Offline UPI Payment : बिना इंटरनेट भी कर पाएंगे UPI Payment, जानें यह आसान तरीका

इंटरनेट कनेक्टिविटी न होने की वजह से या स्मार्टफोन के आभाव में आप डिजिटल पेमेंट की लाभ नहीं उठा सकते हैं, तो हमारी यह रिपोर्ट आपके बहुत काम आने वाली है।

How To Make Offline UPI Payment

UPI Payment डिजिटल भुगतान का एक सामान्य तरीका है। सामान्यतया लोगों को लगता है कि इसके लिए इंटरनेट कनेक्शन होना अनिवार्य है। अगर आपको भी यही लगता है कि इंटरनेट कनेक्टिविटी न होने की वजह से या स्मार्टफोन के आभाव में आप डिजिटल पेमेंट की लाभ नहीं उठा सकते हैं, तो हमारी यह रिपोर्ट आपके बहुत काम आने वाली है। National Payments Corporation of India (NPCI) द्वारा नवंबर 2021 में लांच *99#, एक USSD (Unstructured Supplementary Service Data) आधारित मोबाइल बैंकिंग सेवा हैं, जिसके माध्यम से आप पैसे भेजने, UPI पिन बदलने और यहां तक कि बिना इंटरनेट कनेक्शन के खाते की शेष राशि की जांच भी कर सकते हैं। आज हम आपको ऑफलाइन UPI पेमेंट सेटअप करने और पेमेंट करने के स्टेप बाय स्टेप तरीके के बारे में बताने जा रहे हैं। आइये डालते हैं एक नजर….

सबसे पहले ऑफलाइन UPI ​​भुगतान सेट ऐसे करें

  • अपने बैंक अकाउंट से लिंक रजिस्टर्ड फोन नंबर से *99# डायल करें।
  • अपनी इच्छित भाषा चुनें और अपने बैंक का नाम दर्ज करें।
  • इसके बाद आपके नंबर से जुड़े बैंक खातों की एक सूची दिखाई देगी, आप जिस खाते का उपयोग करना चाहते हैं, उस खाते का चयन करें।
  • अब अपने डेबिट कार्ड के अंतिम 6 अंक और एक्सपायरी डेट एंटर करें।
  • एक बार सेटअप स्थापित कर लेने के बाद आप बिना इंटरनेट कनेक्शन के UPI भुगतान कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें:Gmail Offline : बिना इंटरनेट के करें जीमेल एक्सेस और भेजें ईमेल, जानें तरीका

ऑफलाइन UPI ​​पेमेंट ऐसे करें

  • अपने रजिस्टर्ड फोन नंबर पर *99# डायल करें और पैसे भेजने के लिए 1 एंटर करें।
  • अपना वांछित विकल्प चुनें और जिस व्यक्ति को आप पैसे भेजना चाहते हैं उसका यूपीआई आईडी / फोन नंबर / बैंक खाता नंबर दर्ज करें।
  • इसके बाद राशि और अपना UPI पिन दर्ज करें।
  • इसके बस आपका भुगतान सफलतापूर्वक कर दिया जाएगा और *99# सेवा का उपयोग करने के लिए आपसे अधिकतम रु. 0.50 प्रति लेनदेन चार्ज किया जाएगा।

नोट: वर्तमान में, इस सेवा की ऊपरी सीमा रु. 5,000 प्रति लेनदेन है।

ये भी पढ़ें:गलती से किसी और के अकाउंट में हो जाए UPI ट्रांजैक्शन, तो ऐसे करें रिपोर्ट और पाएं रिफंड


कहते हैं महिलाएं तकनीक के उपयोग में पीछे हैं लेकिन अनुपमा इसी सोच को बदलना चाहती हैं और इसलिए इन्होंने तकनीकी पत्रकारिता को चुना है। नई टेक्नोलॉजी के बारे में जानना और आसान शब्दों में उसे बयां करना इन्हें काफी अच्छा लगता है। Curious नेचर और लिखने का शौक इन्हें how to's, tech और auto के बारे में लिखने के लिए प्रोत्साहित करता है। ये HNB Garhwal Central University से साइंस में ग्रेजुएट और मास कम्युनिकेशन एंड जर्नलिज्म में पोस्ट ग्रेजुएट हैं। खाली समय में गार्डनिंग, ट्रेवलिंग और ड्राइविंग करना इनकी हॉबी है।