शाओमी के बाद चीनी मोबाइल कंपनी Vivo के 40 ठिकानों पर ईडी की छापेमारी

चीनी मोबाइल कंपनी वीवो के खिलाफ छापेमारी प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (PMLA) की धाराओं के तहत की जा रही है। वीवो और उससे जुड़ी कंपनियों से जुड़े 40 स्थानों पर तलाशी ली जा रही है।

ED raids against Vivo

शाओमी के बाद एक और चीनी मोबाइल कंपनी वीवो (Vivo) के 40 ठिकानों पर ईडी (Enforcement Directorate ) ने छापेमारी की है। इस मामले को लेकर ईडी ने उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, बिहार और दक्षिण भारत के राज्यों में छापेमारी कर रही है। अधिकारियों ने कहा कि प्रवर्तन निदेशालय चीनी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी वीवो और उससे संबंधित फर्मों के खिलाफ मनी-लॉन्ड्रिंग जांच में देशभर के 40 स्थानों पर तलाशी ले रही है।

बता दें कि यह छापेमारी प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (PMLA) की धाराओं के तहत की जा रही है। उन्होंने बताया कि वीवो और उससे जुड़ी कंपनियों से जुड़े 40 स्थानों पर तलाशी ले रही है। इससे पहले 30 अप्रैल को ईडी के अधिकारियों ने अवैध जावक प्रेषण (illegal outward remittances) के संबंध में Xiaomi इंडिया से ₹5,551.27 करोड़ जब्त किए थे। विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (FEMA) के प्रावधानों के तहत कंपनी के बैंक खातों की जब्ती की गई थी।

अवैध प्रेषण (illegal remittances) की जांच इस साल फरवरी में शुरू की गई थी। ईडी ने दावा किया था कि कंपनी ने तीन विदेशी आधारित संस्थाओं को ₹5551.27 करोड़ के बराबर विदेशी मुद्रा प्रेषित की है, जिसमें रॉयल्टी की आड़ में Xiaomi समूह की एक इकाई शामिल है।

Vivo के 40 ठिकानों पर ईडी कि छापेमारी जारी है और जरूरी दस्तावेजों की जांच की जा रही है। इस मामले में सीबीआई भी जांच कर रही है। बता दें कि चीनी कंपनी पहले से ही भारतीय जांच एजेंसियों के निशाने पर हैं। हाल ही में केंद्र सरकार ने भारत में बिजनेस के लिए कंपनी के पड़ोसी देश में ऑरिजिन की छानबीन को तेज की है। मई महीने में ZTE Corp और वीवो मोबाइल कम्युनिकेशन के खिलाफ कथित रूप से वित्तीय अनियमितताओं की जांच की थी।