National Pension System (NPS) : कैसे चेक करें अपना एनपीएस अकाउंट बैलेंस, जानें तरीका

NPS अकाउंट का बैलेंस ऑनलाइन आसानी से चेक कर सकते हैं, आइए जानते हैं इसका सबसे आसान तरीका...

How to check NPS account balance

National Pension System (NPS) एक स्वैच्छिक, सेवानिवृत्ति बचत योजना है। यह भारत के प्रत्येक नागरिक को पर्याप्त सेवानिवृत्ति आय प्रदान करने की समस्या का स्थायी समाधान खोजने की दिशा में एक प्रयास है। 18 से 60 वर्ष की आयु के नागरिक एनपीएस खाता खोल सकते हैं और अपनी बचत शुरू कर सकते हैं। एनपीएस खाता बनाए रखने के लिए सेवानिवृत्ति यानी रिटायरमेंट तक न्यूनतम 6,000 रुपये का वार्षिक योगदान करना होगा। इसके अलावा, सेवानिवृत्ति कोष दो कारकों पर निर्भर करता है, खाते में किए गए योगदान और निवेश पर उत्पन्न आय।

वैसे तो National Pension System Trust (NPST) की वेबसाइट के अनुसार, आपके एनपीएस खाते के लिए लेन-देन का विवरण (SOT) संबंधित सीआरए द्वारा वर्ष में एक बार आपके पंजीकृत पते पर मुद्रित और भेजा जाएगा। इसके अलावा और भी अन्य तरीके हैं जिनकी मदद से आप कहीं भी, कभी भी ऑनलाइन बैलेंस की जांच कर सकते हैं। आज की रिपोर्ट में हम आपको वह तरीके बताने जा रहे हैं। आइये डालते हैं एक नजर….

NSDL

NSDL वेबसाइट के माध्यम से बैलेंस ऐसे चेक करें

  • NSDL पोर्टल पर जाएं।
  • लॉग इन करने के लिए अपने PRAN (स्थायी सेवानिवृत्ति खाता संख्या) को एक यूजर आईडी और अपने खाते के पासवर्ड के रूप में उपयोग करें।
  • इसके बाद कैप्चा कोड दर्ज करें।
  • “Transaction Statement” section के तहत “Holding Statement” विकल्प पर क्लिक करें।
  • इसके बाद स्क्रीन पर आपका कुल बैलेंस प्रदर्शित होने लगेगा।

ये भी पढ़ें:FD Interest Rates : जानें Fixed Deposit पर कौन -सा बैंक दे रहा है सबसे अधिक ब्याज

NSDL ई-गवर्नेंस एप्लिकेशन के माध्यम से बैलेंस चेक करें

NPS मोबाइल एप्लिकेशन का उपयोग करके सुविधाजनक तरीके से अपने फोन पर एनपीएस बैलेंस जांचा जा सकता है। ऐप डाउनलोड करने के बाद आप नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें।

  • अपने एनपीएस खाते में लॉग इन करने के लिए अपना PRAN और पासवर्ड दर्ज करें।
  • लॉग इन करने पर आप वर्तमान तिथि के अनुसार अपनी एनपीएस होल्डिंग राशि देख सकते हैं जिसमें लेनदेन विवरण के साथ टियर- I और II होल्डिंग राशि शामिल है।
  • आप अपनी पंजीकृत ईमेल आईडी पर एक “Email Transaction Statement” भी प्राप्त कर सकते हैं।
  • आप इस ऐप का उपयोग करके अपना रेजिस्टर्ड फोन नंबर और ईमेल आईडी भी मैनेज कर सकते हैं।

इसके अलावा, ग्राहक इस एप्लिकेशन का उपयोग करके एनपीएस टियर- II खातों से निकासी कर सकते हैं। उन्हें केवल अपने पंजीकृत मोबाइल नंबरों पर एक ओटीपी प्राप्त करने के बाद एक ओटीपी दर्ज करना होगा और निकासी विवरण दर्ज करना होगा। फिर, संबंधित सीआरए से अनुमोदन प्राप्त करने पर राशि उनके खातों में जमा की जाएगी।

ये भी पढ़ें:Indian Post Internet Banking : घर बैठे ऑनलाइन खोलें और बंद करें KVP, NSC अकाउंट, जानें तरीका

UMANG

UMANG ऐप का उपयोग करके एनपीएस खाते का बैलेंस ऐसे चेक करें

UMANG प्लेटफॉर्म, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) और राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस डिवीजन द्वारा बनाया गया प्लेटफॉर्म है जो NPS सेवाएं प्रदान करता है। आप इस ऐप को डाउनलोड कर नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो कर अपने एनपीएस खाते का बैलेंस चेक कर सकते हैं।

  • सबसे पहले अपने फोन पर UMANG ऐप डाउनलोड करें।
  • UMANG ऐप खोलें, NPS services में जाएं।
  • NPS ऑप्शन चुनने के बाद अपने प्रासंगिक सीआरए पर क्लिक करें।
  • “Current Holding” विकल्प का चयन करने के बाद निम्न स्क्रीन पर अपना Permanent Retirement Allotment Number (PRAN) डालें और पासवर्ड दर्ज करें।
  • अपने खाते की शेष राशि के विवरण तक पहुंचने के लिए “Login” पर क्लिक करें।

SMS के जरिए एनपीएस बैलेंस ऐसे चेक करें

  • अपने एनपीएस रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से 9212993399 पर मिस्ड कॉल दें।
  • आप अपने पंजीकृत फोन नंबर पर एक एसएमएस के माध्यम से अपने खाते की शेष राशि का विवरण प्राप्त करेंगे।

अपने एनपीएस खाते से संबंधित कोई भी जानकारी प्राप्त करने के लिए आप (022) 2499 3499 पर ग्राहक सेवा से संपर्क कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें:गलती से किसी और के अकाउंट में हो जाए UPI ट्रांजैक्शन, तो ऐसे करें रिपोर्ट और पाएं रिफंड


कहते हैं महिलाएं तकनीक के उपयोग में पीछे हैं लेकिन अनुपमा इसी सोच को बदलना चाहती हैं और इसलिए इन्होंने तकनीकी पत्रकारिता को चुना है। नई टेक्नोलॉजी के बारे में जानना और आसान शब्दों में उसे बयां करना इन्हें काफी अच्छा लगता है। Curious नेचर और लिखने का शौक इन्हें how to's, tech और auto के बारे में लिखने के लिए प्रोत्साहित करता है। ये HNB Garhwal Central University से साइंस में ग्रेजुएट और मास कम्युनिकेशन एंड जर्नलिज्म में पोस्ट ग्रेजुएट हैं। खाली समय में गार्डनिंग, ट्रेवलिंग और ड्राइविंग करना इनकी हॉबी है।