कार की खराब माइलेज के ये होते हैं बड़े कारण, इंजन को हो सकता है काफी नुकसान

टू-व्हीलर्स के मुकाबले फोर-व्हीलर्स में फ्यूल की खपत ज्यादा होती है, क्योंकि इंजन बड़ा होता है। हांलाकि आजकल कारों की माइलेज भी काफी बेहतर सेट की जा रही हैं लेकिन अक्सर लोग शिकायत करते हैं कि उनकी गाड़ी ठीक से माइलेज नहीं देती, और फ्यूल की खपत कुछ ज्यादा ही होती है। लेकीन  क्या आप जानते हैं कम माइलेज की कई वजह हो सकती हैं। कई गाड़ी चलाते समय लोग ऐसी गलतियां करते हैं जिसकी वजह से फ्यूल की खपत बढ़ जाती है । आइए जानते हैं उन कारणों के बारे में जो कार में फ्यूल की खपत को बढ़ाते हैं।

कार की सर्विस सही समय पर न कराना

गाड़ी में घूमना तो लोगों को काफी पसंद आता है लेकिन जब सर्विस की बात आती है तो लोग इस पर बिलकुल भी ध्यान नहीं देते। सर्विस मिस हो जाती है और धीरे-धीरे इसका असर भी इंजन पर पड़ने लगता है। समय पर कार की सर्विस नहीं कराना भी  खराब माइलेज का एक बड़ा कारण होता है, क्योंकि इसका सीधा असर इंजन पर पड़ता है। अक्सर देखने में आता है कि लोग पैसे बचाने के चक्कर में लोकल जगह से सर्विस करा लेते हैं, और कई बार सस्ते पार्ट्स और लुब्रिकेंट का इस्तेमाल गाड़ी में हो जाता है जिसकी वजह से वाहन को काफी नुकसान पहुंचता है। इसलिए सही जगह से सर्विस करायें और कोई भी सर्विस मिस न करें।

बार-बार न करें क्लच का इस्तेमाल

ड्राइव के दौरान लोग बिना वजह बार-बार क्लच का इस्तेमाल करते हैं जिसकी वजह से इंजन पर तो असर पड़ता ही है साथ ही  फ्यूल की खपत भी बढ़ जाती है, इतना ही नहीं ऐसा करने से क्लच प्लेट्स को भी भारी नुकसान पहुंचता है। इसलिए जरूरत पड़ने पर ही क्लच का इस्तेमाल करें. इतना ही नहीं ड्राइव के दौरान एक्सिलरेटर पेडल को आराम से दबाएं, ऐसा करने से आपकी गाड़ी में फ्यूल की खपत कम होगी।

लोअर गियर में ऐसा करना होता है नुकसानदायक

ज्यादातर मामलों में यह देखा गया है कि ड्राइव के दौरान लोअर गियर में लोग एक्सिलरेटर का इस्तेमाल करते है जोकि बिलकुल भी सही नहीं है क्योकि ऐसा करने से फ्यूल की खपत बढ़ जाती है और माइलेज में कमी देखने को मिलती है। इसलिए गियर चेंज के दौरान एक्सिलरेटर का इस्तेमाल सही तरीके से करें।  

एयर प्रेशर का रखें ध्यान

किसी भी वाहन में टायर्स की सबसे अहम् भूमिका होती है क्योंकि पूरा वाहन इन्हीं टायर्स पर जो टिका होता है। लेकिन अक्सर लोग यहां भी लापरवाही करने नज़र आते हैं। लोग टायर्स में महीनों-महीनों हवा चेक नहीं करते और लगातार गाड़ी का इस्तेमाल करते रहते हैं, टायर्स में हवा कम होने की वजह से इंजन पर दबाव ज्यादा पड़ता है, जिसकी वजह से फ्यूल की खपत बढ़ने लगती है और माइलेज पर असर पड़ता है। इसलिए हफ्ते में दो बार टायर्स मेंहवा जरूर चेक करें।   

ऐसा करने से भी बचें

अक्सर देखने में आता है कि लोग अपनी कार में फालतू सामान रखते हैं, जिसकी वजह से गाड़ी का वजन बढ़ जाता है और ऐसे में इंजन को आगे बढ़ने में ज्यादा ताकत लगानी पड़ती है। इस वजह से फ्यूल की खपत भी बढ़ जाती है और माइलेज कम मिलती है । इसलिए अपनी कार में सिर्फ उतना ही सामान रखें और लगवाएं जितनी जरूरत हो।