Phone Hacked : फोन हो जाए हैक तो क्या करें, जानें पूरी डिटेल्स

आज कि रिपोर्ट में हम आपको बातएंगे कि यदि आपका फोन हैक कर लिया गया है, तो उस स्थिति में क्या किया जाना चाहिए।

Phone Hacked

स्मार्टफोन, वर्तमान समय में सभी के लिए सबसे जरूरी गैजेट है, जिसका इस्तेमाल कम्युनिकेशन, ईमेल, मीडिया, इंटरनेट बैंकिंग, शॉपिंग आदि लगभग सभी कामों के लिए किया जाता है। अक्सर हम सभी अपने फोन का उपयोग अपना पर्सनल और ऑफिशियल डाटा स्टोर करने के लिए करते हैं। ऐसे में फोन को किसी भी हैकर और वायरस से सुरक्षित रखना जरूरी है। आपको पता होना चाहिए कि आपका फोन (phone) किसी के द्वारा हैक (Hack) तो नहीं किया गया है या आप उसे हैक होने से कैसे बचा सकते हैं। साथ ही आज कि रिपोर्ट में हम आपको बातएंगे कि यदि आपका फोन हैक कर लिया गया है, तो उस स्थिति में क्या किया जाना चाहिए।

कैसे पता करें कि फोन हैक है या नहीं

  • यदि आपको अचानक थर्ड पार्टी सर्विसेज से पॉप-अप ऐड या फिर अनुपयुक्त ऐप्स मिल रहे हैं, तो संभव है कि आपने एक मैलवेयर/स्पाइवेयर ऐप इंस्टॉल किया है जो इस प्रकार के पॉपअप को आगे बढ़ा रहा है। ऐसे में ध्यान रखें कि आप ऐसे किसी भी कंटेंट पर क्लिक न करें।
  • अगर आपको अपने कॉल लॉग या एसएमएस में वह फोन नंबर दिखाई देने लगे, जिन्हें आपने मिलाया ही नहीं या फिर फिर ऐसे नंबर जिन्हें आप जानते नहीं हैं, तो संभव है कि आपका फोन हैक कर लिया गया है।
  • फोन हैक होने की स्थिति में फोन की परफॉर्मेंस काफी धीमी हो जाती है। साथ ही, अक्सर कुछ ऐसे ऐप्स भी ऑन हो जाते हैं, जिन्हें आपने ऑन नहीं किया हुआ है।
  • फोन हैक होने की स्थिति में कुछ स्पाइवेयर ज्यादा मोबाइल डेटा या वाई-फाई का उपयोग करते हैं। ऐसे में समय-समय पर अधिक उपयोग होने वाले ऐप्स को नियमित रूप से जांचें।
  • आजकल स्मार्टफोन की बैटरी लाइफ अच्छी होती है, लेकिन अगर आप तेजी से बैटरी ड्रेन का अनुभव कर रहे हैं, तो इस बात की जांच कर लें कि कौन-सा ऐप सबसे ज्यादा बैटरी की खपत कर रहा है।
  • यदि आपके फोन की सिस्टम सेटिंग जैसे ब्राइटनेस सेटिंग्स या डेटा सेटिंग्स आदि अपने आप बदलती रहती है तो हो सकता है कि आपका फोन हैक हो गया हो। ऐसे में हैकर आपके फोन को दूर से एक्सेस कर सकता है।
  • अपने फोन में इंस्टॉल ऐप्स को भी समय समय पर चेक करते रहें, क्योंकि कभी-कभी हम अनजान साइट से अनलॉक किए गए ऐप्स भी इंस्टॉल कर सकते हैं। ऐसे में अनुपयुक्त ऐप्स को हटाते रहना चाहिए।
  • अपने सोशल-मीडिया अकाउंट पर होने वाली एक्टिविटीज को भी जांचते रहा करें। अक्सर जब हैकर को फोन पर एक्सेस मिल जाता है, तो वह इसका फायदा उठाने के लिए सोशल मीडिया ऐप्स का सहारा लेते हैं। ऐसे में आपको अपना पासवर्ड तुरंत बदल देना चाहिए।
  • अगर आपको कुछ समय के लिए कोई फोन कॉल या संदेश नहीं मिला है, तो हो सकता है कि हैकर ने आपके सिम कार्ड का क्लोन बनाया है और आपके सिम का इस्तेमाल किया है।

ये भी पढ़ें:Gmail Logout : सभी डिवाइस पर ऐसे करें जीमेल को लॉगआउट, जानें तरीका

अगर फोन हैक हो जाए तो क्या करें?

यदि आपका फोन हैक कर लिया गया है, तो आप सुरक्षित रहने के लिए नीचे दिए गए चरणों या तरीकों का पालन कर सकते हैं।

