Toyota ने गाड़ियों की कीमतें बढ़ाने का किया ऐलान, नए साल में कार खरीदना होगा महंगा

Toyota

भारत में एक के बाद एक कार कंपनियां घोषणा कर रही हैं कि एक जनवरी से उनकी कारें महंगी होती जा रही हैं। टोयोटा किर्लोस्कर मोटर ने भी घोषणा कर दी है कि एक जनवरी, 2022 से उनकी सभी कारें महंगी होने जा रही हैं। दाम बढ़ाने के पीछे कंपनी ने रो-मटिरियल की बढ़ती कीमतों को जिम्मेदार ठराया है। आपको बता दें कि टोयोटा भारत में ग्लैंजा, अर्बन क्रूजर, इनोवा क्रिस्टा और फॉर्चूनर जैसी गाड़ियों को बेचती है। दाम बढ़ाने को लेकर कंपनी ने अपने बयान में कहा कि रो-मटिरियल और इनपुट कॉस्ट लगातार बढ़ने की वजह से मजबूरन गाड़ियों के दाम बढ़ाने पड़ रहे हैं। हमने हमारे कस्टमर्स पर दाम बढ़ने के प्रभाव को कम से कम सुनिश्चित करने के लिए सभी प्रयास किये हैं।

skoda ने भी बढ़ाए दाम

skoda इंडिया ने भी घोषणा कर दी है कि कंपनी की कारें 1 जनवरी, 2022 से महंगी होने जा रही हैं। इस मौके पर बात करते हुए स्कोडा ऑटो इंडिया के ब्रांड निदेशक, श्ज़ैक हॉलिस ने कहा कि  इनपुट लागत में बढ़ोतरी की वजह से  हमें 1 जनवरी, 2022 से कीमतों में बढ़ोतरी करना जरूरी हो गया है। मैक्रो-इकोनॉमिक चुनौतियों के बावजूद, हमने यह सुनिश्चित करने के लिए काम किया है कि वृद्धिशील मूल्य वृद्धि के संदर्भ में ग्राहकों का प्रभाव न्यूनतम हो। हम भारत में स्कोडा ब्रांड का निर्माण करने के लिए गुणवत्ता और मूल्य में सर्वश्रेष्ठ पेशकश करना जारी रखेंगे। यह भी पढ़ें: माइलेज के बादशाह: ये हैं सबसे ज्यादा माइलेज देने वाली कारें, जाने कीमत

मारुति ने भी बढ़ाए दाम   

वैसे सबसे पहले मारुति सुजुकी ने ही घोषणा की थी अगले साल से कंपनी की कारें महंगी हो जायेगी। कंपनी इस एक ऑफिशियल  स्टेटमेंट के जरिये इस बार की जानकारी दी थी। बयान में कहा है कि पिछले एक साल में विभिन्न इनपुट लागतों में वृद्धि के कारण कंपनी के वाहनों की लागत पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। यह भी पढ़ें: लॉन्च से पहले Simple One इलेक्ट्रिक स्कूटर सड़कों पर दिखा, जानें कीमत, स्पेसिफिकेशंस

इसलिए कंपनी के लिए मूल्य वृद्धि के माध्यम से उपरोक्त अतिरिक्त लागत का कुछ प्रभाव ग्राहकों पर डालना अनिवार्य हो गया है। वाहनों की कीमतों में बढ़ोतरी अलगे साल  जनवरी से लागू हो जायेंगी आपको बता दें कि कीमतों में बढ़ोतरी मॉडल्स के हिसाब से अलग-अलग होगी।