कपैसिटी से लेकर लेटेस्ट टेक्नोलॉजी तक, फ्रिज खरीदने जा रहे हैं तो इन बातों का रखें ध्यान

fridge buy guide
ऐसे चुनें फैमिली के लिए परफेक्ट फ्रिज

अगर आप भी गर्मियों के लिए फ्रिज लेने के बारे में सोच रहे हैं तो आपके सामने भी कई सारे सवाल होंगे। बाजार में कई कंपनियों के फ्रिज हैं और सब अलग-अलग टेक्नोलॉजी के साथ आते हैं। ऐसे में आपका कन्फ्यूज होना भी तय है। अगर आप बाजार में फ्रिज लेने जाएंगे तो आपके सामने कई सारे सवाल होंगे। कितनी कपैसिटी का लें? किस टेक्नोलॉजी का लें? कंप्रेशर इन्वर्टर लें या फिर नॉर्मल? अगर आपके भी दिमाग में ऐसे सवाल हैं तो हमारी ये रिपोर्ट आपके बहुत काम आएगी।

इस रिपोर्ट में हम आपको एक सही और अच्छा फ्रिज चुनने के लिए सभी स्टेप्स बताएंगे। इन्हीं स्टेप्स को फॉलो करके आप अपने लिए एक बेस्ट फ्रिज ले सकते हैं। अगर आपको फ्रिज के बारे में सब पता है लेकिन आप केवल चॉइस को लेकर कन्फ्यूज हैं तो आप 15,000 रुपये से कम के बेस्ट फ्रिज की लिस्ट यहां क्लिक कर जान सकते हैं और 35,000 रुपये से कम के बेस्ट फ्रिज के बारे में यहां क्लिक कर पढ़ सकते हैं। चलिए आपको बताते हैं…

फैमिली के हिसाब से करें फ्रिज की कपैसिटी का चुनाव
सबसे जरूरी चीज है फ्रिज की कपैसिटी, यानी कि फ्रिज कितने लीटर का होना चाहिए? इसके लिए आप अपने परिवार के सदस्यों को आधार बनाइए। अगर आप अकेले या फिर 2 लोगों के लिए फ्रिज लेना चाहते हैं तो आपके लिए 50 से 100 लीटर तक का फ्रिज सही है। अगर आप 3 से 5 लोगों के लिए फ्रिज लेना चाहते हैं तो आपके लिए 150 लीटर से 250 लीटर तक के फ्रिज काफी हैं। अगर आप 7-8 या फिर अधिक लोगों के परिवार में रहते हैं और उस हिसाब से फ्रिज लेना चाहते हैं तो आपको 500 लीटर या अधिक का फ्रिज लेना चाहिए।

फ्रिज की टेक्नोलॉजी का चुनाव
आमतौर पर फ्रिज दो टेक्नोलॉजी पर चलते हैं। एक डायरेक्ट कूल और दूसरा फ्रॉस्ट फ्री टेक्नोलॉजी। डायरेक्ट कूल टेक्नोलॉजी वाले फ्रिज थोड़े सस्ते आते हैं और बिजली भी कम उपभोग करते हैं। हालांकि इनके साथ दिक्कत ये है कि इनमें ग्राहकों को खुद से 10-15 दिन में पूरी बर्फ साफ करनी पड़ती है। वहीं फ्रॉस्ट फ्री (Frost Free) टेक्नोलॉजी वाले रेफ्रिजरेटर तुलनात्मक रूप से थोड़े महंगे आते हैं और ये बिजली भी अधिक कंज्यूम करते हैं। हालांकि इसमें अपने आप डी फ्रॉस्टिंग हो जाती है।

fridge buying guide
परिवार के लिए ऐसे चुनें बेस्ट फ्रिज

फ्रिज में दरवाजों की संख्या
आप तय कीजिए कि आपको कितने दरवाजों वाला फ्रिज लेना है? सामान्यतः फ्रिज 4 प्रकार के आते हैं। सिंगल डोर, डबल डोर, ट्रिपल डोर और साइड बाय साइड। जैसे कि नाम से ही स्पष्ट है कि किसी में एक दरवाजा आता है तो किसी में तीन दरवाजे आते हैं। सिंगल डोर 2-3 मेंबर्स के लिए और साइड बाय साइड फ्रिज 8-9 मेंबर्स वाली फैमिली के लिए उपयुक्त होते हैं। साथ ही डबल डोर फ्रिज में एक अलग से दरवाजा केवल बर्फ जमाने वाले कम्पार्टमेंट के लिए होता है और दूसरा बाकी फ्रिज के लिए।

इलेक्ट्रिसिटी उपभोग का ध्यान रखें
इसके लिए आप फ्रिज के रेटिंग्स का ध्यान रखें। फ्रिज स्टार्स की रेटिंग के साथ आते हैं यानी 1 स्टार, 2 स्टार, 5 स्टार। इसका मतलब है कि जितने अधिक स्टार्स, उतनी ही कम बिजली की खपत और उतनी ही अधिक बचत। हालांकि जितने अधिक स्टार्स रेटिंग वाला फ्रिज होगा, कीमत भी थोड़ी सी अधिक होगी। अगर आप फ्रिज कम स्टार्स वाला लेते हैं तो आपको बिजली में काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है।

कंप्रेशर का भी रखें ध्यान
फ्रिज में दो तरह के कंप्रेशर आते हैं। एक आम कंप्रेशर और दूसरा इन्वर्टर कंप्रेशर। आम कंप्रेशर में होता ये है कि जो टेंप्रेचर आपने सेट किया है। जैसे ही फ्रिज उस टेंप्रेचर पर आता है तो कंप्रेशर अपने आप बंद हो जाता है और फिर जैसे ही फ्रिज का तापमान बढ़ने लगता है तो कंप्रेशर चालू होता है। इससे ये बिजली अधिक खपाता है और साथ में इसके खराब होने की संभावनाएं भी बढ़ जाती हैं। वहीं इन्वर्टर कंप्रेशर फ्रिज का तापमान सेट टेंप्रेचर तक आने के बाद बंद नहीं होता बल्कि अपनी स्पीड स्लो कर लेता है। जैसे ही फ्रिज का तापमान बढ़ता है तो कंप्रेशर तुरंत स्पीड पकड़कर फिर से तापमान को सही डिग्री पर लात है। ये काफी बिजली बचाता है। ऐसे में जितना हो सके, इन्वर्टर कंप्रेशर वाला फ्रिज ही लें।