हाल ही में नौकरी बदली है? पुराने PF का पैसा नए अकाउंट में आसान स्टेप्स से करें ट्रांसफर

epfo online
ऐसे ट्रांसफर करें पुराना पीएफ

अगर आप भी नौकरी पेशा हैं तो पीएफ शब्द और पीएफ अकाउंट (PF Account) से बखूबी परिचित होंगे। ये एक तरह का अकाउंट होता है जिसमें आपकी बेसिक सैलरी का 12% भाग आपकी ही सैलरी से जमा किया जाता है और इतना ही हिस्सा आपकी कंपनी जमा करती है। अब एक शख्स पूरी जिंदगी एक ही कंपनी में तो काम करता नहीं है। इसलिए अलग-अलग कंपनियों में काम करने पर आपका पीएफ अकाउंट भी बदल जाता है। ऐसी स्थिति में आपके लिए जरूरी है कि आप सभी अकाउंट का बैलंस एक ही अकाउंट में ट्रांसफर कर लें।

इससे फायदा ये है कि कभी जरूरत के वक्त आसानी से निकासी कर पाएंगे। साथ ही फिर आपको एक ही अकाउंट को मैनेज करना होता है। दूसरे पीएफ खाते का बैलंस नए खाते में ट्रांसफर करना एक आसान प्रक्रिया है लेकिन कई लोगों को इसमें बहुत कन्फ्यूजन होती है। अपनी इस खास रिपोर्ट में हम आपको स्टेप बाय स्टेप अपने बैलंस को नए खाते में ट्रांसफर करने का तरीका बता रहे हैं। चलिए शुरू करते हैं…

क्या होता है पीएफ अकाउंट?
पीएफ अकाउंट यानी कि प्रोविडेंट फंड अकाउंट (Provident Fund) एक तरह का निवेश खाता है जो आपका एम्प्लॉयर खोलता है। इसमें आपकी बेसिक सैलरी का 12% आपकी सैलरी से जमा किया जाता है और इतना ही आपकी कंपनी जमा करती है। कंपनी 8.33% पैसा ईपीएफ (एम्प्लॉई प्रोविडेंट फंड) और 3.67% पेंशन अकाउंट में जमा करवाती है। जब भी आप दूसरी कंपनी में काम करते हैं तो आपका एक नया खाता खुल जाता है। इसके लिए जरूरी है कि आप अपनी पुरानी कंपनी के पीएफ बैलंस को नए खाते में ट्रांसफर करवा लें।

इससे आपका सारा पैसा एक ही खाते में आ जाएगा और फिर इमरजेंसी में उसका इस्तेमाल कर सकते हैं। आपका पहला खाता जब भी खुलता है तो उसी वक्त आपका एक यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN) भी बन जाता है। जब भी आप कहीं नौकरी बदलते हैं आपका पीएफ अकाउंट बदलता है लेकिन यूएएन नंबर वही रहता है। एक खाते से दूसरे में पीएफ का पैसा ट्रांसफर करने के लिए आपको UAN नंबर बहुत काम आता है।

कैसे करें पीएफ ट्रांसफर?
सबसे पहले आपको ईपीएफओ (Employee Provident Fund Organization) के यूनिफाइड मेंबर पोर्टल (https://unifiedportal-mem.epfindia.gov.in/memberinterface/) पर जाना है। आप यहां भी क्लिक कर सकते हैं। यहां पर आपको अपना यूएएन नंबर और पासवर्ड दर्ज करना है। अगर आपका यूएएन नंबर यहां एक्टिव नहीं है तो पहले अपने यूएएन नंबर को ईपीएफओ पोर्टल पर रजिस्टर करें और पासवर्ड सेट करें। एक बार लॉगइन करने के बाद आपके सामने एक होम पेज खुलेगा।

pf online
स्टेप्स में जानें पीएफ ट्रांसफर करने का तरीका

यहां आपको ऑनलाइन सर्विस पर जाना है और फिर वन मेंबर, वन ईपीएफ अकाउंट (One Member One EPF Account) पर क्लिक करना है। अब यहां आपकी वर्तमान नौकरी से जुड़ी जानकारी दिखेगी। आपको इसे वेरिफाई करना है। याद रखें एक बार सारी डीटेल्स अच्छे से चेक करके ही वेरिफाई करें। इतना करने के बाद आपको गेट डीटेल्स नाम के विकल्प पर टैप करना है। यहां टैप करते ही आपके सामने पिछली नौकरी के पीएफ अकाउंट की जानकारी आ जाएगी।

अब यहां आपको ऑनलाइन क्लेम फॉर्म को अटेस्ट करना है। यहां से आपको वर्तमान या पूर्व में से एक कंपनी को चुनने का विकल्प मिलेगा। आप किसी एक का चुनाव करिए। अब कंपनी का चयन कर मेंबर आईडी या यूएएन नंबर दर्ज करें। इसे बाद सबसे आखिर में गेट ओटीपी का विकल्प मिलेगा। आपको इस पर क्लिक करना है। आपका जो भी नंबर UAN में दर्ज होगा, उसी पर ओटीपी आएगा। बस नम्बर पर आए ओटीपी को दर्ज कर सबमिट कर दीजिए। आपका काम हो गया। सबमिट करने पर आपको एक रेफेरेंस नंबर मिलेगा। आप इससे अपना स्टेटस चेक कर सकते हैं।

इन बातों का रखें ध्यान
सबसे पहला तो कि आपका वैलिड यूएएन नंबर ईपीएफओ मेंबर्स की साइट पर एक्टिवेट होना चाहिए। साथ ही यूएएन में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर भी चालू रहना चहिए। ओटीपी इसी नंबर पर आता है। साथ ही बैंक अकाउंट और आधार नंबर भी यूएएन के साथ लिंक होने चाहिए। आवेदन करने से पहले ऊर्जा को दी गई सारी जानकारी का सत्यापन करना जरूरी है। अपनी आईडी कार्ड (पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस) जरूर साथ रखें। इन सबके अलावा उजर्ड को पिछली कंपनी में नियुक्ति की जनकारी देनी होती है। इसकी तारीख पोर्टल पर अपडेट होनी चाहिए।