प्रोसेसर के आधार पर कैसे करें स्मार्टफोन का चयन

भारत में स्मार्टफ़ोन इस्तेमाल करने वाले लोगों की तादाद बढ़ती जा रही है. हर कोई ऐसा फ़ोन खरीदना चाहता है जो फटाफट चले और आप उसपर आसानी से मल्टीटास्किंग कर सके.

किसी भी फ़ोन की स्पीड और उसके काम करने का लेवल प्रोसेसर पर निर्भर करता है. प्रोसेसर फ़ोन के दिमाग की तरह काम करता है और उसमें हो रहे सभी तरह के काम कंट्रोल करता है. यह एक तरह का इलेक्ट्रॉनिक सर्किट होता है जो एक चिप की तरह दिखाई देता है और प्रोसेसर का चिपसेट जितना अच्छा होगा उतनी ही फ़ोन की परफॉरमेंस अच्छी होती है.

एंड्राइड फ़ोन की बात करें तो उसमें प्रोसेसर की परफॉरमेंस का अनुमान ज्यादातर कोर के आधार पर लगाया जाता है, ये तीन तरह के होते हैं-

सिंगल कोर:

सिंगल प्रोसेसिंग यूनिट पर काम करने वाले फ़ोन में मल्टीटास्किंग करने में परेशानी होती है. सिंगल कोर प्रोसेसर उन लोगों के लिए बिलकुल भी सही नहीं है जो फ़ोन पर गेमिंग का आनंद लेना चाहते हैं. यह बुनियादी प्रोसेसर है जो सामान्य इन्टरनेट का इस्तेमाल या हलके एप्लीकेशन के लिए सही रहता है.

ड्यूल कोर:

जैसा कि नाम से ही समझ आ रहा है यहां पर कर की संख्या दो हो जाती है. यहां पर आप इन्टरनेट के साथ साथ कोई ना कोई एप्लीकेशन भी आसानी से इस्तेमाल कर सकते हैं. यह प्रोसेसर बेसिक के मुकाबले जरा बेहतर रिजल्ट देने में कामयाब रहता है.

क्वाड कोर:

इसमें ड्यूल कोर के अलावा दो और कोर दिए जाते हैं. 4 कोर के साथ ये प्रोसेसर डाटा ट्रान्सफर तो तेज़ी से करता ही है साथ ही ये गेमिंग के दीवानों के लिए काफी सही विकल्प है.

ऑक्टा-कोर:

यह लेटेस्ट प्रोसेसर में से एक है. इसमें 8 कोर होते हैं और इनके चलते ये प्रोसेसर ना सिर्फ स्मार्टफोन की स्पीड और उसकी परफॉरमेंस को शानदार बना देता है बल्कि वीडियो डाउनलोडिंग, स्ट्रीमिंग, मल्टी-टास्किंग का भी उत्तम अनुभव प्रदान करता है.

कोर के आधार पर आप अपनी ज़रूरत के हिसाब से प्रोसेसर का चुनाव कर सकते हैं.साथ ही  आइए आपको बताते है कि बाज़ार में आजकल कौनसे प्रोसेसर आजकल चलन में है-

क्वालकॉम स्नैपड्रैगन(Qualcomm snapdragon)

यह प्रोसेसर काफी ज्यादा पसंद किया जाता है क्योंकि इसकी स्पीड Ghz में रहती है और इसकी परफॉरमेंस भी काफी अच्छी है. यह ज्यादातर गेमिंग के लिए इस्तेमाल किया जाता है. अगर आपका बजट 10,000 तक है तो आप इसके चुनाव कर सकते हैं.

मीडियाटेक(Mediatek)

इसकी परफॉरमेंस स्नैपड्रैगन से जरा कम रहती है और मिडरेंज या सस्ते स्मार्टफ़ोन इसका ज्यादातर इस्तेमाल करते हैं.

सैमसंग एक्सीनोक(Samsung Exynos):

ये सैमसंग का खुद का बनाया हुआ प्रोसेसर है. इसकी स्पीड और परफॉरमेंस बहुत बेहतरीन है और सैमसंग इसी महंगे स्मार्टफ़ोन में इस्तेमाल करते हैं.

किरीन(Kirin): यह प्रोसेसर भी आम इस्तेमाल के लिए काफी अच्छा है पर अगर आप गेमिंग के लिए ये प्रोसेसर इस्तेमाल करना चाहते हैं तो आपको थोड़ी निराशा हो सकती है. गेमिंग के समय ये प्रोसेसर ज्यादा अच्छी परफॉरमेंस नहीं दे पाता है.

इस तरह से आप अपने बजट और ज़रूरत के आधार पर सही प्रोसेसर वाले फ़ोन का चुनाव कर सकते हैं. मार्केट में आपको इन्हें लेकर विकल्प की कमी बिल्कुल नहीं होगी.


सत्यव्रत का मानना है कि टेक्नॉलजी का जितना इस्तेमाल करेंगे, उतना जानेंगे. इसी के चलते उन्होंने टेक जर्नलिस्ट बनने का फैसला लिया. सत्यव्रत ने अपने करियर की शुरुआत दैनिक जागरण से की थी, साल 2015 में वह ज़ी न्यूज़ से जुड़े. वह न केवल टेक को अच्छी तरह से समझते हैं बल्कि यह भी जानते हैं कि कौन सी स्टोरी पाठकों को ज्यादा पसंद आती हैं. अब सत्यव्रत Mysmartprice से जुड़े हैं. और यहां भी उनका मकसद हर रोज बदल रही टेक्नॉलजी की दुनिया की हर बारीकी को आसान शब्दों में पाठकों तक पहुंचाना है.