खुशखबरी: UPI Payments रहेंगे फ्री, सरकार ने खुद किया ये ऐलान

UPI
UPI payments

UPI Payment Charges: अगर आप रोजमर्रा के दिनों में UPI transactions करते हैं तो कुछ दिन पहले सामने आई एक खबर आपको काफी सता रही होगी। दरअसल कुछ समय पहले एक खबर ने काफी जोर पकड़ा था कि आने वाले कुछ समय में UPI Payment पर चार्ज लगाया जा सकता है। यह चार्ज यूजर्स को सर्विस चार्ज और एक्स्ट्रा चार्ज के माध्यम से लिए जाने की बात सामने आई थी। इस खबर के आने के बाद लाखों यूजर्स के मन में चिंता बढ़ गई थी कि उन्हें यूपीआई ट्रांजैक्शन पर अलग से फीस देनी होगी। हालांकि अब आप को इस बात की चिंता करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि सरकार ने ऐलान कर दिया है कि यूपीआई ट्रांजैक्शन पर कोई चार्ज नहीं लगेगा और यह सुविधा आपको फ्री में मिलती रहेगी। आइये, आपको इस पोस्ट में बताते हैं कि सरकार ने क्या ऐलान किया है।

बिना खर्चे के चलता रहेगा UPI

Ministry of Finance ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर के जरिए यह साफ कर दिया है कि यूपीआई ट्रांजैक्शन फ्री रहेंगे। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर किए गए ट्वीट में मिनिस्ट्री ऑफ फाइनेंस ने बाजार में फैल रही सभी अफवाहों को खारिज कर दिया है। बताया गया है कि भारत सरकार का ऐसा कोई इरादा नहीं है कि UPI Services पर फीस ली जाए। जिस तरह अभी सुविधाएं फ्री चल रही है उसी तरह आगे भी चलती रहेंगी और इन सेवाओं से Digital India को बढ़ावा मिलता रहेगा।

क्यों हुआ था बवाल

पिछले कुछ समय से बाजार में ऐसी अफवाह फैल रही थी कि यूपीआई ट्रांजैक्शन पर सरकार चार्ज वसूल कर सकती है। इसके साथ ही इस खबर को काफी लोग सोशल मीडिया और अन्य प्लेटफार्म पर फैला रहे थे। सोशल मीडिया पर यह बात काफी जोर से फैल रही थी कि यूपीआई ट्रांजैक्शन पर अब एक्स्ट्रा चार्ज देना होगा। खास बात यह है कि आजकल हर व्यक्ति यूपीआई ट्रांजैक्शन का आदि हो गया है, जिसके चलते लोगों के मन में चिंता बढ़ गई थी कि अगर यूपीआई ट्रांजैक्शन पर चार्ज लगा, तो उन्हें इसका बड़ा खामियाजा भुगतना पड़ सकता है। हालांकि अब सरकार ने साफ कर दिया है कि यूपीआई ट्रांजैक्शन पूरी तरह फ्री रहेंगे, यानी यूपीआई ट्रांजैक्शंस को लेकर सभी यूजर्स को कोई चिंता करने की जरूरत नहीं है।

यह भी पढ़ें: 21 हजार का डिस्काउंट और 17 हजार का एक्सचेंज ऑफर, इस मामूली कीमत में Mi 11X Pro 5G फिर नहीं मिलेगा

यूपीआई ट्रांजैक्शन के आंकड़े 

भारत में कुछ सालों में यूपीआई ट्रांजैक्शन ने बड़ी पकड़ हासिल कर रखी है। आपको जानकर हैरानी होगी लेकिन साल 2022 के जुलाई में करीब 6 Billion UPI transactions रिकॉर्ड किए गए हैं। अगर अगस्त महीने की बात करें तो 600 करोड़ यूपीआई ट्रांजैक्शन हो चुके हैं। Ministry of Information and Broadcasting के अनुसार फाइनेंशियल ईयर 2022 में 46 मिलियन यूपीआई ट्रांजैक्शन का आंकड़ा सामने आया है। वहीं अगर National Payments Corporation of India (NCPI) के आंकड़ों को देखें तो साल 2022 के जुलाई में 6.28 बिलियन से ज्यादा यूपीआई ट्रांजैक्शन देखने को मिले हैं। जिसमें 10.62 ट्रिलियन रुपए का लेनदेन सामने आया है। जबकि अगर साल 2021 की बात करें तो 22.28 बिलियन यूपीआई ट्रांजेक्शन रिकॉर्ड किए गए थे। वहीं साल 2022 में 46 बिलियन यूपीआई ट्रांजैक्शन अब तक हो चुके हैं। सरकार ने भी यूपीआई ट्रांजैक्शन के मामले में बड़ा काम किया है। सरकार की आगे योजना है कि अगले 5 सालों में हर रोज एक बिलियन यूपीआई ट्रांजैक्शन की संभावना बनेगी।

यह भी पढ़ेंसिर्फ 191 रु में खरीदें Nokia का यह 4G फीचर फोन, बड़ी स्क्रीन, FM रेडियो भी


अंकित ने पत्रकारिता की शुरुआत स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट के रूप में की थी लेकिन तकनीकी के प्रति विशेष रुझान इन्हें Mysmartprice हिंदी में लेकर आया है। पत्रकारिता के दौरान इन्होंने एक चीज बखूबी सीखा है और वह है आसान भाषा में लोगों को सटीक जानकारी देना। और यही खूबी इन्हें दूसरों से अलग बनाती है। यहां अंकित मोबाइल और तकनीक के साथ ऑटोमोबाइल्स सेग्मेंट को भी कवर करते हैं। पत्रकारिता में इन्हें 5 साल से ज्यादा का अनुभव है जहां इन्होंने राज एक्सप्रेस, थिंक विथ नीश, स्टेट न्यूज और बंसल न्यूज जैसे आर्गेनाइजेशन में अपना योगदान दिया है। इन्होंने माखनलाल चतुर्वेदी नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ जर्नलिज्म एंड कम्यूनिकेशन से मास्टर डिग्री ली है। साथ ही टाइम्स ग्रुप से बैंकिंग मैनेजमेंट में डिप्लोमा भी किया है।