WhatsApp के तीन विकल्प जो यूजर्स की प्राइवेसी रखेंगे बरकरार

व्हाट्सएप ने हाल ही में अपनी सर्विस की शर्तों को अपडेट किया है जिसके तहत यूजर्स को फेसबुक के अधिकार वाली सेवाओं के लिए अपनी निजी जानकारी साझा करनी होगी। क्योंकि ये डेटा फेसबुक सर्विसेज के साथ साझा किया जाएगा इसलिए कंपनी इसका इस्तेमाल बेहतर कस्टमाइज्ड सपोर्ट और मार्केटिंग के लिए कर सकती है। लेकिन इससे आपकी गोपनीयता पर खतरा मंडराएगा।

ऐसे में अगर आप अपने डेटा की गोपनीयता बनाए रखना चाहते हैं तो हमें व्हाट्सएप के कुछ और विकल्प ढूंढने होंगे। हालंकि, उन लोगों के लिए जो कई सालों से व्हाट्सएप इस्तेमाल कर रहे हैं, उनके लिए इसका विकल्प ढूंढना काफ़ी दुखदाई होगा लेकिन अपनी प्राइवेसी और डेटा को बचाने के लिए यह कदम जरूरी हो जाता है। तो आइए नजर डालते हैं व्हाट्सएप के ऐसे तीन विकल्पों पर जिनमें वो सारे फीचर्स आपको मिलेंगे जो इस इंस्टेंट चैटिंग ऐप पर मिलते हैं लेकिन इसके लिए आपको अपनी निजी जानकारी किसी के साथ साझा नहीं करनी होगी:

  1. Signal

Signal ऐप इस समय शायद व्हाट्सएप की सबसे बढ़िया विकल्प है। ये सबसे सुरक्षित मैसेजिंग ऐप है जिसे आप मुफ्त में इस्तेमाल कर सकते हैं। यह एप्लिकेशन व्हाट्सएप की तरह ही ऑडियो और वीडियो कॉलिंग की सुविधा प्रदान करती है। Signal यूज करने में बेहद आसान है और इसका हर मैसेज एन्क्रिप्टेड किया गया है और हैकर्स की पहुंच से दूर है। इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप में एक disappearing text feature भी है जहां टाइमर सेट करने के बाद कोई मैसेज अपने आप डिलीट हो सकता है।
यह फीचर आपकी प्राइवेसी और गोपनीयता को सुनिश्चित करता है। लेकिन सिर्फ एक चीज़ इसमें व्हाट्सएप से अलग है, वो है एनिमेटेड इमोजीस। एनिमेटेड एमोजीस हमें व्हाट्सएप में मिलती हैं लेकिन फिलहाल इस ऐप में आपको ये सुविधा नहीं मिलेगी।

  1. Telegram

Telegram इस समय 200 मिलियन से अधिक यूजर्स के साथ व्हाट्सएप का सबसे लोकप्रिय विकल्प है। यह ऐप कई प्लेटफार्मों पर काम कर सकता है और वॉयस कॉल के लिए एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन प्रदान करता है। सिग्नल टेलीग्राम की तरह ही इसमें भी disappearing text feature की सुविधा है। इसके अलावा ये टेलीग्राम स्टिकर, एनिमेटेड emoji, GIF और सभी मल्टीमीडिया फ़ाइल शेयरिंग को सपोर्ट करता है। इसके साथ ही Telegram में ऐसे चैनल भी हैं जहाँ यूजर्स नई रिलीजड मूवीज को भी डाउनलोड कर सकते हैं।

  1. Threema

Threema ऐप भी व्हाट्सएप का एक बेहतरीन विकल्प हो सकती है। यह एक प्राइवेट मैसेजिंग ऐप है जो डिलीवर होते ही संदेशों को ऑटो-डिलीट कर देती है। यह ऐप आपके कॉन्टैक्ट लिस्ट और ग्रुप इंफॉर्मेशन को फोन मेमोरी में स्टोर करता है न कि क्लाउड में। इसमें आप अपने दोस्तों से चैट करने के लिए फ़ोन नंबर के बजाय 8-अंकों की Threema ID का इस्तेमाल करते हैं। आप यूनीक QR कोड का इस्तेमाल करके कॉन्टैक्ट्स को वेरिफाई भी कर सकते हैं। इसके अलावा ये ऐप वॉयस कॉल, फ़ाइल शेयरिंग और ग्रुप चैट के लिए एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन भी प्रदान करता है। आप अपनी चैट को पासवार्ड के ज़रिए सुरक्षित रख सकते हैं अगर आप नहीं चाहते कि दूसरे लोग आपके मैसेज पढें।

तो दोस्तो, इस तरह से आप इन तीन ऐप्स में से किसी एक को व्हाट्सएप के विकल्प के तौर पर चुनकर अपनी प्राइवेसी को बरकरार रख सकते हैं।


सत्यव्रत का मानना है कि टेक्नॉलजी का जितना इस्तेमाल करेंगे, उतना जानेंगे. इसी के चलते उन्होंने टेक जर्नलिस्ट बनने का फैसला लिया. सत्यव्रत ने अपने करियर की शुरुआत दैनिक जागरण से की थी, साल 2015 में वह ज़ी न्यूज़ से जुड़े. वह न केवल टेक को अच्छी तरह से समझते हैं बल्कि यह भी जानते हैं कि कौन सी स्टोरी पाठकों को ज्यादा पसंद आती हैं. अब सत्यव्रत Mysmartprice से जुड़े हैं. और यहां भी उनका मकसद हर रोज बदल रही टेक्नॉलजी की दुनिया की हर बारीकी को आसान शब्दों में पाठकों तक पहुंचाना है.