्रिक बाइक आपको कैसी लगी? और क्या ऐसा संभव है कि बिना चार्ज करे किसी ई-बाइक को निरंतर चलाया जा सके।


अंकित ने पत्रकारिता की शुरुआत स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट के रूप में की थी लेकिन तकनीकी के प्रति विशेष रुझान इन्हें Mysmartprice हिंदी में लेकर आया है। पत्रकारिता के दौरान इन्होंने एक चीज बखूबी सीखा है और वह है आसान भाषा में लोगों को सटीक जानकारी देना। और यही खूबी इन्हें दूसरों से अलग बनाती है। यहां अंकित मोबाइल और तकनीक के साथ ऑटोमोबाइल्स सेग्मेंट को भी कवर करते हैं। पत्रकारिता में इन्हें 5 साल से ज्यादा का अनुभव है जहां इन्होंने राज एक्सप्रेस, थिंक विथ नीश, स्टेट न्यूज और बंसल न्यूज जैसे आर्गेनाइजेशन में अपना योगदान दिया है। इन्होंने माखनलाल चतुर्वेदी नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ जर्नलिज्म एंड कम्यूनिकेशन से मास्टर डिग्री ली है। साथ ही टाइम्स ग्रुप से बैंकिंग मैनेजमेंट में डिप्लोमा भी किया है।