Samsung के कीपैड वाले फोंस हुए बंद, अब नहीं मिलेंगे सैमसंग फीचर फोन

0
Samsung feature phone
Samsung feature phone

दुनिया की जानी-मानी मोबाइल निर्माता कंपनी Samsung जल्द ही कीपैड फीचर फोंस को अलविदा कहने वाली है। जहां कंपनी ने पूरी दुनिया में अपने स्मार्टफोन डिवाइस के चलते दबदबा बना रखा है। कहीं ना कहीं कंपनी फीचर फोन के क्षेत्र में थोड़ा पीछे रह गई है। दुनिया की बड़ी दिग्गज कंपनी सैमसंग का सामना स्मार्टफोन  की दुनिया में बड़ी-बड़ी ब्रांड जैसे Apple, OnePlus, Xiaomi आदि के साथ होता है।  इन सभी कंपनियों ने सैमसंग को कड़ी टक्कर दी है। वहीं, सैमसंग ने भी सभी का डट कर मुकाबला किया है, लेकिन फीचर फोन के मामले में कंपनी का विचार अलग है। कंपनी अब कीपैड फीचर फोंस का निर्माण बन करने वाली है।

समाचार पत्र इकोनामिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक सैमसंग फीचर फोन बाजार से मुक्त होकर पूरा ध्यान बजट स्मार्टफोंस पर लगाना चाहती है। रिपोर्ट में यह भी सामने आया है कि, कंपनी फीचर फोन के बंद हो जाने के बाद 15,000 रुपये  से कम कीमत में स्मार्टफोंस पेश करती रहेगी। फिलहाल कंपनी की ओर से कोई आधिकारिक ऐलान नहीं हुआ है, लेकिन जब टेक दिग्गज 91Mobiles ने सैमसंग से जानकारी मांगी, तो कंपनी ने इस बात को स्वीकार किया है कि, वे अब फीचर फोन मार्केट को अलविदा कहने वाले हैं। साथ ही आगे आने वाले समय में 15,000 रुपये  से कम कीमत में स्मार्टफोन आते रहेंगे।

यह भी पढ़ें: दमदार बैटरी और प्रोसेसर के साथ लॉन्च हुआ Oppo A57 स्मार्टफोन, कीमत केवल 12,500 रुपये

सैमसंग छोड़ेगा फीचर फोन का बाजार

कंपनी के इस फैसले के पीछे बढ़ती तकनीक, 4जी और 5G सेवाओं को जिम्मेदार माना जा रहा है। मौजूदा समय में जहां नए स्मार्टफोंस दबदबा बना रहे हैं, फीचर फोन से लोग दूर होते जा रहे हैं, इसके चलते कंपनी ने इस तरह के फैसले के बारे में सोचा है।
इकनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक फिलहाल कंपनी फीचर फोन बाजार से पीछे नहीं हट रही है, लेकिन आने वाले कुछ महीनों में सैमसंग पूरी तरह से फीचर फोन बाजार से दूर हो जाएगी।

यह भी पढ़ें: OPPO A57 और OPPO A57s 4G स्मार्टफोन जल्द करेंगे भारत में एंट्री, इनके खास फीचर्स आए सामने

जानकारी के लिए बता दें कि, फीचर फोन मार्केट में अब तक 2022 में 39% की गिरावट देखने को मिली है। इसकी वजह से सप्लाई चैन, इन्वेंटरी और डिमांड के मसले बढ़ते जा रहें हैं।
वहीं, काउंटरप्वाइंट रिसर्च के मुताबिक इस क्षेत्र में सैमसंग एक बड़ा लीडर बन के सामने आया था, लेकिन धीरे-धीरे सैमसंग मार्च तक 12 प्रतिशत के मार्केट शेयर के साथ तीसरे पायदान पर पहुंच गया। इस बढ़ती गिरावट के चलते Lava, Nokia, Itel जैसी फीचर फोन निर्माताओं को फायदा हो सकता है। फिलहाल सैमसंग अपने बजट स्मार्टफोन की मदद से फिर से मोबाइल बाजार में नंबर वन बनने की कोशिश कर रहा है। इसे लेकर कंपनी के एक एग्जीक्यूटिव ने जानकारी देते हुए बताया कि, जून तक हम बढ़ोतरी जरूर करेंगे।

बताते चलें कि, काउंटरप्वाइंट की रिपोर्ट के मुताबिक सैमसंग ने लगातार दो क्वार्टर में भारत में सबसे ज्यादा 5G स्मार्टफोन सेल किए थे। जानकारों के मुताबिक भारत में फोन बनाने के लिए सरकार की पीएलआई योजना ने भी अहम भूमिका निभाई है।  इस योजना के तहत विदेशी कंपनियों को लाभ प्राप्त करने के लिए 15000 रुपये से अधिक में फोन बनाने होते हैं, इसके लिए सैमसंग लोकल स्तर पर Dixon कंपनी के साथ साझेदारी कर चुका है। 

यह भी पढ़ें: iQOO 10 सीरीज करेगी कमाल, दमदार प्रोसेसर और फीचर्स का राज खुला

अब देखना यह है कि, सैमसंग का यह कदम आने वाले समय में क्या रंग लेकर आता है। जिस तरह बढ़ती तकनीक और मौजूदा हालत नज आ रहें हैं, यह कदम सैमसंग के लिए बेहतर साबित हो सकता है। आपका सैमसंग के इस फैसले पर क्या विचार है, हमें कमेंट कर जरूर बताएं।