गर्मी में इन बातों का रखें ध्यान, बाइक और स्कूटर नहीं होंगे ब्रेकडाउन के शिकार

देश में गर्मी का मौसम धीरे-धीरे अपनी रफ़्तार पकड़ रहा है, और हमेशा की तरह इस बार भी मई से लेकर जुलाई के महीने में काफी भयंकर गर्मी देखने को मिल सकती है। गर्मी में सबसे ज्यादा दिक्कत आती है बाइक और स्कूटर चलाने वालों की, एक तो गर्मी ऊपर से ट्रैफिक मिल जाए तो सफ़र काफी परेशान कर देता है, इतना ही नहीं इस बीच यदि आपका वाहन बीच रास्तें में ब्रेकडाउन का शिकार हो जाए तो फिर दिक्कतें कम होने की जगह बढ़ जाती हैं, अब गर्मी का तो कुछ कर नहीं सकते हैं लेकिन हां गर्मी में आपकी बाइक या स्कूटर ख़राब न हो तो ऐसे में यहां हम आपको कुछ जरूरी टिप्स बता रहे हैं जो जिनके इस्तेमाल से आप अपने वाहन को इस मौसम में भी फिट रख सकते हैं।

क्योंकि सर्विस है जरूरी

गर्मी शुरू होने से पहले ही अपनी बाइक/स्कूटर की सर्विस जरूर का लें, ताकि अगर कोई छोटी-मोटी समस्या हो तो आपको पहले ही पता चल जाए। याद रखें अपने वाहन की सर्विस हमेशा Authorized सर्विस सेंटर पर ही करानी चाहिये। लोकल जगह से सर्विस कराने से बचना चाहिये।

इंजन ऑयल समय पर बदलें

समय पर इंजन ऑयल बदलना सबसे जरूरी होता है, ताकि इंजन स्मूथ चले. कोशिश कीजिये की हर 1500-2000 किलोमीटर पर बाइक/स्कूटर का इंजन ऑयल चैक करा लें या जब तक इंजन ऑयल कम या काला न पड़ जाए। ऐसा करने से इंजन बेहतर और स्मूथ चलेगा, साथ ही क्लच को भी नुकसान नहीं होगा। साथ ही साथ बाइक की चेन सेट को चेक करा लें, अगर ढीली हो गई हो तो थोड़ा सेट करवा लें।

एयर फिल्टर की सफाई है जरूरी

वाहन में लगे एयर फिल्टर की सफाई बेहद जरूरी होती है, अगर यह गंदा होगा तो इसका असर इंजन पर पड़ेगा और आपको परफॉरमेंस सही नहीं मिलेगी. अक्सर लोग एयर फिल्टर की सफाई को नजर अंदाज कर देते हैं जिसकी वजह से इंजन को नुकसान उठाना पड़ता है। इसलिए समय-समय पर एयर फिल्टर की सफाई जरूरी है।

स्पार्क प्लग जरूर चेक कर लें

इंजन में लगे स्पार्क प्लग की सफाई बेहद जरूरी है, कई बार इसमें कचरा या कार्बन आ जाने से इंजन स्टार्ट होने में काफी दिक्कत होने होती है। लोग स्पार्क प्लग पर ध्यान नहीं देते। इसलिए 1500-2000 किलोमीटर पर स्पार्क प्लग को बदल देना चाहिये।

बैटरी जरूर चैक करें

बाइक हो या स्कूटर समय-समय पर इनकी बैटरी को भी चैक करें। बैटरी में सबसे ज्यादा ध्यान देने की जरूरत यह है कि कहीं इसमें कोई लीकेज तो नहीं है अगर ऐसा है तो तुरन्त ठीक करा लेना ही बेहतर होता है। अगर बैटरी कमजोर पड़ने लगे तो इसे नज़रअंदाज न करें।

टायर्स में हवा सही रखें

हफ्ते में एक बार अपने वाहन में हवा का प्रेशर जरूर चेक करें, हवा कम या ज्यादा होने से वाहन की परफॉरमेंस पर बुरा असर पड़ता है. इतना ही नहीं समय-समय पर व्हील बैलेंसिंग कराना भी फायदेमंद रहता है। अगर टायर्स घिस गये हैं या फटने लगे हैं तो तुरंत उन्हें बदलवा लेना चाहिये। आजकल नाइट्रोजन हवा आसानी से मिल जाती हैं, यह टायर्स के लिए काफी फायदेमंद साबित होती है।