Xiaomi ने किया 5551 करोड़ रुपये का घोटाला, ED ने कसा शिकंजा

देश और दुनिया में स्मार्टफोन की दुनिया में तहलका मचाने वाली Xiaomi भारतीय सरकार के घेरे में आ चुकी है। दरअसल Xiaomi ने अब तक देश और दुनिया में बड़ा कारोबार फैलाया है। इस बड़े कारोबार के बीच करीब 725 मिलियन डॉलर की धांधली का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि, भारतीय सरकार के प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने Xiaomi के बैंक खाते से करीब 725 मिलियन डॉलर जब्त कर लिए हैं। इसे लेकर निदेशालय ने कहा है कि, चीनी मोबाइल निर्माता कंपनी ने भारतीय क्षेत्र से कुछ विदेशी स्थानों पर करीब 725 मिलियन डॉलर यानी 5551 करोड़ इधर-उधर किए है। आइए आपको आगे इस स्टोरी में बताते हैं क्या है इस बड़ी धांधली का सच।

यह भी पढ़ेंः TVS NTORQ 125 XT स्कूटर भारत में हुआ लॉन्च, नई तकनीक से लैस बेहद स्मार्ट हैं इसके फीचर्स

विदेशी में भेजी बड़ी रकम

प्रवर्तन निदेशालय से मिल रही जानकारी के मुताबिक श्यओमी टेक्नोलॉजी इंडिया प्राइवेट लिमिटेड द्वारा किसी न किसी रूप में बड़ी राशि विदेशी स्थानों पर भेजी गई है। इस राशि को भेजने के पीछे इस कंपनी की चीनी पैरंट कंपनी का बड़ा हाथ है। इतनी बड़ी रकम की धांधली करने के पीछे Xiaomi  ग्रुप को फायदा पहुंचाने का बड़ा लक्ष्य था। आपको बता दें  कि, कानून के मुताबिक किसी भी संस्था को इतनी बड़ी रकम विदेशी सरजमी पर भेजने की इजाजत नहीं है। इस मामले के सामने आने के बाद सरकार ने एक्शन लेते हुए इस बड़ी रकम को जब्त कर लिया है।

यह भी पढ़ेंः सरकार ने इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर की लॉन्चिंग पर लगाई रोक? जानें क्या है सच्चाई

कंपनी ने सफाई भी दी

विदेश में इतनी बड़ी रकम को इधर-उधर करने के बाद Xiaomi इंडिया ने अपनी तरफ से सफाई भी पेश की है। कंपनी का कहना है कि यह भुगतान रॉयल्टी भुगतान था। हमारे द्वारा जो भुगतान किया गया है उसमें पूरी सच्चाई है हमारे द्वारा की गई प्रक्रिया में कोई गलत बात नहीं है। हमारे द्वारा की गई प्रक्रिया भारत में हमारे प्रोडक्ट बनाने के लिए और लाइसेंस संबंधी मसलों के लिए की गई थी। अगर भारतीय सरकार को कुछ गड़बड़ी नजर आई है, तो हम इसके लिए भारतीय सरकार के साथ मिलकर इसे सुलझाने के प्रयास कर रहें हैं।


अंकित ने पत्रकारिता की शुरुआत स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट के रूप में की थी लेकिन तकनीकी के प्रति विशेष रुझान इन्हें Mysmartprice हिंदी में लेकर आया है। पत्रकारिता के दौरान इन्होंने एक चीज बखूबी सीखा है और वह है आसान भाषा में लोगों को सटीक जानकारी देना। और यही खूबी इन्हें दूसरों से अलग बनाती है। यहां अंकित मोबाइल और तकनीक के साथ ऑटोमोबाइल्स सेग्मेंट को भी कवर करते हैं। पत्रकारिता में इन्हें 5 साल से ज्यादा का अनुभव है जहां इन्होंने राज एक्सप्रेस, थिंक विथ नीश, स्टेट न्यूज और बंसल न्यूज जैसे आर्गेनाइजेशन में अपना योगदान दिया है। इन्होंने माखनलाल चतुर्वेदी नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ जर्नलिज्म एंड कम्यूनिकेशन से मास्टर डिग्री ली है। साथ ही टाइम्स ग्रुप से बैंकिंग मैनेजमेंट में डिप्लोमा भी किया है।