मोबाइल नंबर पुराना, ऑपरेटर नया, जानें पोर्टेबिलिटी से जुड़ी हर बात, है बहुत आसान

किसी भी टेलीकॉम ऑपरेटर की सर्विस से परेशान होने के बाद भी अपना नंबर न बदलने की मजबूरी के चलते कई बार लोग दूसरी कंपनी की सुविधा का लाभ नहीं ले पाते थे। लेकिन यूजर्स की इस परेशानी को हल करने के लिए मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी यानी MNP सर्विस शुरू की गई। हालांकि ये सुविधा काफी समय से मिल रही है लेकिन कई लोग अभी भी मिल जाते हैं जो इस सुविधा के बारे में नहीं जानते हैं। आपको बता दें कि ये सुविधा कंपनियों को मनमानी करने से रोकती है और ग्राहकों के पास ये सुविधा होती है कि यदि वो किसी कंपनी के प्लान या सर्विस से परेशान हैं तो बहुत ही आसानी से किसी दूसरी कंपनी की सुविधा का लाभ उठा सकते हैं और आपका मोबाइल नंबर भी नहीं बदलेगा। इसके लिए लगभग 20 रुपये सिम की कीमत ही आपसे ली जाती है, इसके अलावा कोई चार्ज नहीं लिया जाता। कई बार तो यह सुविधा बिल्कुल फ्री होती है।

एक उदाहरण के जरिए आसान भाषा में आप ऐसे समझिए कि मान लीजिए अभी आपके पास जियो की सिम है लेकिन आपके फोन में नेट नहीं चलता या फिर नेटवर्क की परेशानी है लेकिन आपके उसी इलाके में किसी दूसरे ऑपरेटर जैसे एयरटेल या वोडाफोन-आइडिया की सिम में इंटरनेट बढ़िया चलता है या फिर कॉल कनेक्टिविटी बढ़िया है तो आप बिना अपना पुराना नंबर बदले एयरटेल या वोडाफोन-आइडिया की सर्विस का फायदा उठा सकते हैं। इस सुविधा का लाभ आप किसी भी कंपनी का ग्राहक रहते हुए ले सकते हैं। यदि आप अभी एयरटेल या वोडाफोन का नंबर इस्तेमाल करते हैं और उसकी सर्विस से खुश नही हैं तो आप बिना अपना नंबर बदले जियो की सर्विस ले सकते हैं। इसी को सुविधा को मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी (MNP) कहते हैं।

यदि आप भी अपने वर्तमान ऑपरेटर के प्लान, नेटवर्क या कॉल क्वालिटी से परेशान हैं और चाहते हैं कि आपका नंबर न बदले यानी पुराने नंबर पर ही दूसरे ऑपरेटर की सर्विस मिल जाए तो हम आपको बता रहे हैं इसका आसान तरीका-

1- इसके लिए आपको पहला काम ये करना है कि यूनिक पोर्टिंग कोड (UPC) प्राप्त कर लें। दरअसल
MNP के लिए एक यूनिक पोर्टिंग कोड की जरूरत होती है। इसी कोड के जरिए ही आपका नंबर दूसरे ऑपरेटर में पोर्ट होगा।

2- यदि आप अपने मौजूदा ऑपरेटर (जियो, एयरटेल, वोडाफोन-आइडिया, बीएसएनएल) से खुश नहीं हैं तो आप अपने वर्तमान नंबर से ‘PORT’ लिखकर 1900 पर मैसेज भेज दें। इसके बाद आपको मैसेज के जरिए एक यूपीसी (UPC) कोड आएगा।

3- इसके बाद आप किसी भी नजदीकी टेलीकॉम दुकान पर अपना पहचान पत्र और फोटो लेकर जाएं और दुकानदार को यूपीसी कोड बताकर अपने पसंद की कंपनी का नया सिम कार्ड ले सकते हैं। नया सिम देखकर आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है कि नया सिम है तो मोबाइल नंबर भी नया हो जाएगा। ऐसा बिल्कुल भी नहीं होगा, मोबाइल नंबर आपका पुराना ही रहेगा। लेकिन एक बात का ध्यान रखें जो UPC कोड मिलता है वो 3 से 5 दिनों तक मान्य होता है। यदि आप इसके बाद अपने नंबर को पोर्ट कराने जाते हैं तो आपको दोबारा UPC कोड प्राप्त करने के लिए फिर से मैसेज करना होगा।

4- ऊपर की सारी प्रक्रिया पूरी करने के बाद आप 4-5 का इतंजार करिए। आपके पुराने सिम का नेटवर्क गायब होते ही नई सिम चालू हो जाएगी। यदि नई सिम को आप दुकान से मिलते ही फोन में लगा लिए हैं और 4-5 दिन बीत जाने के बाद भी उसमें नेटवर्क नहीं आ रहा है तो एक बार आप अपने फोन को ऑन-ऑफ करके देखें। नेटवर्क आ जाएगा। यदि आपने फोन में सिम नहीं लगाया है तो जब आपके पुराने सिम का नेटवर्क गायब हो जाए उसके बाद नई सिम को फोन में लगाएं। आपकी नई सिम एक्टिवेट हो जाएगी। ध्यान दें यदि आप जम्मू और कश्मीर, असम और उत्तर पूर्व क्षेत्रों से हैं तो पोर्टिंग में 15 दिन का समय लग सकता है।

5- नेटवर्क आने के बाद आपको एक वेरिफिकेशन कराना होगा। वेरिफिकेशन की जानकारी सिम देने वाला दुकानदार ही आपको दे देता है, अगर नहीं देता है तो आप उससे पूछ लें कि वेरिफिकेशन के लिए किस नंबर पर कॉल करना होगा। बताए गए नबंर पर कॉल कर अपना वेरिफिकेशन करा लें और फिर अब आपकी सिम सभी सुविधाओं के साथ चालू हो जाएगी।

शर्त- एमएनपी के लिए एक महत्वपूर्ण बात यह है कि यदि आप वर्तमान ऑपरेटर के नेटवर्क को बदलना चाहते हैं तो आपका यह नंबर कम से कम 90 दिन (3 महीने) पुराना होना चाहिए।

एक बात का और ध्यान रखें कि नंबर पोर्ट कराने के बाद आपके नंबर का वर्तमान रिचार्ज प्लान काम नहीं करेगा, नई सिम के लिए आपको आपके द्वारा चुने गए नए ऑपरेटर के प्लान के मुताबिक रिचार्ज कराना होगा।

पोर्टिंग को कैसे वापस लें?
यदि आपने अपने नंबर की पोर्टिंग के लिए 1900 पर मैसेज भेज दिया है लेकिन किसी कारण से आपका प्लान बदल गया और अब आप पोर्ट नहीं कराना चाहते हैं तो 24 घंटे के भीतर आप पोर्टिंग रिक्वेस्ट कैंसिल कर सकते हैं। इसके लिए आपको मैसेज में ‘CANCEL’ लिखकर 1900 पर भेजना होगा।