इन 4 तरीकों से रख सकते है अपने Whatsapp चैट को सुरक्षित

Whatsapp अपने प्राइवेसी अपडेट को लेकर विवादों में है, हालांकि लोगों के विरोध को देखते हुए इसने मई तक इसे रोक दिया है.

वाट्स एप द्वारा भेजी फोटो और दूसरी इंफारर्मेशन को सिक्यो र रखने के लिए आप कुछ बातों का ध्यासन रख सकते हैं. आप खुद सोच सकते हैं वाट्स एप में 700 मिलियन लोग ऑनलाइन रहते हैं जो हर महिने 30 मिलियन मैसेज भेजते और रिसीव करते हैं.


फिलहाल, फेसबुक के स्वामित्व वाले इंस्टेंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म व्हाट्सएप ने चार तरीके साझा किए, जिससे एक यूजर्स अपनी चैट को ‘सुरक्षित और निजी’ बनाए रख सकता है. यह संदेश #SaferInternetDay पर आया है.
मैसेजिंग ऐप ने ट्वीट किया, “हम आपकी गोपनीयता के लिए प्रतिबद्ध हैं. यहां आपके व्हाट्सएप चैट को सुरक्षित और निजी रखने के चार शानदार तरीके हैं.”

1) टू-स्टेप वेरीफिकेशन: ये आपके खाते में एक पिन एड की वैकल्पिक सुविधा है, जो इसे सुपर-डुपर सेफ बनाता है. व्हाट्सएप पर अपना फोन नंबर सफलतापूर्वक दर्ज करने के बाद आपको टू-स्टेप वेरीफिकेशन स्क्रीन दिखाई देगी. यहां आप बताए गए स्टेप को फॉलो करते रहे. आप चाहे तो अपना इमेल एड्रेस में इसमें एड कर सकते हैं.

2) बिना आपकी मर्जी के कोई ग्रुप में एड नहीं कर सकता
आप खुद ये तय कर सकते हैं कि आपके कॉन्टैक्ट से कौन आपको ग्रुप में एड कर सकता है.
इसके लिए व्हाट्सएप सेटिंग्स पर जाएं: एंड्रॉइड: ऑप्शन> सेटिंग्स> अकाउंट> प्राइवेसी> ग्रुप
IPhone पर: सेटिंग्स> अकाउंट> प्राइवेसी> ग्रुप को टैप करें.

3) रिपोर्ट स्पैम
किसी ऐसे व्यक्ति द्वारा मैसेज मिलता है, जो आपकी संपर्क सूची में नहीं है या वो स्पैमी या संदिग्ध दिखता है? आप इसे जल्दी और आसानी से रिपोर्ट कर सकते हैं.

4) प्रोफाइल
आप ये खुद चुन सकते हैं कि आपको कैसे दिखना है. आप अपनी प्रोफ़ाइल फ़ोटो, seen last time, about info सेट कर सकते हैं कि आपके संपर्क में से इसे कौन देख सकता है.

बोनस ट्रिक
आप जानते ही हैं कि वाट्स ऐप की कोई भी फोटो डाउनलोड करने पर वो फोन की गैलरी में सेव हो जाती है. इसके लिए आप अपने फोन की प्राइवेसी सेटिंग में जाकर फोटो ऑप्श न में लगा टिक मार्क हटा दें जिससे आपके वाट्स एप की फोटो गैलरी में नहीं सेव होगी.


सत्यव्रत का मानना है कि टेक्नॉलजी का जितना इस्तेमाल करेंगे, उतना जानेंगे. इसी के चलते उन्होंने टेक जर्नलिस्ट बनने का फैसला लिया. सत्यव्रत ने अपने करियर की शुरुआत दैनिक जागरण से की थी, साल 2015 में वह ज़ी न्यूज़ से जुड़े. वह न केवल टेक को अच्छी तरह से समझते हैं बल्कि यह भी जानते हैं कि कौन सी स्टोरी पाठकों को ज्यादा पसंद आती हैं. अब सत्यव्रत Mysmartprice से जुड़े हैं. और यहां भी उनका मकसद हर रोज बदल रही टेक्नॉलजी की दुनिया की हर बारीकी को आसान शब्दों में पाठकों तक पहुंचाना है.