  • फोन को हैकर के कंट्रोल से हटाने के लिए सबसे अच्छा तरीका है कि उसे फैक्टरी रीसेट कर दें। यह फोन से फोटोज, वीडियोज, फाइल्स आदि सभी डेटा और सभी थर्ड पार्टी ऐप्स और सेवाओं को हटा देता है।
  • अपने फोन में इंस्टॉल किए गए ऐप्स को मैनुअल रूप से चेक करें और देखें कोई ऐसा संदिग्ध ऐप तो नहीं है जिसे आपने इंस्टॉल नहीं किया है। यदि हां तो उसे तुरंत डिलीट कर दें। इसके लिए आप सेटिंग्स> स्टोरेज> ऐप्स पर जाएं और अपने फोन पर इंस्टॉल किए गए सभी ऐप्स को चेक करें और संदिग्ध या अपरिचित ऐप्स को अनइंस्टॉल करें।
  • अपने पासवर्ड को समय समय पर अपडेट करते रहें। यदि आपने अपने फोन की लॉक स्क्रीन या किसी अन्य वेबसाइट / ऐप को अपने दोस्तों या परिवार के साथ शेयर किया है, तो इसे बदलना बेहतर होगा।
  • अपने फोन को अनवांटेड तत्वों से सुरक्षित रखने के लिए में एंटी-मैलवेयर (एंटी-वायरस) एप्लिकेशन का इस्तेमाल अवश्य करें।
  • यदि आपके सोशल मीडिया अकाउंट पर हैकर द्वारा कुछ भी अनुचित कंटेंट पोस्ट लिया गया है, तो टाइमलाइन पर पोस्ट द्वारा इसकी सुचना जरूर दें। इससे सभी को पता चलेगा कि कुछ समय के लिए आपका फोन आपके नियंत्रण में नहीं था।

ये भी पढ़ें:Gmail Offline : बिना इंटरनेट के करें जीमेल एक्सेस और भेजें ईमेल, जानें तरीका

फोन को हैक होने से कैसे बचाएं

यदि आपका फोन हैक कर लिया गया है, तो आप सुरक्षित रहने के लिए नीचे दिए गए चरणों या तरीकों का पालन कर सकते हैं।

  • आपके पास चाहे आईफोन हो या एंड्रॉयड, गेम और ऐप डाउनलोड करने के लिए हमेशा आधिकारिक स्टोर का ही प्रयोग करें। Android के लिए आप Google Play Store का उपयोग कर सकते हैं और iOS के लिए App Store है।
  • अपने फोन और डाटा को किसी भी तरह के नुकसान से बचाने के लिए अपने फोन में पासवर्ड सेट करें और उस पासवर्ड को किसी के भी साथ शेयर न करें।
  • आपको समय-समय पर अपने फोन, सर्विसेज और ऐप्स का पासवर्ड बदलते रहना चाहिए।
  • एक बार जब आप अपने एंड्रॉयड को रूट कर लेते हैं या अपने आईफोन को जेलब्रेक कर देते हैं, तो यह गंभीर सुरक्षा मुद्दों का कारण बनता है और इसके कारण कई बैंकिंग ऐप फोन पर काम नहीं करेंगे। इतना ही नहीं, इस तरह का फोन भी हैक होने का खतरा हो सकता है।
  • अपने फोन में फाइंड माई डिवाइस को इनेबल करें और GPS चालू करें। इसकी मदद से आप अपने हैक हुए या चोरी हुए फोन को ट्रैक कर सकते हैं।
  • 2FA या टू फैक्टर ऑथेंटिकेशन, ऐप्स और सेवाओं में सुरक्षा की एक अतिरिक्त परत जोड़ता है। यदि आप ऐप्स और सेवाओं पर 2FA इनेबल करते हैं, तो यह एक अतिरिक्त सुरक्षा कोड मांगेगा, जो आपको पासवर्ड दर्ज करने के बाद आपके फोन या मेल आईडी पर मिलेगा। यहां तक ​​कि आपके पासवर्ड वाला व्यक्ति भी आपके पासवर्ड से खाते तक नहीं पहुंच सकता, क्योंकि उसके पास सुरक्षा कोड नहीं होगा। 2FA फेसबुक, इंस्टाग्राम, वाट्सऐप, ट्विटर और अन्य जैसे लोकप्रिय ऐप पर उपलब्ध है।
  • अपने फोन में कोई भी सेंसिटिव इंफार्मेशन सेव करने के लिए किसी अच्छे पासवर्ड मैनेजर ऐप का उपयोग करें।
  • अपने फोन को हमेशा लेटेस्ट सुरक्षा अपडेट और सॉफ्टवेयर वर्जन से अपडेटेड रखें।
  • आप अपनी गोपनीय फाइलों और संवेदनशील जानकारी की सुरक्षा के लिए अपने फोन पर एक अच्छे थर्ड पार्टी ऐप या इनबिल्ट ऐप लॉक का उपयोग कर सकते हैं।
  • यदि आप सार्वजनिक वाईफाई का उपयोग कर रहे हैं, तो सुनिश्चित करें कि आप इसे एक अच्छे वीपीएन के साथ उपयोग कर रहे हैं, क्योंकि हैकर्स सार्वजनिक या ओपन वाईफाई नेटवर्क का उपयोग करके आपके फोन से संवेदनशील डेटा प्राप्त कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें:Jio Balance Check : जिओ प्लान की डेटा बैलेंस, वैलिडिटी को ऐसे करें चेक, जानें आसान तरीका


कहते हैं महिलाएं तकनीक के उपयोग में पीछे हैं लेकिन अनुपमा इसी सोच को बदलना चाहती हैं और इसलिए इन्होंने तकनीकी पत्रकारिता को चुना है। नई टेक्नोलॉजी के बारे में जानना और आसान शब्दों में उसे बयां करना इन्हें काफी अच्छा लगता है। Curious नेचर और लिखने का शौक इन्हें how to's, tech और auto के बारे में लिखने के लिए प्रोत्साहित करता है। ये HNB Garhwal Central University से साइंस में ग्रेजुएट और मास कम्युनिकेशन एंड जर्नलिज्म में पोस्ट ग्रेजुएट हैं। खाली समय में गार्डनिंग, ट्रेवलिंग और ड्राइविंग करना इनकी हॉबी है।